Wednesday , April 24 2024

UP में सपा का कांग्रेस के साथ गठबंधन होगा, अंत भला तो सब भला, कोई विवाद नहीं है: अखिलेश यादव

लखनऊ. लोकसभा चुनाव 2024 से पहले कांग्रेस के लिए राहत भरी खबर आई है. लोकसभा सीटों के मामले में देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और समाजवादी पाटी के बीच गठबंधन को लेकर बात बन गई है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने बुधवार 21 फरवरी को यह जानकारी दी.

अखिलेश यादव ने कहा, अंत भला तो सब भला. संवाददाताओं ने पूछा कि गठबंधन होगा या नहीं होगा? अखिलेश ने कहा, होगा, कोई विवाद नहीं है. बहुत जल्द आपके सामने सब चीजें साफ हो जाएंगी.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के अमेठी और रायबरेली में भारत जोड़ो न्याय यात्रा की. अखिलेश उनके साथ यात्रा में शामिल नहीं हुए. इसको लेकर पूछा गया कि क्या कांग्रेस के साथ कोई विवाद है तो अखिलेश ने कहा कि कोई विवाद नहीं है. इससे पहले अखिलेश यादव ने कहा था कि सीट शेयरिंग होने पर वह राहुल गांधी की यात्रा में शामिल होंगे.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस और समाजवादी पार्टी द्वारा जल्द ही ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उत्तर प्रदेश में सीट शेयरिंग को लेकर घोषणा की जाएगी. समाजवादी पार्टी कांग्रेस को 17-19 सीटें देने को तैयार हो गई है. उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें हैं.

प्रियंका गांधी ने की अखिलेश यादव से बात

यूपी में सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच गतिरोध चल रहा था. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, प्रियंका गांधी ने अखिलेश यादव के साथ बातचीत की, इसके बाद दोनों पार्टियों के बीच सहमति बनी. बातचीत तब आगे बढ़ी जब कांग्रेस ने मुरादाबाद सीट की अपनी मांग छोड़ दी. इसके बदले कांग्रेस ने सीतापुर, श्रावस्ती और वाराणसी की मांग की. इन सीटों के लिए समाजवादी पार्टी ने पहले ही अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी थी. वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है. कांग्रेस ने एसपी से वाराणसी सीट से अपना उम्मीदवार वापस लेने का अनुरोध किया है.

कांग्रेस को अमेठी, रायबरेली, प्रयागराज, वाराणसी, महाराजगंज, देवरिया, बांसगांव, सीतापुर, अमरोहा, बुलंदशहर, गाजियाबाद, कानपुर, झांसी, बाराबंकी, फतेहपुर सीकरी, सहारनपुर और मथुरा सीट मिल सकती है. कांग्रेस ने यूपी में लोकसभा चुनाव लडऩे के लिए 28 सीटों को चुना था.