Thursday , May 30 2024

पंजाब के पेट्रोल डीलरों ने की डीलर मार्जिन में 4 रुपए प्रति लीटर बढ़ोतरी की मांग

चंडीगढ़ इंडियन ऑयल भवन में अपनी मांगें को लेकर कर पीएमओ को सौंपा मेमोरेंडम

खबर खास, चंडीगढ़:

पंजाब भर के सैकड़ों पेट्रोलियम डीलरों ने गुरुवार को इंडियन ऑयल भवन, चंडीगढ़  में राज्य स्तरीय समन्वयक कार्यालय के जरिये, पीएमओ, पेट्रोलियम मंत्री, पेट्रोलियम सचिव और तेल कंपनियों के अध्यक्षों के नाम एक मेमोरेंडम सौंपा।

इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन पंजाब के प्रवक्ता मोंटी सहगल ने बताया कि पंजाब में पीएसयू ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (ओएमसी) के डीलर मार्जिन बढ़ाए जाने की लगातार की जा रही मांग को ओएमसी द्वारा अनदेखा किए जाने से दुखी हैं। पेट्रोलियम डीलर्स के मार्जिन को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा गठित आरओ डीलर आयोग-2012 (अपूर्व चंद्र कमेटी) पर कमेटी की सिफारिशों को ओएमसी द्वारा लागू नहीं किया जा रहा। डीलर मार्जिन को प्रत्येक वर्ष जनवरी और जुलाई में दो बार संशोधित किया जाना था और यह फैसला तेल विपणन कंपनियों और डीलर प्रतिनिधियों के बीच 4 नवंबर, 2016 को आयोजित बैठक में भी मंजूर किया गया था।

मोंटी सहगल ने कहा, ‘यह समझ से परे है कि वित्तीय कठिनाई और बढ़ते खर्चों के बावजूद छह वर्षों से उन्हें डीलर्स मार्जिन के किसी भी संशोधन से वंचित रखा गया है। इससे अधिकांश डीलरों के लिए जीवित रहना मुश्किल हो गया है। यह भी जगजाहिर है कि हम डीलरों ने कोविड-19 के दौरान भारी पूंजीगत नुकसान के बावजूद देश की सेवा करने का फैसला किया और उसी अवधि के दौरान लाभ कमाने वाली ओएमसी द्वारा हमें मुआवजा नहीं दिया गया।’

एसोसिएशन के अध्यक्ष परमजीत सिंह दोआबा ने कहा कि कोविड-19 के बाद, मुद्रास्फीति और बढ़ते परिचालन खर्चों ने डीलरों की वित्तीय स्थिति को और खराब कर दिया है। 2016 के बाद से पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतें लगभग दोगुनी हो गई हैं, लेकिन डीलर मार्जिन नहीं बढ़ाया गया है। उन्होंने कहा कि हम एक उचित मार्जिन की उम्मीद करते हैं जो हमें और हमारे कर्मचारियों को एक अच्छी आजीविका प्रदान करे और हमारे निवेश पर एक अच्छा रिटर्न प्रदान करे।

एसोसिएशन के महासचिव डॉ. मनजीत सिंह ने कहा कि हमारी मांग है कि अंतरिम राहत के रूप में तत्काल प्रभाव से डीलर मार्जिन में 4 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की जाए। बिना राहत और पूंजी घाटे व बढ़ते कर्ज के कारण अधिकांश पेट्रोल पंप जल्द ही बंद हो जाएंगे।Memorandum PDFइसके अलावा हम कम बिक्री वाले डीलरों का समर्थन करने के लिए भविष्य में स्लैब- वाइज़ वृद्धि की भी मांग करेंगे , जो 1. 150KL तक 8% 2. 150KL से 300KL के लिए 7% 3. 300KL से 450KL के लिए 6% 4. 450KL और ऊपर के लिए 5% हैं।