Wednesday , April 24 2024

यूपी: मां से मांगे उधार के 5 हजार, महिला पैसे लेने गई तो दो बच्चों का गला रेत दिया, पुलिस ने एक आरोपी का किया एनकाउंटर

बदायूं. उत्तर प्रदेश में बदायूं जिले के सिविल लाइंस क्षेत्र में मंगलवार देर शाम मामूली विवाद में दो मासूम बच्चों की कुल्हाड़ी से हत्या करने का एक आरोपी फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से दूर है. एक अन्य को पुलिस ने देर रात ही एक सशस्त्र मुठभेड़ में मार गिराया था.

पुलिस सूत्रों ने बुधवार को बताया कि पड़ोसी के दो बच्चों की धारदार हथियार से हत्या करने के बाद भाग रहे साजिद को शेखूपुर के जंगलों में जवाबी फायरिंग के दौरान मार गिराया था जबकि उसका भाई जावेद फरार हो गया था जिसकी तलाश के लिये पुलिस की पांच टीम का गठन किया गया है. जघन्य वारदात के बाद दो समुदायों के बीच उपजे असंतोष के मद्देनजर एहतियात के तौर पर सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

उन्होने बताया कि बच्चों के पिता विनोद कुमार द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे में उल्लेख किया है कि कल शाम लगभग सात बजे उनके घर के सामने दुकान चलाने वाला साजिद बाईक से उनके घर पहुंचा. उस समय पत्नी संगीता और मां मुन्नी देवी घर पर थी जबकि तीनों बच्चे आयुष, आह्वान और पीयूष तीसरी मंजिल पर थे. आरोपी साजिद ने संगीता से पांच हजार रुपये उधार मांगे तो वह रुपए लेने घर के अंदर चली गई. इस बीच साजिद बच्चों के पास तीसरी मंजिल पर चला गया और उसने सबसे छोटे बच्चे पियूष को गुटखा लेने भेज दिया. साजिद ने तीसरी मंजिल पर जाकर आयुष और आह्वान पर हमला बोल दिया और उन्हें और उन्हें बुरी तरह से घायल कर दिया. इसी बीच छोटा बेटा पीयूष जब गुटखा लेकर ऊपर पहुंचा वहां का नजारा देखकर चीखता हुआ नीचे भागा. इस बीच संगीता भी रुपए लेकर आ गई तो देखा कि साजिद हाथ में खून से सना हुआ एक बड़ा छुरा लेकर ऊपर से नीचे उतर रहा था. शोर मचाने पर आसपास के लोग एकत्रित हो गए और साजिद को पकड़ लिया जबकि उसका भाई जावेद मौके से फरार हो गया.

घटना के एक घंटे बाद ही पुलिस ने थाना सिविल लाइन क्षेत्र के शेखूपुर के जंगलों में आरोपी साजिद को भागते समय ललकारा तो उसने पुलिस पर फायर किया जिस पर जवाबी फायरिंग में साजिद की मौत हो गई. आरोपी साजिद द्वारा की गई फायरिंग में सिविल लाइंस थाने के थाना अध्यक्ष गौरव बिश्नोई के पैर में गोली लगी है जिससे वह घायल हो गए हैं और अस्पताल में भर्ती हैं.

घटना के विरोध में हिंदूवादी संगठनों ने शहर में आज विरोध प्रदर्शन किया और बाजार बंद करने का प्रयास किया. पुलिस अधीक्षक समेत तमाम अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रण में किया. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि दोनों बच्चों का पोस्टमार्टम करा दिया गया है तथा कछला स्थित गंगा घाट पर दोनों का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया है उन्होंने बताया कि दूसरे आरोपी जावेद की गिरफ्तारी के लिए पांच टीम में लगा दी गई है बहुत ही जल्द जावेद को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा. उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है मामले की जांच की जा रही है.

पुलिस ने साजिद और जावेद के पिता बाबू और चाचा कयामुद्दीन को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है. हिरासत में लिए जाने से पहले साजिद के पिता बाबू ने दोनों बच्चों की हत्या पर अफसोस जताते हुए कहा कि दोनों बच्चों की हत्या बहुत ही दुखद है और उसके बेटे ने जो भी किया उसकी सजा उसे मिल गई और इसका कोई अफसोस नहीं है.