Saturday , June 15 2024

अरविंद केजरीवाल और भगवंत मान ने अमृतसर में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ की मीटिंग

केजरीवाल ने कहा – मैं यहां पंजाब के लोगों और अपने कार्यकर्ताओं से मिलने आया हूं, जेल में मुझे आप लोगों की बहुत याद आती थी

बीजेपी को लगता है कि मुझे गिरफ्तार करके वह आम आदमी पार्टी को खत्म कर देंगे, लेकिन मेरी गिरफ्तारी से पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा, यहां हर एक कार्यकर्ता केजरीवाल है – केजरीवाल

सुप्रीम कोर्ट ने मुझे लोकसभा चुनावों में प्रचार करने के लिए जमानत दी है। जिसका मैं एक-एक क्षण अपने देश के लिए लगा रहा हूं- केजरीवाल

जेल अधिकारियों ने जानबूझकर मुझे और भगवंत मान को कमरे में नहीं मिलने दिया, जबकि जेल मैन्युअल के अनुसार वे हम दोनों को मुख्यमंत्री के नाते सिंगल कमरे में मीटिंग करवा सकते थे – केजरीवाल

जेल में मेरी बैरक के बाहर दो सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे, जेल में 13 अफसर मेरे ऊपर चौबीसों घंटे नजर रखते थे, उसका एक फूटेज पीएमओ भी जाता था – केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल थकने-हारने वाले नेता नहीं, बीजेपी इनको जेल में डालकर डरा नहीं सकती – भगवंत मान

भगवंत मान ने आप कार्यकर्ताओं की तारीफ की, कहा – आपकी मेहनत की बदौलत अभी चुनाव प्रचार में देशभर में नंबर -1 पर है आम आदमी पार्टी

रिपोर्ट के अनुसार चारों चरण में भाजपा हार रही है, 400 पार नहीं, इस बार इनका बेड़ा पार होना मुश्किल है – मान

खबर खास, अमृतसर / चंडीगढ़:
आम आदमी पार्टी(आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अमृतसर में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग की। मीटिंग में केजरीवाल और भगवंत मान ने कड़ी मेहनत के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं की सराहना की और आगे की चुनावी रणनीतियों पर चर्चा की। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस बार पंजाब आने का मेरा कोई खास एजेंडा नहीं था। मैं इस बार यहां पंजाब के लोगों और अपने कार्यकर्ताओं से मिलने आया हूं। जेल में मुझे आप लोगों की बहुत याद आती थी। भगवंत मान से जब भी जेल में मेरी मुलाकात होती थी मैं आपके बारे में पूछता था।
भाजपा की आलोचना करते हुए केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी को लगता था कि मुझे गिरफ्तार करके वह आम आदमी पार्टी को खत्म कर देंगे। लेकिन मेरी गिरफ्तारी से पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला क्योंकि आम आदमी पार्टी एक परिवार है और परिवार में जब मुसीबत आती है तो सब और इकट्ठे हो जाते हैं अलग-अलग बिखरते नहीं है। आपने भी वैसा ही किया सब लोग भी इकट्ठे हो गए। इससे उनको मैसेज चला गया कि एक केजरीवाल को गिरफ्तार करने से काम नहीं चलेगा। आम आदमी पार्टी का हर कार्यकर्ता केजरीवाल है। यहां हर कार्यकर्ता खड़ा होकर कमान संभालेगा और किसी भी हालत में पंजाब को और देश झुकने नहीं देगा। केजरीवाल ने कहा कि जेल अधिकारियों ने जानबूझकर मुझे और भगवंत मान को कमरे में नहीं मिलने दिया, जबकि जेल मैन्युअल के अनुसार वे हम दोनों को मुख्यमंत्री के नाते सिंगल कमरे में मीटिंग करा सकते थे। यह सब जेल मैन्युअल में लिखा हुआ है, यह प्रोविजन है। यहां से पंजाब पुलिस और मुख्यमंत्री कार्यालय लिखकर भेजता था कि पंजाब के सीएम दिल्ली के सीएम से मिलने के लिए आ रहे हैं, लेकिन इन्होंने मेरी उनके साथ कमरे में मीटिंग नहीं करवाई। जेल की जाली के एक तरफ मैं और दूसरी तरफ भगवंत मान खड़े होकर बात करते थे। इनको लगता था कि ऐसा कर वह केजरीवाल की बेइज्जती कर रहे हैं, लेकिन इन छोटी छोटी चीजों से केजरीवाल की बेइज्जती नहीं होती। जब तक भारत माता का सिर ऊंचा है तब तक केजरीवाल का सिर ऊंचा है।
उन्होंने कहा कि जेल में मेरी बैरक के बाहर मेरी निगरानी के लिए दो सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे। जेल के 13 अफसर मेरे ऊपर चौबीसों घंटे नजर रखते थे, उसका एक फूटेज पीएमओ भी जाता था। ये लोग मेरी हरेक गतिविधि पर नजर रखते थे, लेकिन उनको कुछ हासिल नहीं हुआ क्योंकि हम सच के आधार पर जीते हैं। मेरे पास छुपाने के लिए कुछ भी नहीं है। जेल में भी मैं अपना काम करता था और किताबें पढ़ता था।
उन्होंने कहा कि भाजपा वालों ने जेल में मुझे तोड़ने की बहुत कोशिश की। मुझे 20 साल से शुगर की बीमारी है। पिछले दस सालों से मैं रोज 52 यूनिट इंसुलिन लेता हूं यह जानते हुए इन्होंने मेरी जेल में इंसुलिन बंद कर दी। जिसके कारण मेरा सुगर लेवल काफी बढ़ गया। उन्होंने कहा कि अगर ज्यादा दिनों तक किसी व्यक्ति का शुगर लेवल बढ़ा रहता है तो उसका लीवर और किडनी भी खराब हो सकता है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने मेरे उपर कृपा करते हुए मुझे 21 दिनों के लिए जमानत दी। अब मैं इन 21 दिनों में एक एक पल देश से इस तानाशाही सरकार को खत्म करने के लिए काम करुंगा।
केजरीवाल ने आप कार्यकर्ताओं से अपील की कि अभी चुनाव प्रचार के लिए 10-12 दिन बचे हैं। इन 10-12 दिनों में इतनी मेहनत करें कि पार्टी पंजाब की सभी 13 सीटें जीत जाए। चुनाव के नतीजे वाले दिन 4 जून को मैं जेल में रहूंगा लेकिन मैं टीवी पर चुनाव नतीजे को देखूंगा। मुझे पूरा भरोसा है कि आप लोग मुझे निराश नहीं करोगे।

अरविंद केजरीवाल थकने-हारने वाले नेता नहीं, बीजेपी इनको जेल में डालकर डरा नहीं सकती – भगवंत मान
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि मैं आप सभी का धन्यवाद करता हूं क्योंकि आप सभी ने संकट की इस घड़ी में हमारा बहुत साथ दिया। जिस तरह की एकता और आपसी भाईचारा आपने दिखाई है उसके लिए मैं आपको सलाम करता हूं। मान ने कहा कि अगला 12-13 दिन बहुत महत्वपूर्ण है। इन 12-13 दिनों में हमें मेहनत कर देश के संविधान और लोकतंत्र को बचाने में अपना योगदान देना है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि यह 12-13 दिन पंजाब के लिए लगा दो, चाहे घर वालों को बोलकर इसके लिए 12-13 दिन के लिए छुट्टी दे दो। उन्होंने कहा कि जब देश का इतिहास लिखा जाएगा तो यह भी लिखा जाएगा कि जब देश को बचाने की लड़ाई चल रही थी तो सबसे ज्यादा योगदान पंजाब और आम आदमी पार्टी ने दिया था।
उन्होंने कहा कि जब मैं अरविंद केजरीवाल से जेल में मिलने जाता था तो वह अपनी सेहत से पहले मुझसे पंजाब और दिल्ली के बारे में पूछा करते थे। मान ने कहा कि भगवान की कृपा से सुप्रीम कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को 21 दिन के लिए जमानत दी है। यह 21 दिन तानाशाहों के लिए बहुत खतरनाक साबित होगा क्योंकि अरविंद केजरीवाल थकने और हारने वाले लोगों में से नहीं है। भाजपा इन्हें जेल में डालकर डरा नहीं सकती। अरविंद केजरीवाल जैसी सोच भगवान बहुत कम लोगों को देता है। हम बहुत किस्मत वाले हैं कि अरविंद केजरीवाल हमारी पार्टी के प्रधान है। अरविंद केजरीवाल संकट से डरने वाले नहीं है। जब भी उन पर कोई संकट आया, वह और मजबूत होकर बाहर निकले।
मान ने आप कार्यकर्ताओं की तारीफ की और कहा आपकी मेहनत की बदौलत अभी चुनाव प्रचार में देशभर में आम आदमी पार्टी नंबर -1 पर है। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के अनुसार चारों चरण में भाजपा हार रही है। उन्हें 400 पार नहीं, इस बार इनका बेड़ा पार होना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि यह बात बिल्कुल साफ हो गई है कि केंद्र में भाजपा की सरकार नहीं बन रही है। इस बार इंडिया गठबंधन की सरकार बनेगी और उसमें सबसे बड़ा योगदान आम आदमी पार्टी का होगा। उन्होंने कहा कि हम पंजाब में दो साल और दिल्ली में आठ साल के कार्यों पर वोट मांग रहे हैं। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा 10 साल बाद भी मंगलसूत्र और मुसलमान की बातें करते हैं।