Monday , April 15 2024

एफसीआई के गोदाम में पड़ी गेहूं को खुर्द-बुर्द करने के आरोप में तीन निजी कर्मचारी चढ़े विजिलेंस के हत्थे

खबर खास, चंडीगढ़  :

भारतीय खाद्य निगम यानि एफसीआई की ओर से बठिंडा जिले के रामपुरा फूल स्थित गुरवीर कौर गोदाम में वर्ष 2023 के दौरान स्टोर का गेहूं खुर्द-बुर्द करने और बोरियों पर पानी डालकर गेहूं का वजन बढ़ा कर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने के आरोपों में विजिलेंस ने ग्लोबस वेयर हाउसिंग एंड ट्रेडिंग प्राईवेट लिमिटेड कंपनी के मैनेजर जसपाल कुमार, गोदाम क्लर्क सुखजिंदर सिंह और गोदाम इंचार्ज बलजिंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा किसी अन्य अधिकारी/ कर्मचारी की भूमिका सामने आती है तो उसपर भी कार्यवाही की जाएगी।

इस जानकारी देते हुए विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि विश्वसनीय सूत्रों के द्वारा मिली गुप्त सूचना के आधार पर विजिलेंस ब्यूरो यूनिट बठिंडा की टीम द्वारा पनग्रेन और एफ. सी. आई. रामपुरा फूल के अधिकारियों/ कर्मचारियों और कस्टोडियन कंपनी ग्लोबस वेयर हाउसिंग प्राईवेट लिमटिड दिल्ली के कर्मचारियों की हाज़िरी में गुरवीर कौर गोदाम रामपुरा फूल ज़िला बठिंडा की अचानक चैकिंग की गई जिसके आधार उक्त मुलजिमों के खि़लाफ़ भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा 13 (1) ए, 13 (2), 15 और 409, आई. पी. सी की धारा 120-बी के अंतर्गत मुकदमा नंबर 05 तारीख़ 07. 03. 2024 को थाना विजिलेंस ब्यूरो बठिंडा रेंज बठिंडा में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मुकदमे की आगे जाँच जारी है।
उन्होंने बताया कि चैकिंग के दौरान पाया गया कि एफ. सी. आई. द्वारा ग्लोबस वेयर हाउसिंग एंड ट्रेडिंग प्राईवेट लिमिटेड दिल्ली के द्वारा ज़िला बठिंडा में पनग्रेन के द्वारा गेहूँ स्टोर करने के लिए करीब 18 गोदाम किराये पर लिए हुए हैं, इनमें से उक्त गुरवीर कौर गोदाम गाँव गिल्ल कलां में मई 2023 के दौरान गेहूँ की 2,33,374 बोरियाँ वज़न 116429.99880 क्विंटल स्टोर की थी जिसमें से एफ. सी. आई. द्वारा अलग-अलग राज्यों में गेहूँ भेजने के उपरांत 1,57,151 बौरियां गेहूँ ( वज़न 78348.38780 क्विंटल) बकाया बचती थी।
जांच के दौरान पता लगा कि उक्त ग्लोबस कंपनी ने पहले ही करीब 165 क्विंटल गेहूँ उक्त स्टोर में से निकाल कर खुर्द-बुर्द कर दी थी, जिसकी अंदाज़न कीमत 4,50,000 रुपए बनती है। मुलजिमों ने उसको पूरा करने के लिए और अन्य गेहूँ खुर्द-बुर्द करने के इरादे से मिलीभुगत करके गेहूँ पर पानी डाल कर उसका वज़न करीब 875 ग्राम प्रति क्विंटल बढ़ा दिया। इस तरह इन मुलजिमों ने करीब 685 क्विंटल गेहूँ का वज़न बढ़ा कर उसको भी खुर्द-बुर्द करना था जिससे सरकार का करीब 19 लाख रुपए का नुक्सान होना तय था और ऐसा करके लोगों की सेहत के साथ भी खिलवाड़ किया जाना था। इस चैकिंग के दौरान गेहूँ की बोरियांं पर पानी डालने की वीडियो फुटेज भी प्राप्त हुई जिस कारण इन मुलजिमों के खि़लाफ़ मुकदमा दर्ज करके इनको गिरफ़्तार किया गया है।

The post एफसीआई के गोदाम में पड़ी गेहूं को खुर्द-बुर्द करने के आरोप में तीन निजी कर्मचारी चढ़े विजिलेंस के हत्थे first appeared on Khabar Khaas.