Wednesday , April 24 2024

मुख्यमंत्री ने जालंधर वासियों को 283 करोड़ के विकास प्रोजैक्टों का दिया तोहफा

नकोदर में नव-निर्मित मातृ-शिशु अस्पताल का किया उद्घाटन
राज्य में बड़े नेताओं के कारनामों को आने वाले दिनों में किया जाएगा बेनकाब
मोदी को अभद्र भाषणों का उस्ताद बताया
राज्य सरकार औद्योगिक क्षेत्र को सस्ती दरों पर बिजली उपलब्ध करवाने पर कर रही है विचार
माझा और दोआबा के उद्योगपतियों की सुविधा के लिए जालंधर में एक निवेश सुविधा केंद्र बनाया जाएगा
खबर खास, नकोदर (जालंधर) :
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आज कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत करके जालंधर के लोगों को 283 करोड़ रुपये का तोहफा दिया है।
आज यहां 283 करोड़ रुपये की कुछ प्रोजैक्टों की आधारशिला रखने और कुछ परियोजनाओं को लोगों को समर्पित करने के बाद सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल जालंधर से चुने गए लोकसभा सदस्य ने लोगों के कल्याण के लिए अथक प्रयास किया और जिले के विकास के लिए कड़ी मेहनत की है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान खुशियां के आयोजन बंद हो गये थे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य में आप सरकार आने के बाद पंजाब का माहौल बदल गया है, जहां अब आरामदायक माहौल बन गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2022 से प्रदेश में स्वंय को बड़ा नेता कहने वाले नेताओं को जनता ने राजनीतिक तौर पर गुमनामी में भेज दिया है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने अपने कार्यकाल में जनता को जमकर लूटा है, जिसके कारण विधानसभा चुनाव में जनता ने इन्हें सबक सिखाया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि ये अहंकारी नेता अपनी जनविरोधी गतिविधियों के कारण राजनीतिक नक्शे से गायब हो गए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पारंपरिक पार्टियां उनसे ईर्ष्या करती है क्योंकि वह एक साधारण घर में पैदा हुए थे और लोगों के कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए दिन-रात काम कर रहे थे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन नेताओं को हमेशा यह अंधविश्वास रहा है कि उन्हें शासन करने का मौलिक अधिकार है, जिसके कारण वे यह पचा नहीं पा रहे हैं कि एक आम आदमी राज्य का शासन इतने अच्छे से कैसे चला रहा है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने लंबे समय तक लोगों को बेवकूफ बनाया है लेकिन अब लोग इनके झांसे में नहीं आएंगे।मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बड़े गर्व और संतोष की बात है कि सरकार के जनहितैषी निर्णयों के कारण प्रदेश के 90 प्रतिशत उपभोक्ताओं का बिजली बिल जीरों आ रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा पंजाब में 664 आम आदमी क्लीनिक स्थापित किए गए है और 150 अन्य क्लीनिक जल्द ही राज्य के लोगों को समर्पित किए जाएंगे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अब तक लगभग एक करोड़ लोग इन क्लीनिकों से मुफ्त स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठा चुके है और यह स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में एक नई क्रांति है और इस क्षेत्र में सुधार के प्रयास जारी है।मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दो-तीन दिनों में वे राज्य के उन बड़े नेताओं को बेनकाब करेंगे, जिन्होंने अपनी निजी इच्छाओं की पूर्ति के लिए सरकारी खजाने को बर्बाद किया है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने पंजाब की संपत्ति को बेरहमी से लूटा जिसके लिए उन्हें उचित सजा दी जाएगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि आने वाले दिनों में इन नेताओं का असली किरदार आम जनता के सामने उजागर हो जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने किसी जमात से रहित लोकतंत्र की कल्पना की थी जहां निर्वाचित प्रतिनिधि लोगों के कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए उनके वास्तविक सेवक के रूप में कार्य करेंगे। उन्होंने अफसोस व्यक्त किया कि पिछले 75 वर्षों में ये निर्वाचित प्रतिनिधि सरकारी खजाने से बडा वेतन और पेंशन लेकर ‘राजनीतिक चौधरी’ बन गए हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन नेताओं को दी गई इस सुविधा का पूरा बोझ करदाताओं पर है क्योंकि इन नेताओं का पैसा जन कल्याण में लगाने की बजाय इन नेताओं को कई पेंशन देने में बर्बाद किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी बजट में राज्य की जनता पर कोई नया बोझ नहीं डाला जाएगा और जनहितैषी बजट राज्य में चल रहे विकास को गति देगा। उन्होंने कहा कि इस कदम का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि लोगों को इसका पूरा लाभ मिले और आम आदमी के कल्याण के लिए कोई कमी बाकी न रहे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि समाज के हर वर्ग को लाभ पहुंचाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं और आने वाले समय में इसका लाभ मिलेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार राज्य के विकास और लोगों की समृद्धि के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह जैसे नेताओं ने अपने सरकारी पदों का दुरुपयोग करते हुए धन इकठ्ठा कर बड़े-बड़े महल बनाए और इन महलों की दीवारें ऊंची कर दी और आम तौर पर जनता के लिए दरवाजे बंद कर दिए गए। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह नेता कभी भी आम लोगों से नहीं मिले, इसलिए लोगों ने इन्हें महलों में बिठा रखा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने राज्य के युवाओं को लक्ष्यहीन बना दिया था, लेकिन अब राज्य सरकार ने युवाओं को 40 हजार से ज्यादा नौकरियां दी है। उन्होंने कहा कि हर नौकरी निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से दी जा रही है और केवल योग्य युवाओं को ही नौकरी मिल रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इस कदम का उद्देश्य युवाओं को राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में बराबर का भागीदार बनाना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली केंद्र और राज्य सरकार ने मिलकर जनता को लूटने की राजनीति की। उन्होंने कहा कि इन सरकारों ने आम लोगों को अंग्रेजों से भी ज्यादा लूटा लेकिन इन भोली-भाली जनता के पास उन्हें बार-बार चुनने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अब देश में ‘आप’ के रूप में लोगों को बदलाव मिला है और लोग ‘आप’ को चुनकर बीजेपी और कांग्रेस को नकार रहे है।मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘एक देश, एक चुनाव’ के एजेंडे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मोदी ‘एक देश, एक शिक्षा’ के एजेंडे पर क्यों नहीं चल रहे है। उन्होंने कहा कि कान्वेंट स्कूलों और सरकारी स्कूलों में दी जाने वाली शिक्षा में बहुत अंतर है लेकिन दुर्भाग्य से किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। भगवंत सिंह मान ने कहा कि लोगों को गुमराह करने में माहिर मोदी ने ‘अच्छे दिन आएंगे’ और ऐसे ही अन्य नारे लगाकर लोगों को सिर्फ बेवकूफ बनाया है।
मुख्यमंत्री ने कल्याण और विकास के एजेंडे को राष्ट्रीय स्तर पर लाने के लिए आप को मजबूत करने के लिए लोगों से पूर्ण सहयोग मांगा। उन्होंने कहा कि आम लोगों को भारतीय राजनीति के केंद्र में लाने का श्रेय अरविंद केजरीवाल को जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री केजरीवाल ने फूट डालने वाली राजनीति को नकारते हुए मूल्यों पर आधारित राजनीति लाकर राजनीतिक क्षेत्र में बड़ा बदलाव लाया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर आप की मजबूती सुनिश्चित करने के लिए पंजाब के लोगों को आगामी चुनावों में आप का समर्थन करना चाहिए ताकि वे पंजाब के मुद्दों को मजबूती से उठा सकें।
मुख्यमंत्री ने शिरोमणि अकाली दल की ‘पंजाब बचाओ यात्रा’ पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अकाली दल की इस चाल का असली नाम ‘परिवार बचाओ यात्रा’ है। उन्होंने अकाली नेताओं को चुनौती दी कि वे बताएं कि 15 साल तक राज्य को लूटने के बाद अब वे राज्य को किससे बचाने की कोशिश कर रहे है। उन्होंने कहा कि अकालियों ने राज्य को बुरी तरह से लूटा है और पंजाबियों के मानसिकता को भावनात्मक तौर पर ठेस पहुंचाई है और यहां तक कि राज्य में माफिया को भी पनाह दी है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि लोग अकालियों और बादल परिवार के दोहरे किरदार से भली-भांति परिचित हैं, जिसके चलते अब उनकी आड़ नहीं ली जा सकेगी।मुख्यमंत्री ने यह भी घोषणा की कि माझा और दोआबा क्षेत्र के उद्योगपतियों और व्यापारियों की सुविधा के लिए जल्द ही जालंधर में एक ‘निवेश सुविधा केंद्र’ (इनवैस्टमैंट फैसीलीटेशन सैंटर) खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे यह सुनिश्चित होगा कि व्यापारियों और उद्योगपतियों को अपने छोटे-छोटे कार्यों के लिए चंडीगढ़ नहीं जाना पड़ेगा। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब सरकार के हर फैसले का उदेश्य समाज के हर वर्ग का कल्याण सुनिश्चित करना है।
इससे पहले मुख्यमंत्री ने नकोदर में नवनिर्मित मातृ एवं शिशु अस्पताल का भी उद्घाटन किया और कहा कि आने वाले दिनों में ऐसे और अस्पताल लोगों को समर्पित किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि 30 बिस्तरों वाला यह नया मातृ-शिशु विंग करीब छह करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है, जिससे लोगों को बढिया स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी और महिलाओं के स्वास्थ्य देखभाल के लिए इस अस्पताल में विशेषज्ञ डाक्टर तैनात रहेंगे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अस्पताल उचित प्रसवपूर्व जांच करेगा और विशेषज्ञ डाक्टर और कर्मचारी एक ही छत के नीचे सिजेरियन डिलीवरी, कम वजन वाले और समय से पहले जन्मे बच्चों के लिए एक छत के नीचे एन.आई.सी.यू.की सुविधा दी जाएगी।

The post मुख्यमंत्री ने जालंधर वासियों को 283 करोड़ के विकास प्रोजैक्टों का दिया तोहफा first appeared on Khabar Khaas.