Thursday , May 30 2024

पंजाब : हर सिख पांच बच्चे करे पैदा, बोले दमदमी टकसा मुखी

कहा, देखभाल नहीं कर सकते तो एक को खुद रखो, चार बच्चे मुझे दे दो
खबर खास, चंडीगढ़ :
दमदमी टकसाल और संत समाज के प्रमुख ज्ञानी हरनाम सिंह खालसा ने सार्वजनिक सभा में सिखों को अपने बच्चों की गिनती बढ़ाने को कहा है। ज्ञानी हरनाम सिंह धुम्मा ने कहा कि प्रत्येक सिख परिवार को 5 बच्चे पैदा करने चाहिए और यदि वह उनकी देखभाल नहीं कर सकते वह एक बच्चा रखकर चार उन्हें दे दें ताकि वह उनका पालन पोषण कर सके। धुम्मा की यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।
धुम्मा ने कहा कि इन बच्चों में आने वाला भविष्य देखता हूं। इन्हें गुरमति (धार्मिक) शिक्षा दी जाएगी। इनमें से कोई श्री अकाल तख्त साहिब का जत्थेदार, कोई ग्रंथी, कोई शहीद तो कोई विद्वान बनेगा। इन्हें गुरमति विद्वान बनाऊंगा, जिन्हें देश के साथ-साथ विदेशों में भी पहचाना जाएगा।
धुम्मा ने कहा कि एक बच्चे तक सीमित न रहें। अभी, हम (सिख) राज्य में 52% आबादी हैं, जबकि बाकी प्रवासी हैं। आने वाले समय में हम अल्पसंख्यक हो जाएंगे, फिर ये हमें पीटेंगे। आज-कल नशा करने वाले बच्चे अपने माता-पिता को पीट रहे हैं। अगर आपके पास 4 हैं तो कम से कम एक आपकी देखभाल करेगा, दूसरा गुरुघर या अन्य कार सेवा करेगा।
उन्होंने कहा कि आज बच्चे नशे में मर रहे हैं, लेकिन उन्हें लोग डेरों में भेजने को तैयार नहीं है। पहले शिक्षा डेरों में ही ली जाती थी। ये डेरे ही हैं, जिन्होंने पंजाबी व सभ्यता को संभाल कर रखा। गुरमति ज्ञान लोगों तक पहुंचाया है।
वहीं पंजाब महिला आयोग की चेयरपर्सन राज लाली गिल ने इस बयान की निंदा की है। गिल ने कहा कि बाबा हरनाम सिंह बड़ी हस्ती हैं और सभी के सत्कार योग्य हैं। उनकी तरफ से दिया गया यह बयान काफी मुश्किलों से भरा है। उन्होंने कहा कि औरतें बच्चे पैदा करने वाली मशीन नहीं हैं। जिसने बच्चे पैदा किए हैं, वे उन्हें पाल भी सकते हैं। आज की जरूरत बच्चों को बाहर जाने से रोकने की है। बच्चे नौकरियों के लिए बाहर जा रहे हैं। हमें बच्चों को बेहतर शिक्षा देनी चाहिए, न कि धर्म में उलझाना चाहिए। बच्चों के लिए पंजाब में हर कदम उठाया जा रहा है, चाहे वह शिक्षा हो या नौकरी।