Wednesday , April 24 2024

सिख आईपीएस अधिकारी से भाजपा नेताओं का व्यवहार निंदनीय- एसजीपीसी चीफ

चंडीगढ़. पश्चिम बंगाल में भाजपा नेताओं की तरफ से एक सिख आईपीएस अधिकारी से किए गए व्यवहार को शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) प्रमुख हरजिंदर सिंह धामी ने निंदनीय करार दिया है. धामी ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर लिखा कि सिख आईपीएस अधिकारी जसप्रीत सिंह का पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी नेताओं की तरफ से चरित्र हनन का प्रयास निंदनीय है.

उन्होंने लिखा है कि ऐसी सोच वाले नेताओं को यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि सिख ने देश की आजादी और सुरक्षा के लिए सर्वाधिक बलिदान किए हैं. सिखों को किसी से प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है, वह देश के लिए कार्य करना जानते हैं और साथ ही अपनी परंपराओं और रीति-रिवाजों का पालन करना भी.

उन्होंने कहा कि बड़ा सवाल यह है कि ऐसे लोग जानबूझ कर देश में नफरत का माहौल पैदा करना चाहते हैं, लेकिन सरकारें चुप रहती हैं. ऐसा माहौल बनाने वालों को सजा मिलनी चाहिए ताकि अलग-अलग क्षेत्रों में ईमानदारी से अपना कार्य करने वाले लोग इस तरह की नफरत का निशाना न बनें. सोशल मीडिया में वायरल विडियो में देखा जा सकता है कि आईपीएस अधिकारी खालिस्तानी करार दिए जाने पर भाजपा नेताओं से कह रहे हैं कि क्या उन्होंने पगड़ी पहन रखी है इसलिए उन्हें खालिस्तानी कहा जा रहा है?