Wednesday , April 24 2024

पंजाब में जीएसटी में 16 फीसद और आबकारी राजस्व में 12 फीसद की बढ़ोतरी : चीमा

खबर खास, चंडीगढ़ :
एक महत्वपूर्ण प्राप्ति हासिल करते हुये पंजाब ने वित्तीय साल 2022-23 के मुकाबले चालू वित्तीय साल में फरवरी के अंत तक वस्तु और सेवा कर (जी. एस, टी) में 15.69 प्रतिशत बढ़ोतरी और आबकारी राजस्व संग्रह में 11.71 प्रतिशत बढ़ोतरी दर्ज की है। राज्य के वित्त, योजना, आबकारी और कराधान मंत्री एडवोकेट हरपाल सिंह चीमा ने इस मील पत्थर का ऐलान करते हुये पंजाब के मज़बूत हो रहे आर्थिक विकास और राजस्व प्राप्ति में सफलता का विशेष तौर पर जिक्र किया।
वित्त मंत्री ने बताया कि मार्च 2022 में मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार के कार्यभार संभालने के बाद राज्य वित्तीय सुधारों का साक्ष्य रहा है। उन्होंने कहा कि चालू वित्तीय साल में फरवरी तक कुल जी. एस. टी प्राप्ति वित्तीय साल 2022-23 की इसी मियाद के दौरान एकत्रित किये 16615. 52 करोड़ रुपए के मुकाबले 19222.5 करोड़ रुपए रही, और 2606.98 करोड़ रुपए का विस्तार दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि आबकारी से राजस्व में विस्तार भी 8093. 59 करोड़ रुपए के संग्रह के साथ 842.72 करोड़ रुपए का शानदार विस्तार दर्शाता है, जबकि पिछले वित्तीय साल की इसी मियाद के दौरान 7244.87 करोड़ रुपए प्राप्त हुए थे। उन्होंने कहा कि बेहतर योजनाबंदी को प्रभावशाली ढंग के साथ लागू करने के कारण राज्य ने फरवरी के अंत तक वेट, सी. एस. टी, जी. एस. टी, पी. एस. डी. टी, और आबकारी से 34,158 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त करते हुये शुद्ध कर राजस्व में 13.85 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की है।
चीमा ने आगे कहा कि यह आंकड़े सिर्फ़ संख्या नहीं बल्कि पंजाब के लोगों की तरफ से हमारी सरकार में रखे भरोसे को दर्शाते हैं और पंजाब सरकार इस राजस्व का प्रयोग महत्वपूर्ण जन सेवाओं, बुनियादी ढांचे के विकास और समाज भलाई के लिए ऐसे प्रोग्राम में ज़िम्मेदारी के साथ ख़र्च करने के लिए समर्पित है जो पंजाब निवासियों के जीवन को और ऊँचा उठाएं।
मौजूदा राज्य सरकार द्वारा स्टेट इंटेलिजेंस एंड प्रीवैंटिव यूनिट ( एस. आई. पी. यू) और जी. एस, टी प्राइम पोर्टल की शुरुआत का हवाला देते हुए वित्त मंत्री चीमा ने कहा कि प्रौद्यौगिकी द्वारा संचालित प्रणाली के लागू होने से जी. एस. टी और आबकारी राजस्व प्राप्त करने का सामर्थ्य, पारदर्शिता और पालना में सुधार हुआ है। वित्त मंत्री ने कहा कि जी. एस. टी और आबकारी संग्रह में यह बेमिसाल बढ़ोतरी पंजाब के आर्थिक लचकीलेपन और अच्छे वित्तीय प्रबंधन के लिए हमारी सरकार की अटूट वचनबद्धता का प्रमाण है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने कर प्रशासन को सफलतापूर्वक ढंग के साथ सुचारू बनाया है, चोरी को रोका है, और एक कारोबार- अनुकूल माहौल बनाया है जिसने कर पालना को उत्साहित किया है।
वित्त मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार की यह प्राप्ति आबकारी और कराधान विभाग के लगन वाले यत्नों के साथ-साथ राज्य के नागरिकों के अटूट सहयोग स्वरूप संभव हुई है। इसको राज्य की आर्थिक खुशहाली की तरफ एक शानदार शुरुआत मानते हुए उन्होंने पंजाब के लोगों को कर चोरी के मुकम्मल ख़ात्मे के लिए महत्वपूर्ण योगदान डालने के लिए ‘बिल लाओ, इनाम पाओ’ जैसी पहलकदमियों में सक्रियता के साथ हिस्सा लेने की पुरज़ोर अपील की।

The post पंजाब में जीएसटी में 16 फीसद और आबकारी राजस्व में 12 फीसद की बढ़ोतरी : चीमा first appeared on Khabar Khaas.