Saturday , June 15 2024

World Environment Day 2024: क्या है विश्व पर्यावरण दिवस का इतिहास, 5 जून को मनाने की ये है असल वजह, पढ़िए…

खबर खास, चंडीगढ़:

आज पूरा विश्व पर्यावरण दिवस मना रहा है। संपूर्ण प्राकृतिक को संभालना, इसे अपना मानना और पेड़ पौधों के साथ-साथ पानी सरंक्षण करने के संदेश देने के लिए इस दिन का खास महत्व है। यही नहीं हमारे चारों ओर के सभी जीवित और निर्जीव तत्व भी सांस ले रहे हैं। हवा, पानी, मिट्टी, पेड़-पौधे, जानवर और अन्य जीव-जंतु भी उतने ही इस धरती के लिए जरूरी हैं, जितना कि इंसान। सभी मिलजुल कर इस धरती को हरा भरा रखने के लिए अपना योगदान डाल रहे हैं।

प्रदूषित होने की सीमाएं लांघ रहे हम..

ये बहुत ही दुखद है कि हम दिन-ब-दिन धरती, हवा, पानी के दूषित होने की सभी सीमाएं लांघ रहे हैं। प्राकृतिक संसाधनों के दोहन और मानव जीवनशैली के लिए इनके गलत उपयोग से पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है। ऐसे में पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करने, प्रकृति और पर्यावरण का महत्व समझाने के उद्देश्य से हर साल बेशक विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। लेकिन सबसे ज्यादा जिम्मेदारी इंसान की है कि इस दिन को सही मायने में समझे और पर्यावरण को संभालने के लिए कदम उठाए।

ये है इस दिन का इतिहास…

पर्यावरण दिवस मनाने की नींव 1972 में पड़ी, जब संयुक्त राष्ट्र संघ ने पहला पर्यावरण दिवस मनाया है और हर साल इस दिन को मनाने का एलान किया।

5 जून को ही क्यों मनाते हैं पर्यावरण दिवस
पहला पर्यावरण सम्मेलन 5 जून 1972 को मनाया गया था, जिसमें 119 देशों ने हिस्भासा लिया था। जानकारी के अनुसार स्वीडन की राजधानी स्टाॅकहोम में यह सम्मेलन हुआ। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने मानव पर्यावरण पर स्टाॅकहोम सम्मेलन के पहले दिन को चिन्हित करते हुए 5 जून को पर्यावरण दिवस के तौर पर नामित कर लिया।

पर्यावरण दिवस का महत्व

भारत समेत पूरे विश्व में प्रदूषण तेजी से फैल रहा है।
बढ़ते प्रदूषण के कारण प्रकृति खतरे में हैं।
प्रकृति जीवन जीने के लिए किसी भी जीव को हर जरूरी चीज उपलब्ध कराती है।
ऐसे में अगर प्रकृति प्रभावित होगी तो जीवन प्रभावित होगा।
प्रकृति को प्रदूषण से बचाने के उद्देश्य से पर्यावरण दिवस मनाने की शुरुआत हुई।
इस दिन लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया जाता है और प्रकृति को प्रदूषित होने से बचाने के लिए प्रेरित किया जाता है।

2024 में पर्यावरण दिवस का थीम
प्रतिवर्ष विश्व पर्यावरण दिवस की एक खास थीम होती है। पिछले साल यानी विश्व पर्यावरण दिवस 2023 की थीम “Solutions to Plastic Pollution” थी। यह थीम प्लास्टिक प्रदूषण के समाधान पर आधारित है। इस साल विश्व पर्यावरण दिवस 2024 की थीम “Land Restoration, Desertification And Drought Resilience” है। इस थीम का फोकस ‘हमारी भूमि’ नारे के तहत भूमि बहाली, मरुस्थलीकरण और सूखे पर केंद्रित है।