Sunday , May 19 2024

पंजाब पुलिस ने 48 घंटों के भीतर सुलझाई बाउंसर हत्याकांड की गुत्थी

लक्की पटियाल गैंग के दो शुटर पुलिस मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार
शूटरों से एक पिस्तौल और असहले समेत अपराध में इस्तेमाल किया गया मोटरसाईकल किया बरामद
पुलिस को देखकर मुलजिमों ने पुलिस पार्टी पर शुरू की फायरिंग: एसएसपी
खबर खास, चंडीगढ़/एसएएस नगर :
पंजाब पुलिस ने आज यहाँ न्यू चंडीगढ़ क्षेत्र में पुलिस मुठभेड़ के उपरांत लक्की पटियाल गैंग के दो शूटरों को गिरफ़्तार करके बाऊंसर हत्या कांड की गुत्थी 48 घंटों के अंदर सुलझा दी है। जानकारी के मुताबिक मंगलवार को मोटरसाईकल सवार दो अनजान व्यक्तियों ने गोलियाँ मारकर पीडि़त मुनीश राणा उर्फ बाऊंसर की हत्या कर दी थी।
डीजीपी पंजाब गौरव यादव ने गिरफ़्तार किये गए शूटरों की पहचान विक्रम राणा उर्फ हैप्पी (23) निवासी गाँव तिऊड़ और किरन सिंह (23) निवासी गुरू रामदास एन्क्लेव खरड़ के रूप में की है। उन्होंने बताया कि पुलिस टीमों ने इनके कब्ज़े से .32 बोर के पिस्तौल समेत छह जिंदा कारतूस और गोलियों के चार खाली खोल बरामद करने के साथ-साथ वारदात में इस्तेमाल किया गया हौंडा शाईन मोटरसाईकल भी ज़ब्त किया है।
इस कार्यवाही संबंधी जानकारी देते हुए सीनीयर सुपरीटेंडैंट ऑफ पुलिस (एस.एस.पी.) एस.ए.एस. नगर डॉ. सन्दीप गर्ग ने बताया कि थाना सदर खरड़ में कत्ल केस दर्ज होने के तुरंत बाद विशेष पुलिस टीमों का गठन किया गया। उन्होंने कहा कि न्यू चंडीगढ़ क्षेत्र में मेडीसिटी के नज़दीक शूटरों की मौजूदगी संबंधी भरोसेमन्द सूत्रों के हवाले से मिली सूचना पर कार्यवाही करते हुए डीएसपी गुरशेर सिंह संधू के नेतृत्व में स्पैशल सैल मोहाली की पुलिस टीमों ने शूटरों का पीछा किया और उनका पता लगाने में सफल रहे।
उन्होंने बताया कि पुलिस पार्टी द्वारा पीछा करने पर मुलजिमों ने पुलिस पार्टी पर गोलियाँ चलानी शुरू कर दीं, जबकि पुलिस टीमों ने भी अपने बचाव में जवाबी गोलीबारी की, जिस दौरान दोनों मुलजिमों को गोलियाँ लगीं। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
इस सम्बन्धी एफआईआर नं. 120 तारीख़ 7/5/2024 को थाना सदर खरड़ में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 और 34 एवं हथियार एक्ट की धारा 25 के अंतर्गत पहले ही मामला दर्ज किया जा चुका है।