Wednesday , April 24 2024

‘आगामी लोकसभा चुनावाें के दौरान प्रिंट, इलेक्ट्रानिक और सोशल मीडिया में पेड़ न्यूज पर चुनाव आयोग रखेगा कड़ी निगरानी’

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सिबिन सी ने कहाए डीपीआरओज़ के साथ राज्य स्तरीय वर्चुअल बैठक कर दिया अपना कर्तव्य निष्ठापूर्वक निभाने के निर्देश

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सिबिन सी ने गुरुवार को स्पष्ट रूप से कहा कि चुनाव आयोग राज्य में आगामी लोकसभा चुनावों के दौरान प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में पेड न्यूज पर कड़ी निगरानी रखेगा।

उन्होंने जिला लोक संपर्क अधिकारियों (डीपीआरओज़) के साथ एक राज्य स्तरीय वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि आयोग ने विज्ञापनों, उम्मीदवारों के प्रचार और पेड न्यूज मामलों की निगरानी के लिए सख्त निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समितियों का गठन किया गया है, जिसमें डीपीआरओज़ को नोडल अधिकारी बनाया गया है। सिबिन सी ने ज़ोर देकर कहा कि इन समितियों को समाचार चैनलों, सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के साथ-साथ समाचार पत्रों में समाचार सामग्री पर कड़ी निगरानी रखने का आदेश दिया गया है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी डीपीआरओज़ को ऐसी समाचार सामग्री की जांच करने के लिए अपना कर्तव्य पूरी लगन से निभाने और बाद में पेड न्यूज, यदि कोई हो तो उसकी रिपोर्ट संबंधित रिटर्निंग अफसर (आरओ) को करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि समिति चुनाव के दौरान प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया पर दिखाई देने वाली चुनाव संबंधी खबरों, फीचर्स और विज्ञापनों पर नजऱ रखेगी। सिबिन सी ने कहा कि समिति विज्ञापनों के प्रमाणीकरण, प्रिंट, सोशल और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में समाचारों की निगरानी के साथ-साथ चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की सभी चुनाव संबंधी खबरों का रिकॉर्ड रखने के लिए जि़म्मेदार होगी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि इन समितियों के गठन का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि ये उम्मीदवारों द्वारा किए जाने वाले चुनाव संबंधी खर्चों की प्रभावी निगरानी और लेखांकन में मदद करेंगे। उन्होंने डीपीआरओज़ को यह सुनिश्चित बनाने के लिए भी कहा कि समिति के सदस्य राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों या उनके समर्थकों द्वारा प्रकाशित की जाने वाली विज्ञापन सामग्री को जारी करने से पहले सत्यापित करें।

सिबिन सी ने राज्य में स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण लोकसभा चुनाव सुनिश्चित बनाने के लिए चुनाव आयोग की प्रतिबद्धता दोहराई और कहा कि राजनीतिक दलों द्वारा आदर्श चुनाव आचार संहिता के किसी भी उल्लंघन पर भी नजऱ रखी जाएगी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि डीपीआरओज़ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन संबंधी नई चुनौतियों का अच्छे ढंग से निगरानी करें और इसमें कोई कसर नहीं छोड़ी जाए। उन्होंने कहा कि आज के युग में सोशल मीडिया सूचना प्रसार का एक प्रमुख साधन बन गया है, जिसके कारण इन प्लेटफार्मों की जांच पर विशेष ज़ोर दिया जाना चाहिए। सिबिन सी ने आशा व्यक्त की कि डीपीआरओज़ अपने कर्तव्य का सही ढंग से निर्वहन करेंगे और चुनाव के सुचारू एवं परेशानी मुक्त संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने डीपीआरओज़ को स्वीप गतिविधियों के बारे में अधिकतम प्रचार और जागरूकता बढ़ाने के लिए भी कहा ताकि अधिक से अधिक मतदाताओं, विशेषकर पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं को वोट डालने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करना समय की मांग है कि आगामी आम चुनावों के दौरान मतदाताओं की अधिकतम भागीदारी हो। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का त्योहार है और आयोग यह सुनिश्चित करने के लिए बाध्य है कि इन चुनावों के दौरान अधिक से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

बैठक में ज्वाइंट सीईओ सक्कतर सिंह बल, सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के डिप्टी डैयरेक्टर (सोशल मीडिया) मनविंदर सिंह और मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के सोशल मीडिया विशेषज्ञ उपस्थित थे।

The post ‘आगामी लोकसभा चुनावाें के दौरान प्रिंट, इलेक्ट्रानिक और सोशल मीडिया में पेड़ न्यूज पर चुनाव आयोग रखेगा कड़ी निगरानी’ first appeared on Khabar Khaas.