Monday , February 26 2024

किसी भी सरकार ने बठिंडा के विकास के लिए इतना बड़ा पैकेज नहीं दिया- केजरीवाल

कहा, 75 सालों में अकाली दल-कांग्रेस ने एक भी विकास कार्य नहीं किया

अकाली-कांग्रेस सरकार में पैसे से मिलती थी नौकरी, भगवंत मान ने बिना सिफारिश से अब तक 42000 सरकारी नौकरियाँ दीं

केंद्र ने सुनियोजित साजिश के अंतर्गत पंजाब के लोगों को धार्मिक स्थानों की यात्रा करने से रोका

खबर खास,  मोड़ (बठिंडा):

राज्य में बेमिसाल विकास एवं तरक्की के नये युग की शुरुआत के सफ़र को जारी रखते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज यहाँ ‘ विकास रैली’ के दौरान 1125 करोड़ रुपए के प्रोजेक्टों के द्वारा बठिंडा लोक सभा हलके के विकास को काफी बढ़ावा दिया।

इस मौके पर पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते 25 सालों के दौरान राज्य में सिर्फ़ चार-पाँच लोगों की सत्ता रही है जिन्होंने अपने संकुचित राजनैतिक हितों के लिए राज्य के संसाधनों का दुरुपयोग किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन पाँच में से दो, एक परिवार के थे जब कि दो दूसरे परिवार के थे। उन्होंने कहा कि इनमें एक पाकिस्तानी नागरिक भी था। उन्होंने दुख के साथ कहा कि पाकिस्तानी नागरिक और दो परिवारों के इन चार अन्य व्यक्तियों ने राज्य की दौलत को लूटा। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन लोगों ने अपने स्वार्थी राजनैतिक हितों के लिए राज्य को बेरहमी से लूटा है, जिससे राज्य के विकास में रुकावट आई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि साल 2022 के विधान सभा मतदान के दौरान राज्य के लोगों की तरफ से इन नेताओं को राजनैतिक गुमनामी में भेज दिया गया था। उन्होंने कहा कि चाहे लोगों ने विधान सभा मतदान में समूचे बादल परिवार को राजनैतिक क्षेत्र में से बाहर कर दिया था परन्तु अब समय आ गया है जब इनके एकमात्र हुए चेहरे को भी बठिंडा हलके से बाहर का रास्ता दिखाया जाये। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन लोगों ने अपने संकुचित राजनैतिक हितों के लिए राज्य को बर्बाद किया है और अब समय आ गया है जब इनको अपने गुनाहों का सबक सिखाया जाये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पारंपरिक पार्टियाँ राज्य में आम आदमी की सरकार के अच्छे कामों से बहुत दुखी हैं जिस कारण वह सरकार के विरुद्ध घटिया साजिशें रच रही हैं। उन्होंने कहा कि पारंपरिक पार्टियाँ उनसे ईर्ष्या करती हैं क्योंकि वह एक साधारण परिवार से सम्बन्धित हैं और लोगों की भलाई के लिए अथक मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन नेताओं को भ्रम था कि सिर्फ़ उनके पास शासन करने का ईश्वरीय हक है, जिस कारण इनको एक साधारण घर के मुख्यमंत्री की तरफ से चलाए जा रहे अच्छे शासन की बात हज़म नहीं हो रही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार आम आदमी की भलाई के मकसद से लिए गए यह सभी जन हितैषी फ़ैसलों को हज़म नहीं कर पा रही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से आम आदमी क्लीनिकों के लिए फंड रोके हुए हैं और राज्य को ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कें बनाने से रोकने के लिए 5500 करोड़ रुपए के ग्रामीण विकास फंड भी रोक दिए गए हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यदि यह फंड राज्य सरकार को मुहैया करवा दिए जाते तो अब तक गाँवों को जोड़ने के लिए 67000 किलोमीटर सड़कों का कायाकल्प कर दिया जाना था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने हमें रेल गाड़ीयाँ न देकर ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना’ को सोची- समझी साजिश के साथ ठप्प कर दिया। उन्होंने कहा कि 7 और 15 दिसंबर को रवाना होने वाली रेल गाड़ीयाँ अदायगी करने के बावजूद राज्य को नहीं दीं गई। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इसका एकमात्र मकसद पंजाब निवासियों को धार्मिक स्थानों पर नतमस्तक होने से वंचित रखना है परन्तु केंद्र सरकार के इन मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया जायेगा।

मान ने पंजाब निवासियों को भाजपा के पंजाब विरोधी पैंतरे पर भाजपा नेताओं कैप्टन अमरिन्दर सिंह और सुनील जाखड़ की चुप्पी पर सवाल उठाने के लिए भी कहा। मुख्यमंत्री ने व्यंग्य करते हुये कहा, “चाहे रेलवे इस स्कीम के लिए रेल गाड़ियां चलाने के लिए कोई इंजन न होने का हवाला दे रहा है परन्तु प्रधानमंत्री रोज़मर्रा शेखी मार रहे हैं कि डबल इंजन वाली सरकार होनी चाहिए। ऐसे दोहरे इंजन वाली सरकार का क्या फ़ायदा, यदि लोगों को उनकी भलाई के लिए बनाईं गई स्कीमों का लाभ नहीं मिलता।“

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह कपास पट्टी में नरमे में से सुंडियों के ख़ात्मे के लिए स्प्रे की जाती है, उसी तरह अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली ईमानदार पार्टी देश में राजनैतिक ढांचे को साफ कर रही है।

वहीं, केजरीवाल ने अपने संबोधन में कहा कि पिछली सरकारों ने कभी भी बठिंडा के सर्वांगीण विकास के लिए 1125 करोड़ रुपए नहीं दिए। उन्होंने कहा कि भगवंत सिंह मान की सरकार की तरफ से होशियारपुर और गुरदासपुर जिलों के व्यापक विकास के लिए इसी तरह के पैकेज दिए गए थे और अब इस पैकेज के लिए बठिंडा को चुना गया है। अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि इन फंडों का प्रयोग अत्याधुनिक स्कूलों, अस्पतालों की स्थापना और लोगों को और सहूलतें प्रदान करने के लिए किया जायेगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले राज्य सरकारें दावा करती थीं कि विकास और लोगों की भलाई के लिए उनके पास सरकारी खजाने में कोई पैसा नहीं है। उन्होंने कहा कि भगवंत सिंह मान की सरकार ने सभी चोर-दरवाजे बंद कर दिये हैं और अब यह पैसा आम आदमी की भलाई के लिए सूझ-बूझ के साथ खर्च किया जा रहा है। अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि लोगों को मुफ़्त और मानक शिक्षा के साथ-साथ सेहत सुविधाएं भी मुहैया करवाई जा रही हैं और राज्य में हर क्षेत्र में पूर्ण तबदीली देखने को मिल रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि वह ‘रंगला पंजाब’ बनाने का अंतिम उद्देश्य को पूरा होने तक लोगों के लिए तन-मन से काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि भगवंत सिंह मान के नेतृत्व में पंजाब हर क्षेत्र में नयी बुलन्दियां छू रहा है और यह अपने आप में एक रिकार्ड है।

भाजपा का बस चले तो राष्ट्रगीत में से पंजाब का नाम भी हटा दे

मुख्यमंत्री ने फिर दोहराया कि मोदी सरकार पंजाब विरोधी है जिस कारण वहराज्य को बर्बाद करने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा के नेतृत्व वाली एन. डी. ए. सरकार की मर्ज़ी चले तो वह राष्ट्रीय गीत में से भी पंजाब का नाम हटा देंगे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि हैरानी की बात है कि इस सौतेली माँ वाले सलूक के बावजूद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री समेत राज्य भाजपा प्रधान ने इस मामले पर बिल्कुल चुप्पी साधी हुई है।

The post किसी भी सरकार ने बठिंडा के विकास के लिए इतना बड़ा पैकेज नहीं दिया- केजरीवाल first appeared on .