Sunday , May 19 2024

राज्य में अब तक 100 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं की आमद, 95 प्रतिशत फ़सल खरीदी: अनुराग वर्मा

किसानों के खातों में 1,7340.40 करोड़ रुपए की अदायगी के साथ 100 प्रतिशत भुगतान किया
मुख्य सचिव ने उच्च अधिकारियों और डिप्टी कमिश्नरों के साथ मीटिंग कर खरीद प्रबंधों का लिया जायजा
खबर खास, चंडीगढ़ :
पंजाब के मुख्य सचिव अनुराग वर्मा ने कहा कि पंजाब में गेहूँ की निर्विघ्न खरीद के स्वरूप अब तक मंडियों में पहुँची 100.58 लाख मीट्रिक टन में से 95 प्रतिशत से अधिक फ़सल खऱीदी जा चुकी है। इसके साथ ही फ़सल बेच चुके सभी किसानों को 100 प्रतिशत का भुगतान किया जा चुका है, जिसके अंतर्गत 17340.40 करोड़ रुपए खातों में अदा किए जा चुके हैं। राज्य में खरीद प्रक्रिया का जायज़ा लेने के लिए आज यहाँ खरीद एजेंसियों के उच्च अधिकारियों और समूह जिलों के डिप्टी कमिश्नरों के साथ मीटिंग के दौरान मुख्य सचिव श्री वर्मा ने निर्देश दिए कि इस बात को हर हाल में सुनिश्चित बनाया जाए कि किसी भी किसान को अपनी फ़सल मंडी में बेचने के लिए कोई परेशानी न आए और ख़ासकर बेमौसम बारिश से पैदा हुई स्थिति से निपटने के लिए उचित और सुचारू प्रबंध करने में कोई कसर बाकी न छोड़ी जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों, आढतियों और मज़दूरों के लिए ज़रूरी सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है, जिससे निर्विघ्न खरीद प्रक्रिया को सुनिश्चित बनाया जाए। श्री वर्मा ने आगे बताया कि पंजाब की मंडियों में अब तक 100.58 लाख मीट्रिक टन गेहूँ की आमद हो चुकी है, जिसमें से 95.83 लाख मीट्रिक टन की खऱीद हो चुकी है, जोकि 95 प्रतिशत से अधिक बनती है। बताने योग्य है कि इस साल 132 लाख मीट्रिक टन गेहूँ मंडियों में पहुंचने का अनुमान भाव 75 प्रतिशत फ़सल की आमद हो चुकी है। श्री वर्मा ने कहा कि 48 घंटों के अंदर गेहूँ की खरीद का भुगतान करने के नियमों के अंतर्गत अब तक 100 प्रतिशत भुगतान कर दिया गया है, और 17340.40 करोड़ रुपए किसानों के खातों में अदा किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि लिफ्टिंग के लिए आज 27 स्पेशल रेलगाडिय़ां लगी हैं। उन्होंने कहा कि सरकार गेहूँ का एक-एक दाना खरीदने के लिए प्रतिबद्ध है।
मीटिंग में प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विकास गर्ग, पंजाब वेयरहाऊस के एम.डी. कंवलप्रीत कौर बराड़, पनसप कीं एम.डी. सोनाली गिरि, डायरैक्टर खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति पुनीत गोयल, पंजाब मंडीकरण बोर्ड कीं सचिव अमृत कौर गिल, एफ.सी.आई. के जनरल मैनेजर बी.एन. श्रीनिवासन और मार्कफैड के ए.एम.डी. सन्दीप सिंह गड्हा और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा समूह डिप्टी कमिश्नर उपस्थित थे।