Monday , April 15 2024

‘बिट्‌टू को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से करनी चाहिए थी बातचीत’

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने कहा
बोले, भाजपा में जाने से कांग्रेस का नुकसान कम, बिट्‌टू का खुद का नुकसान ज्यादा
खबर खास, चंडीगढ़ :
लुधियाना से कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्‌टू ने आज कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली। उनके एकाएक हाथ छोड़कर कमल थाम लेने पर पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने कहा कि यदि बिट्‌टू के दिल में कुछ चल रहा था तो उन्हें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से बातचीत करनी चाहिए थी। वह कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत सभी वरिष्ठ नेताओं के संपर्क में थे।
उन्होंने कहा कि हालांकि उन्हें इस मुश्किल समय में पार्टी नहीं छोड़नी चाहिए थी। राजा वड़िंग ने कहा कि उनकी बिट्‌टू से रात को भी बात हुई लेकिन उन्होंने उनसे इस बारे में कोई जिक्र नहीं किया। उन्होंने कहा कि बि‌ट्‌टू के इस कदम से पार्टी को नुकसान तो हुआ है लेकिन बिट्‌टू का अधिक नुकसान है।
राजा वड़िंग ने कहा कि बिट्‌टू के दादा पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत बेअंत सिंह एक बड़ा नाम था। 1992 में जब बड़े-बड़े लोग जो खुद को पंजाब का रखवाला कहते थे, जब वह चुनाव लड़ने से पीछे हट गए थे, तब उन्होंने पार्टी का झंडा उठाए रखा। तब कांग्रेस ने उन्हें सबकुछ दिया और उन्हें पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया जबकि उनके परिवारिक सदस्यों को सम्मान दिया गया। उन्होंने कहा कि रवनीत को तीन बार यूथ कांग्रेस अध्यक्ष, तीन बार लोकसभा का टिकट दिया था। बिट्‌टू के भाई को कांग्रेस सरकार ने डीएसपी की नौकरी दी।
हालांकि वडिंग ने कहा कि बिट्‌टू मेरा भाई है और उसे इस तरह से नहीं जाना चाहिए था।

The post ‘बिट्‌टू को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से करनी चाहिए थी बातचीत’ first appeared on Khabar Khaas.