Monday , March 4 2024

पंजाब के सरकारी स्कूलों में अभिभावकों-अध्यापक मिलनी 16 दिसंबर को

स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस द्वारा अभिभावकों को मेगा पी.टी.एम. में शामिल होने का न्योता, कहा ‘‘माता- पिता शिक्षा क्रांति के गवाह बनें ’’ 

चंडीगढ़, 15 दिसंबर: मुख्यमंत्री पंजाब स. भगवंत सिंह मान द्वारा एक वॉयस मैसेज जारी करते हुए राज्य के सरकारी स्कूलों में शिक्षा हासिल कर रहे विद्यार्थियों के माता-पिता को न्योता दिया कि वह मेगा पी.टी.एम. में ज़रूर जाएँ, जिससे वह बच्चों सम्बन्धी जानकारी हासिल करने के साथ-साथ शिक्षा सुधार सम्बन्धी कोई सुझाव देना चाहता हैं तो वह भी ज़रूर दें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के सभी सरकारी स्कूलों के स्तर को ऊँचा उठाने के लिए और उनकी शान बहाल करने के लिए वचनबद्ध है और कोशिशें कर रही है।

 

उन्होंने कहा कि इसमें अध्यापक और माता-पिता बच्चों की फीडबैक एक दूसरे के साथ साझा करेंगे। बच्चा स्कूल में क्या करता है या स्कूल के बाद बच्चों की क्या ऐक्टिविटी रहती है, यह अध्यापकों को भी पता होनी चाहिए, ताकि स्कूलों के जो प्रबंध हैं उनके बारे में भी मता-पिता को पता लग सके, उन्होंने कहा कि माता-पिता अपने बच्चो के भविष्य संबंधी सुझाव भी देे और अगर कोई शिकवा-शिकायतें हैं तो भी वह भी साझे करें।

अपने संदेश में उन्होंने कहा कि उनका सपना पंजाब को फिर से रंगला पंजाब बनाना है, जिसको साकार करने के लिए हम सभी एक दूसरे के साथ मिलकर काम करेंगे।

 

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व अधीन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा स्कूल शिक्षा में गुणात्मक सुधार और क्रांतिकारी बदलाव लाने के लिए किए जा रहे कार्यों की श्रृंखला में पंजाब के 19,109 सरकारी प्राईमरी और अपर-प्राईमरी स्कूलों में तारीख़ 16 दिसंबर, 2023 को अभिभावक-अध्यापक मिलनी करवाई जा रही है, जिसमें 20 लाख से अधिक अभिभावक शामिल होंगे।

 

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने बताया कि सुबह 10:00 बजे के बाद दोपहर 3:30 बजे तक चलने वाले इस प्रोग्राम में अध्यापक, विद्यार्थी और उनके माता-पिता, स्कूल मैनेजमेंट कमेटियों और अन्य आदरणीय व्यक्ति मिल बैठकर स्कूल शिक्षा के प्रबंधों को बेहतर बनाने के लिए विचार करेंगे। उन्होंने कहा कि इस मौके पर स्कूलों में किए जा रहे कार्यों को प्रदर्शित करने वाली प्रदरशनियां, पुस्तकालयों और अकादमिक उपलब्धियाँ इस प्रोग्राम का आकर्षण का केंद्र होंगी।

 

उन्होंने बताया कि इस मेगा पी.टी.एम. का उद्देश्य अभिभावकों और अध्यापकों के बीच विद्यार्थियों की अब तक की कारगुज़ारी संबंधी सीधी फीडबैक साझा करना है। इसके अलावा मिशन समर्थ, मिशन 100 फीसदी, विद्यार्थियों की स्कूल में हाजिऱी और नये दाखि़लों संबंधी जानकारी साझा करने में भी सहायक सिद्ध होगी।

 

स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने अभिभावकों को मेगा पी.टी.एम. में शामिल होने का न्योता देते हुए कहा कि इस मेगा पी.टी.एम में हिस्सा लेकर वह भी शिक्षा क्रांति के गवाह बनें।

 

शिक्षा मंत्री ने अपने बुलावे में अभिभावकों को कहा कि वह इस मेगा पी.टी.एम. में ज़रूर भाग लें और भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा राज्य के सरकारी स्कूलों को बेहतरीन बनाने के लिए शुरू किये गए प्रयास जैसे कि कैंपस मैनेजर, सिक्योरिटी गार्ड, क्लास रूम, लैब्स, ग्राऊंड, ट्रांसपोर्ट सर्विस, स्कूल ऑफ ऐमीनैंस, विद्यार्थियों की वर्दी आदि को अच्छी तरह से देख सकें।

 

उन्होंने स्कूल विद्यार्थियों को भी अपील की कि वह इस मेगा पी.टी.एम. में अपने माता-पिता या दादा- दादी को ज़रूर लेकर आएं।