Monday , May 20 2024

ओपीएस सील-VI:10 लाख रुपए नकद, 110 किलो भुक्की, 1 किलो अफ़ीम, 24 ग्राम हेरोइन, भारी मात्रा में शराब बरामद

पंजाब पुलिस द्वारा मतदान से पहले नशा और शराब की तस्करी को रोकने के लिए 10 सरहदी जिलों के 220 एंट्री/एग्जिट प्वइंट सील, पुलिस टीमों द्वारा कार्यवाही के दौरान 44 व्यक्तियों को गिरफ़्तार करने के उपरांत 42 एफआईआरज़ दर्ज; 222 संदिग्ध व्यक्तियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया, पुलिस टीमों ने 5137 वाहनों की की चैकिंग, जिनमें से 200 वाहनों के किये चालान और 22 को किया काबू
इस ऑपरेशन का उद्देश्य नशा और ग़ैर-कानूनी शराब तस्करों पर चौकसी रखना था: स्पैशल डीजीपी अर्पित शुक्ला
खबर खास, चंडीगढ़ :
आगामी लोकसभा चुनाव-2024 को स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतमयी ढंग से करवाना सुनिश्चित बनाने के लिए पंजाब पुलिस ने रविवार को सरहदी राज्य पंजाब में दाखि़ल होने या बाहर जाने वाले सभी वाहनों की चैकिंग करने के लिए एक विशेष ऑपरेशन ‘ओपीएस सील-VI’ चलाया, जिससे नशा और ग़ैर-कानूनी शराब तस्करों के आने-जाने पर नजऱ रखी जा सके। डायरैक्टर जनरल ऑफ पुलिस (डीजीपी) पंजाब गौरव यादव के निर्देशों पर सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक यह ऑपरेशन चलाया गया, जिससे एक ही समय सभी बॉर्डरों से आने- जाने वाले वाहनों की चैकिंग करना सुनिश्चित बनाया जा सके। विशेष डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर अर्पित शुक्ला ने बताया कि सभी 10 सरहदी जिलों के सीनियर पुलिस कप्तानों (एसएसपीज़) को गज़टिड अफ़सरों/एसएचओज़ की निगरानी अधीन अपने-अपने जिलों में मज़बूत ‘नाके’ लगाने के लिए अधिक से अधिक स्टाफ तैनात करने और सभी एंट्री/एग्जिट प्वाइंट्स को प्रभावशाली ढंग से सील करने के लिए कहा गया था। उन्होंने आगे कहा कि ‘ओपीएस सील-VI’ के हिस्से के तौर पर एसएसपीज़ को संवेदनशील स्थानों पर निजी तौर पर कुछ नाकों का दौरा करने के साथ-साथ प्रभावशाली नाकाबंदी को सुनिश्चित बनाने के लिए पड़ोसी राज्यों में अपने समकक्ष के साथ संपर्क करके साझे नाके लगाने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं।
उन्होंने कहा कि चार सरहदी राज्यों और यूटी चंडीगढ़ के साथ लगने वाले 10 जिलों के सभी 220 एंट्री/एग्जिट प्वाइंट्स पर इंस्पेक्टरों/डी.एस.पीज की निगरानी अधीन 1500 से अधिक पुलिस कर्मचारियों के बढिय़ा तालमेल के साथ नाके लगाए गए। जि़क्रयोग्य है कि इन 10 अंतरराज्यीय सरहदी जिलों में पठानकोट, श्री मुक्तसर साहिब, फाजिल्का, रोपड़, एसएएस नगर, पटियाला, संगरूर, मानसा, होशियारपुर और बठिंडा शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान संदिग्ध वाहनों/व्यक्तियों की अच्छी तरह से तलाशी ली गई और आम लोगों को कम से कम असुविधा होने को सुनिश्चित बनाया गया। उन्होंने आगे कहा कि सभी पुलिस कर्मचारियों को सख़्ती से हिदायत की गई थी कि इस कार्यवाही के दौरान उनके वाहनों की चैकिंग के दौरान हर व्यक्ति के साथ विनम्रता और दोस्ताना ढंग से पेश आया जाये। स्पैशल डीजीपी ने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान राज्य में आने-जाने वाले 5137 वाहनों की चैकिंग की गई, जिनमें से 200 के चालान किए गए और 22 वाहनों को ज़ब्त किया गया। पुलिस टीमों द्वारा ‘वाहन’ मोबाइल ऐप का प्रयोग करके सभी वाहनों के रजिस्ट्रेशन नंबरों की पुष्टि भी की गई।
बताने योग्य है कि पुलिस ने 44 व्यक्तियों को गिरफ़्तार करके 42 एफआईआरज़ भी दर्ज की हैं और उनके पास से 10 लाख रुपए नकद, 110 किलो भुक्की, 1 किलो अफ़ीम, 24 ग्राम हेरोइन, 228 लीटर अवैध शराब, 175 लीटर वैध शराब और 100 लीटर लाहन बरामद किया गया। पुलिस टीमों ने पूछताछ के लिए 222 संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में भी लिया।
जि़क्रयोग्य है कि पंजाब पुलिस ने राज्य में अपराधियों, नशा और ग़ैर-कानूनी शराब तस्करों के आने-जाने पर रोक लगाने के लिए एक व्यापक रणनीति तैयार की है। सभी सीपीज़/एसएसपीज़ को पहले ही अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में समाज विरोधी तत्वों पर पैनी नजर रखने के लिए राज्य भर में विशेष नाके लगाने और गश्त करने वाली पार्टियों को बढ़ाने के निर्देश दिए जा चुके हैं।