Thursday , February 22 2024

लीची उत्पादकों की समस्याएँ जल्दी करेंगे हल: जौड़ामाजरा |

राज्य में बाग़बानी को प्रोत्साहित करने के लिए सम्बन्धित विभागों के साथ बैठक

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब में बाग़बानी को बढ़ावा देने और किसानों की आमदन में वृद्धि करने के बागबानी मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने आज, बुधवार को गुरदासपुर और पठानकोट के लीची किसानों की मुश्किलों के समाधान के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को तुरंत हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए।

यहाँ पंजाब भवन में बैठक की अध्यक्षता करते हुए कैबिनेट मंत्री जौड़ामाजरा ने किसानों द्वारा लीची के बागों के लिए अप्रैल और मई के पीक सीजन के दौरान रात के समय निरंतर 10 घंटे बिजली सप्लाई देने की माँग सम्बन्धी पीएसपीसीएल के चीफ़ इंजीनियर सतिंदर शर्मा ने हिदायत दी है कि वह किसानों की माँग को प्राथमिक आधार पर पूरी करें। कैबिनेट मंत्री ने जल संसाधन विभाग के सचिव चन्दर गेंद से नहरों और माईनरों आदि की मरम्मत का काम समय पर पूरा करने को सुनिश्चित बनाने को कहा है ताकि गर्मियों के मौसम में लीची बाग़बानों को बिना रूके नहरी पानी की आपूर्ति हो सके। उन्होंने कहा कि मार्च और अप्रैल के दौरान नहरी विभाग द्वारा नहरों की मरम्मत का काम शुरू करने से बाग़ों को नहरी पानी की सप्लाई नहीं मिलती और फल की उपज प्रभावित होती है।

जौड़ामाजरा ने पंजाब एग्रो के जनरल मैनेजर रणबीर सिंह को हिदायत की कि वह लीची के निर्यात की संभावनाएँ तलाशें ताकि राज्य के साथ-साथ देश-विदेश में लीची के मंडीकरण को सुनिश्चित बनाया जा सके और बाग़बान अधिक लाभ कमा सकें। इसी तरह उन्होंने बैठक में मौजूद पंजाब कृषि यूनिवर्सिटी लुधियाना के वैज्ञानिकों को लीची की नई किस्में लाने और निर्यात आधारित पैकेजिंग को डिज़ाइन करने और उपलब्ध करवाने के लिए कहा।
बागों में सोलर सिस्टम लगाने की माँग सम्बन्धी कैबिनेट मंत्री ने पेडा के ज्वाइंट डायरैक्टर राजेश बांसल को हिदायत की कि वह बागों के लिए सोलर पम्प मुहैया करवाने के लिए कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि बाग़बानी विभाग की सिफ़ारिश पर बाग़बानों के लिए 500 से 1000 सोलर पम्पों की संख्या निर्धारित की जाए।

कैबिनेट मंत्री ने बाग़बानी विभाग कीं डायरैक्टर शैलेंदर कौर को कहा कि वह सुनिश्चित बनाएं कि लीची एस्टेट में विशेष आऊटलैट के ज़रिए किसानों को सिफारिश की गईं अलग-अलग कीटनाशक/उल्लीनाशक दवाएँ मुहैया करवाई जाएँ। मंत्री ने कहा कि वह लीची एस्टेट को अतिरिक्त फंड मुहैया करवाने के लिए आने वाले दिनों में वित्त मंत्री के साथ बैठक करेंगे। उन्होंने डायरैक्टर बाग़बानी को लीची उत्पादकों के लिए बीमा योजना तैयार करने के लिए नज़दीकी भविष्य में बीमा कंपनियों के साथ बैठक कराने को भी कहा।

जौड़ामाजरा ने वन विभाग के अधिकारियों को लीची के बाग़ों के आस-पास कँटीली तार लगाने की योजना तैयार करने के लिए कहा। बागबानी मंत्री ने किसानों को कलस्टर बनाने और साझे तौर पर काम करने के लिए प्रेरित करते हुए कहा इस तरह करने से उनको उपज के लागत खर्चे घटाने में मदद मिलेगी।