Saturday , June 22 2024

पुलिस ने सीमा-पार से नशीले पदार्थों की तस्करी वाले नेटवर्क का किया पर्दाफाश, आठ किलो हेरोइन समेत तीन गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपियों से एक .30 बोर के पिस्तौल सहित 26 जीवित कारतूस, स्विफट कार और मोटरसाईकल किया बरामद
गिरफ़्तार व्यक्ति पाकिस्तान आधारित नशा तस्करों के संपर्क में थे- डीजीपी
जांच मुताबिक पाक-आधारित नशा तस्कर ने हेरोइन की खेप फेंकने के लिए ड्रोन का किया था प्रयोग
खबर खास, चंडीगढ़/अमृतसर :
पंजाब पुलिस ने 8 किलो हेरोइन समेत तीन नशा तस्करों को गिरफ्तार करके सीमा-पार नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले नैटवर्क का पर्दाफाश किया है। यह जानकारी आज यहां डायरैक्टर जनरल ऑफ पुलिस ( डीजीपी) पंजाब गौरव यादव ने दी।
गिरफ़्तार किए व्यक्तियों की पहचान अमृतसर के झंजोटी गांव निवासी गुरसाहब सिंह, अमृतसर के भकना कलां निवासी साजन सिंह और कोट खालसा निवासी सतनाम सिंह के तौर पर हुई है। हेरोइन की खेप बरामद करने के इलावा पुलिस टीमों ने इनके कब्ज़े से .30 बोर के एक पिस्तौल सहित .30 बोर के 26 जीवित कारतूस बरामद करने के अलावा उनकी मारुति सविफ़ट कार और सपलैंडर मोटरसाईकल भी ज़ब्त की है।डीजीपी ने बताया कि काउंटर इंटेलिजेंस अमृतसर को ख़ुफिय़ा सूचना मिली थी कि कुछ नशा तस्करों ने गाँव धरर्मकोट पत्तन के नज़दीक भारत-पाक सरहद से ड्रोन द्वारा फेंकी गई हेरोइन की बड़ी खेप प्राप्त की है और यह खेप आगे नशा सप्लायर सतनाम सिंह को अमृतसर में खालसा कालेज के सामने कोट खालसा नज़दीक पहुंचानी है।
उन्होंने बताया कि इस सूचना पर तेज़ी से कार्यवाही करते हुए डीएसपी सियासी अमृतसर बलबीर सिंह का नेतृत्व में पुलिस टीमों ने अड्डा खुसरो टाहली में विशेष नाका लगाया और गुरसाहब और साजन को 7. 5 किलो हेरोइन और 16 जीवित कारतूसों समेत उस समय काबू किया, जब वह अपने मोटरसाईकल पर जा रहे थे।
उन्होंने बताया कि बाद में पुलिस टीमों ने जाल बिछा कर थाना कोट खालसा के इलाके से नशा सप्लायर सतनाम सिंह को ग्फि़तार किया और उसके कब्ज़े में से 500 ग्राम हेरोइन और . 30 बोर के पिस्तौल समेत 10 जीवित कारतूस निर्यात किये और उसकी सविफ़ट कार को ज़ब्त कर लिया।
डीजीपी ने बताया कि प्राथमिक जांच मुताबिक यह मुलजिम पाकिस्तान अधारित नशा तस्कर के सीधे संपर्क में थे और पाकिस्तान से आई हेरोइन को सूबे भर में स्पलाई कर रहे थे।
डीजीपी ने बताया कि जांच से यह भी पता चला है कि पाकिस्तान आधारित नशा तस्करों ने सरहद पार से यह खेप पहुंचाने के लिए ड्रोन का प्रयोग किया था। उन्होंने बताया कि इस पूरे नैटवर्क का पर्दाफाश करने के लिए अगले-पिछले संबंधों का पता लगाने के लिए ओर जांच जारी है।
इस संबंधित एफआईआर नंबर 34 तारीख़ 10- 06- 2024 को थाना स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सैल्ल अमृतसर में एनडीपीएस एक्ट की धारा 21, 25 और 29 और हथियार एक्ट की धारा 25 अधीन मामला दर्ज किया गया है।