Tuesday , June 18 2024

‘जा रही है मोदी सरकार’, खटकर कलां में राहुल की ललकार

मोदी सरकार पर जमकर बरसे राहुल
प्रचार के आखिरी दिन नवांशहर पहुंचे राहुल गांधी ने किया संविधान बचाओ रैली को संबोधित
खबर खास, खटकर कलां (नवांशहर) :
लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण यानि सातवें चरण के चुनाव एक जून को होने जा रहे हैं। पंजाब में आखिरी चरण में होने वाले इन चुनावों के लिए कांग्रेस के स्टार प्रचारक राहुल गांधी ने आज नवांशहर के खटकर कला में संविधान बचाओ रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि मोदी सरकार जा रही है।
अपने संबोधन के शुरूआत में राहुल ने कहा कि आजादी के बाद अब तक के चुनाव में ऐसा पहली बार है कि संविधान पर आक्रमण हो रहा है। नरेंद्र मोदी, अमित शाह और भाजपा नेताओं ने साफ कह दिया है कि वह अंबेडकर जी, गांधी जी के संविधान को रद्द कर देंगे। उन्होंने कहा मेरा संविधान की रक्षा करना मिशन है। उन्होंने शहीदे-आजम भगत सिंह का नाम लेकर कहा कि उनके बारे में कहा जाता है कि वह देश के लिए शहीद हुए पर यह नहीं कहा जाता कि वह एक बहुत गहरे पॉलीटिकल थिंकर थे। उन्होंने कहा कि देश के आदिवासी, पिछड़ों, दलितों को जो मिला है संविधान की बदौलत मिला है लेकिन भाजपा के लोग खुलकर इसपर आक्रमण कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मोदी ने 3 कानून लाकर किसानों को मजदूर बनाने की कोशिश की। अब अग्निवीर योजना लाकर इन्होंने जवानों को मजदूर बना दिया है। 3 साल तक काम करवाएंगे फिर जूता मार भगा देंगे। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को रोक दिया है। जो छोटे बिजनेस वाले हैं, जो हाथ से काम करते हैं, उन्हें खत्म कर दिया है।
वहीं, रैली के बीच राहुल गांधी से महिला ने कहा कि नशा बंद करवा दो। इस पर राहुल ने कहा कि पंजाब से नशा खत्म कांग्रेस ही कर सकती हे, ये लोग नहीं कर सकते। हम बड़ी तेजी से नशा खत्म कर देंगे। महिला ने पूछा- आपने मनरेगा का वेतन बढ़ाने की बात कही, अच्छी बात है। अब नशा बंद करवा दें। इस पर राहुल ने कहा- उन्हें थोड़ी थोड़ी पंजाबी समझ में आती है। मैं कहना चाहता हूं कि नरेंद्र मोदी जी ने 22 लोगों के लिए सरकार चलाई, उन्हें अरबपति बनाने का काम किया। मजदूरों को मनरेगा में 200 रुपए मिलते हैं, सरकार बनने के बाद ये रोजगार 400 रुपए कर दिया जाएगा।
आशा व आंगनवाड़ी में जो काम करती हैं, उनकी आमदनी बहुत कम है, उसे भी दुगना कर देंगे। सरकारी कार्यालयों व पब्लिक सेक्टर में नया फैशन बना है। मजदूरी कॉन्ट्रेक्ट बेसिस पर की जाती है। हम इसे बंद करना चाहते हैं। हम सरकारी व प्राइवेट सेक्टर में ये प्रथा बंद करने जा रहे हैं। ऑफिसिस में जो पहले होता था, परमानेंट नौकरी हम दिलाने का काम करेंगे।

पंजाब से कांग्रेस ही कर सकती है नशा खत्म

जो ड्रग्स की बात आपने कही है, ये मैंने पहले भी पंजाब में आकर कही थी, लेकिन सभी ने मेरा मजाक बनाया था। पंजाब से नशा खत्म कांग्रेस ही कर सकती हे, ये लोग नहीं कर सकते। जब कांग्रेस की सरकार आएगी, जो आने वाली है, हम बड़ी तेजी से नशा खत्म कर देंगे।
वहां मौजूद एक शख्स ज्ञान चंद ने कहा- वह लकड़ी का काम करता था। आज हालात हैं कि खाना भी नहीं मिलता। रोजगार नहीं है। महंगाई बढ़ती जा रही है। सिलेंडर एक हजार रुपए हो गया, अब 100 रुपए कम कर दिया। अब 1500 रुपए कर देंगे। इस पर राहुल गांधी ने कहा- ये आपने सही कहा, नरेंद्र मोदी की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को रोक दिया है। जो छोटे बिजनेस वाले हैं, जो हाथ से काम करते हैं, उन्हें खत्म कर दिया है। ये 2-3 तरीकों से किया। उन्होंने सबसे पहले पूरा सपोर्ट अडाणी जैसों को दिया है। अब ये पैसा अडाणी जैसों को देते हैं तो वे पैसा लंदन, जापान दुबई जाकर खर्च करते हैं। इससे भारत का कोई फायदा नहीं होता।
नरेंद्र मोदी जी ने छोटे व्यापारियों को खत्म करने के लिए नोटबंदी की और गलत जीएसटी लगा दी। मीडिया कहता है कि नोटबंदी व जीएसटी से देश को फायदा हुआ। पूरा देश जानता है जीएसटी और नोटबंदी ने देश का नुकसान किया और छोटे बिजनेस को खत्म किया। रोजगार छोटे बिजनेस देते हैं, ये अडाणी नहीं देते। मैं बताता हूं हमारा प्लान क्या है। सबसे पहले किसानों को एमएसपी देने जा रहे हैं। उनका कर्जा माफ करने जा रहे हैं। किसानों की जेब में इंडिया गठबंधन पैसा डालेगी।
राहुल गांधी ने कहा कि रिजर्वेशन की बात कही जा रही है। देखिए हिंदुस्तान में 50 प्रतिशत पिछड़े वर्ग के लोग हैं, 15 प्रतिशत दलित, 8 प्रतिशत आदिवासी, 15 प्रतिशत अल्पसंख्यक, 5 प्रतिशत गरीब जनरल कास्ट। बीजेपी के लोगों ने साफ कहा कि वह रिजर्वेशन खत्म कर देंगे। आरएसएस के चीफ ने भी साफ कहा है कि रिजर्वेशन से देश को नुकसान होता है । लेकिन हमारे मेनिफेस्टो में साफ लिखा है कि आज जो 50 प्रतिशत की लिमिट है, उसे हटा देंगे और उसे बढ़ा देंगे। हम सर्वे करवाएंगे, जो सच्चाई है, कितनी भागीदारी किसके पास है, वे हम जनता के सामने रख देंगे।
मोदी ने 3 कानून लाकर किसानों को मजदूर बनाने की कोशिश की। अब इन्होंने जवानों को मजदूर बना दिया है। आप आओ तीन साल काम करो, फिर जूता मार भगा देंगे। दो तरीकों के जवान होंगे, जो अमीर घर का बेटा है, उसे पेंशन मिलेगी, उसे कैंटीन मिलेगी, अगर अमीर का बेटा शहीद होता है तो उसे कंपनसेशन मिलेगा। उसे फुल ट्रेनिंग दी जाएगी। गरीब घर के बेटे को कहते हैं आपको 6 महीने की ट्रेनिंग देंगे। उसके बाद चाइना के आगे खड़ा कर देंगे। अगर शहीद हो गए तो आपको ना शहीद का दर्जा देंगे, ना कंपनसेशन देंगे और ना ही आपकी फैमिली की रक्षा करेंगे। ये सेना का देश का और देश भक्तों का अपमान है। जैसे ही हमारी सरकार आएगी अग्निवीर योजना को फाड़ कर फेंक देंगे।
राहुल गांधी ने कहा कि ये पोर्ट, एयरपोर्ट, इंडस्ट्री सभी अडानी को दे देंगे। मोदी ने डिफेंस के सारे कॉन्ट्रैक्ट अडानी को पकड़ा दिए हैं। आप वेबसाइट पर जाइए, देखिए पहले हिंदुस्तान की राइफल इंडियन ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बनाती थी, कारतूस इंडियन ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बनाती थी, हवाई जहाज एचएएल बनाती थी। अब वेबसाइट पर जाएं तो आप देखना कि अडानी सारी राइफल बनाएगा, सारे कारतूस बनाएगा, सारे डिफेंस औजार बनाएगा। सारे ड्रोन, हवाई जहाज अडानी बनाएगा।
राहुल गांधी ने कहा कि ये हमारा आइडिया है कि जो नरेंद्र मोदी ने आपकी जेब से पैसा निकाला है वह आपकी जेब में कांग्रेस डालना चाहती है। राहुल ने कहा कि ये मत सोचिए हम सिर्फ पैसा डालना चाहते हैं। जैसे अडानी को पैसा दिया और उन्होंने उसे विदेश में खर्च कर दिया, हम आपकी जेब में पैसा डालना चाहते हैं, क्योंकि जानते हैं ये पैसा देश में खर्च होगा। कोई कपड़े खरीदगा, कोई मशीन कोई मोटरसाइकिल खरीदेगा। जैसे आप खरीदना शुरू करोगे, डिमांड बढ़ेगी। फैक्ट्रियां प्रोडक्शन शुरू करे देंगी। इससे देश की आर्थिक अर्थ व्यवस्था फिर से चलने लगेगी।

केंद्र की सरकार में आते ही कांग्रेस का पहला काम 30 लाख सरकारी नौकरियां देना होगा
राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की केंद्र में सरकार आते ही पहला काम 30 लाख सरकारी नौकरियां देने का होगा। दूसरा काम एक साल बाद पब्लिक प्राइवेट सेक्टर्स में नौकरियां दी जाएंगी। ये नौकरी का अधिकार होगा। कोई भी युवा एक साल के लिए ये अधिकार मांग सकेगा। इस काम के बदले सरकार युवाओं को 8500 रुपए महीना देगी।
उन्होंने कहा कि मीडिया कहेगा, कांग्रेस गरीबों की आदत बिगाड़ रही है। ये पैसा जब अमीरों की जेब में जाता है तो उसे ये विकास कहते हैं, लेकिन जब यही पैसा गरीबों की जेब में जाता है तो कहते हैं आदत बिगाड़ रहे हैं।