Saturday , April 20 2024

‘पंजाब को कर्ज मुक्त, प्रगतिशील और खुशहाल राज्य बनाने के लिए हूं वचनबद्ध’

पटियाला में सरकार-व्यापार मिलनी के दौरान मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा
कहा, पिछले दो सालों के बजट में राज्य के लिए अच्छे कामों की दिखाई दी झलक
राजनीतिक हितों के लिए दल बदलने वाले मौकापरस्त राजनीतिज्ञों को लिया आड़े हाथ
खबर खास, पटियाला :
‘पंजाब को कर्ज मुक्त, प्रगतिशील और खुशहाल राज्य बनाने के लिए वचनबद्ध हूं।’ यह कहना है मुख्यमंत्री भगवंत मान का। वह आज यहां पटियाला में आयोजित सरकार-व्यापार मिलनी के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पंजाब को खुशहाल राज्य बनाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है।
मान ने कहा कि पिछली सरकारों की बुरी नीतियों के कारण प्रदेश को विरासत में कर्जे की गठरी मिली थी लेकिन उनकी सरकार राज्य को इन संकटों से निकलने के लिए हरसंभव प्रयत्न करेगी और इसके लिए पहले से ही ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। मान ने कहा कि दो सालों से बजट राज्य में राजस्व में वृद्धि समेत अच्छी बातों को दर्शाता है और आने वाले दिनों में भी यह सिलसिला जारी रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा, “इतिहास में पंजाब पहली बार इस तरह के खुशियों वाले समागम देख रहा है। इससे पहले समागमों में सिर्फ़ एक-दूसरे पर राजनैतिक कीचड़ फेंका जाता था परन्तु अब ऐसे समागमों में खुशी के जश्न मनाए जा रहे हैं। पहली बार व्यापारी राज्य को सफलता के स्थान पर ले जाने के लिए फ़ैसले लेने का अटूट अंग बने हैं।“
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की नेक नीयत के कारण आज नये स्कूल खुल रहे हैं, नये हस्पताल बन रहे हैं, 90 प्रतिशत घरों को मुफ़्त बिजली दी जा रही है, 43000 से अधिक लोगों को नौकरियाँ दीं गई हैं। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान नीयत की कमी थी जिस कारण राज्य तरक्की पक्ष से पिछड़ गया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अब राज्य सरकार पिछली सरकारों का पंजाब विरोधी चेहरा बेनकाब कर रही हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह नेता मौकाप्रस्त हैं जो सिर्फ़ अपने स्वार्थों के लिए दल बदलते हैं। उन्होंने कहा कि इन नेताओं का एकमात्र एजेंडा अपने पारिवारिक सदस्यों को राजनीति में फिट करना है परन्तु लोगों की तरफ से इनको बार- बार नकार दिया गया।
मान ने कहा कि इन नेताओं की सत्ता की भूख कभी नहीं मिटती और इसलिए यह नेता बहानेबाज़ी बनाकर उनके साथ लड़ते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन नेताओं के पास न तो लोक सेवा करने की दूरदर्शी सोच है और न ही कोई जज़्बा है। उन्होंने कहा कि इनका एकमात्र मकसद राज्य की दौलत को दोनों हाथों से लूटना है। उन्होंने कहा कि उद्योग को बुनियादी ढांचा चाहिए और हम नौजवानों के लिए नौकरियां और राज्य की तरक्की के लिए टैक्स चाहते हैं। मान ने कहा कि यह सर्कल राज्य सरकार की औद्योगिक नीति का आधार है, जिस कारण वह व्यापारियों और उद्योगपतियों के साथ लगातार मीटिंगें कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, “पंजाबी दुनिया भर में कामयाब हैं परन्तु इन राजनीतिज्ञों की पतनोन्मुखी नीतियों के कारण वह राज्य में सफलता की सीढ़ियाँ नहीं चढ़ सके। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने अपने स्वार्थों के लिए राज्य को बर्बाद किया है और पंजाब की दौलत को बेरहमी के साथ लूटा है।
भगवंत सिंह मान ने कहा कि इसी कारण ही पंजाब निवासियों ने इन नेताओं को हरा कर घर बिठा दिया है। “
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान राज्य के लोग सफल होने से ख़ौफ़ खाते थे क्योंकि राजनैतिक नेता उनके कारोबार में जबरन हिस्सा डाल लेते थे। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने लोगों को लूटा और इनके हाथ पंजाब और पंजाबियों के ख़ून के साथ रंगे हुए हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अब राज्य में आम लोगों की सरकार है जो हर व्यक्ति को ज़िंदगी में कामयाब होने का मौका दे रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि रिवायती पार्टियाँ उनके साथ ईर्ष्या करती हैं क्योंकि वह एक साधारण परिवार के साथ सम्बन्ध रखते हैं। भगवंत मान ने कहा कि यह राजनैतिक नेता मानते हैं कि उनके पास सत्ता में रहने का ईश्वरीय हक है जिस कारण इनको यह हज़म नहीं हो रहा कि एक आम आदमी राज्य का शासन शानदार ढंग के साथ क्यों चला रहा है।
उन्होंने कहा कि यह नेता लंबे समय से लोगों को मूर्ख बना रहे हैं परन्तु अब लोग इनके दुष्प्रचार में नहीं आऐंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह नेता बेरोज़गारों का नया वर्ग है, जिनकी निकम्मी कारगुज़ारी के कारण लोगों ने इनको राजनैतिक गुमनामी की तरफ धकेल दिया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य के लोगों ने बारो बारी हर पाँच सालों के बाद सरकार बनाने वाली रिवायती राजनैतिक पार्टियों को सत्ता से दूर कर दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस साल का बजट प्रगतिशील और ‘रंगले पंजाब’ की झलक पेश करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार को लोगों ने सेवा करने का मौका दिया है और वह लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए सख़्त मेहनत करेंगे। भगवंत सिंह मान ने विरोधी पक्ष को कहा कि वह नुकताचीनी करने से गुरेज़ करें और उनको पंजाब की भलाई के लिए काम करने दें।

मुख्यमंत्री ने कहा, “राजनीति में बदलाव लाने और आम आदमी को राजनैतिक पार्टियों के एजंडे पर लाने का श्रेय अरविन्द केजरीवाल को जाता है। संकल्प पत्रों या चुनाव घोषणा पत्रों की जगह अब राजनैतिक पार्टियाँ लोगों को भलाई की गारंटियां दे रही हैं। मैं हमेशा ही किसी भी पार्टी के चुनाव घोषणा पत्र को कानूनी दस्तावेज़ बनाने का पक्षधर रहा हूं जिससे राजनैतिक पार्टियाँ आम आदमी के साथ धोखा न कर सकें। “
मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी लोक सभा मतदान के मद्देनज़र राजनैतिक नेताओं ने लोगों को राहत देने की पेशकश करनी शुरू कर दी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से एल. पी. जी. की कीमतों में कटौती इसकी प्रत्यक्ष मिसाल है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले कई सालों से ज़रूरी वस्तुओं की कीमतों में निरंतर बढ़ोतरी की परन्तु अब ऊँची कीमतों में निर्गुणी कटौती करके आम लोगों को मूर्ख बनाने की कोशिश की जा रही है। भगवंत सिंह मान ने लोगों को न्योता दिया कि वह ऐसी नौटंकियों के झाँसे में न आने क्योंकि इस जैसे नेता ऐसीं कार्यवाहियों के कारण आम लोगों को गुमराह करने की कोशिश करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी खजाने में से एक- एक पैसा लोगों की भलाई के लिए खर्चा जा रहा है।
भगवंत सिंह मान ने लोगों को न्योता दिया कि वह सभी 13 लोक सभा सीटों पर पार्टी की जीत यकीनी बनाएं जिससे केंद्र सरकार की पक्षपाती नीतियों का डट कर मुकाबला किया जा सके। उन्होंने कहा कि पंजाब निवासियों को राज्य में 13-0 के साथ जीता कर ’आप’ के हाथ मज़बूत करने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि यह 13 लोक सभा मैंबर चुने जाने पर राज्य के विकास और तरक्की को बढ़ावा देंगे।
इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पटियाला शहर में शुरू की गई ई-बस सेवा शहर में तरक्की और खुशहाली के नये युग की शुरुआत करने में सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि यह बसें शहर के पुराने बस स्टैंड से चलेंगी और लोगों को बड़ी सुविधा प्रदान करेंगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इससे व्यापार और कारोबार को बढ़ावा देकर शहर में बेमिसाल विकास और खुशहाली का रास्ता साफ होगा।

The post ‘पंजाब को कर्ज मुक्त, प्रगतिशील और खुशहाल राज्य बनाने के लिए हूं वचनबद्ध’ first appeared on Khabar Khaas.