Wednesday , April 24 2024

अंबेडकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साईसेंज मोहाली को जल्द मिलेगा छह बिस्तरों वाला आईसीयू

इसकी तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री
आईसीयू कार्यशील और गंभीर स्थिति वाले मरीजों को सेवाएं देने को है तैयार : डा. बलबीर सिंह
एम्स (AIMS) मोहाली में स्थापित की जा रही बायोसेफ्टी लेवल 2 लैब का भी किया दौरा
खबर खास, चंडीगढ़/मोहाली :
डा.बीआर अम्बेडकर स्टेट इस्टीटयूट ऑफ मेडिकल साईसेंज मोहाली में कम कीमत पर गंभीर बीमारियों वाले मरीजों का बढ़िया इलाज यकीनी बनाने को लेकर छह बिस्तरों वाले आईसीयू को शुरू करने के संबंध में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस बात की जानकारी पंजाब के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. बलबीर सिंह ने दी। वह शुक्रवार को संस्थान की डायरैक्टर प्रिंसिपल डा. भवनीत भारती के साथ यहां की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे थे। इसका औपचारिक उद्घाटन मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वार किया जाने की संभावना है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि यह आईसीयू मामूली दरों में जरूरतमंद मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि यह आईसीयू कार्यशील है और गंभीर स्थिति वाले मरीजों को डाक्टरी सुविधा देने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि यहाँ क्रेश कारटस, मरीज़ मॉनिटर, डीफिब्रिलटर और वैंटीलेटरों के साथ इनफ्यूज़न पंप जैसे सभी जीवन बचाने वाले उपकरण उपलब्ध हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह पहलकदमी राज्य के मेडिकल ढांचे को मजबूत करेगी।

बाद में स्वास्थ्य मंत्री ने एआइएमएस मोहाली में नई बनी अत्याधुनिक बायोसेफ्टी लेवल 2 लैब का भी दौरा किया। यह लैब अब कोविड-19 का पता लगाने के लिए सभी आरटीपीसीआर सहूलियतों के साथ लैस है। यहां तजुर्बेकार फैकल्टी समेत शिक्षित स्टाफ, शोध विज्ञानी समेत लैब टैक्नीशियन शामिल हैं। इस लैब में बायोसेफटी कैबिनेटों, आर. एन. ए. ऐकस्टरैकटर, रैफरीजेरेटिड सेंट्रीफ्यूज, वॉरटैकस मिक्सर, मिनी-स्पिनर, थरमो-शेकर, पाईपेटस, आटोकलेव, पीसीआर वरकस्टेशन, -40 डिग्री और -80 डिग्री सैल्सियस डीप फ्रीजर, आरटीपीसीआर मशीनों, प्रिंटरों सहित कंप्यूटर यूनिटें और सभी ज़रूरी चीजें मौजूद हैं। यह उन्नत बुनियादी ढांचा और नवीनतम उपकरण लगाये जा रहे हैं और जल्द ही यह लैब कार्यशील हो जायेगी।

डा. बलबीर सिंह ने कहा कि इस लैब का उद्देश्य मॉलीक्यूलर स्तर पर जन स्वास्थ्य के महत्व वाले वायरसों, जैसे इनफ्लूएंजा वायरस और अन्य वायरस जिससे साँस सम्बन्धी इन्फ़ेक्शन, मच्छरों के द्वारा फैलने वाले ( वैकटर बोर्न) वायरस जैसे डेंगू, चिकनगुनिया, ज़ीका और वायरस, जीआई इन्फ़ेक्शन का कारण बनते वायरस जैसे हैपेटाईटस वायरस, यौन तौर पर संचारित इन्फ़ेक्शन जैसे कि ह्यूमन पैपीलोमावायरस और सी. एन. एस. इन्फ़ेक्शन का कारण बनने वाले वायरस, का समय रहते पता लगाना है।

 

The post अंबेडकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साईसेंज मोहाली को जल्द मिलेगा छह बिस्तरों वाला आईसीयू first appeared on Khabar Khaas.