Friday , February 23 2024

मुख्यमंत्री मान का सरकारी कार्यालयों का औचक दौरा जारी, होशियारपुर में तहसील कॉम्पलैक्स का लिया जायजा

लोगों को दी जा रही सेवाओं के बारे में जाना

लोगों की शिकायतों के निपटारे के लिए तहसील कॉम्पलैक्स में अपना कैंप दफ़्तर स्थापित करने के लिए डीसी और एसएसपी को निर्देश  

खबर खास, होशियारपुर :

मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान का सरकारी दफ्तरों की औचक जांच की कार्यवाही जारी है। वीरवार को इसी क्रम में उन्होंने होशियारपुर के स्थानीय तहसील कॉम्पलैक्स में लोगों को नागरिक केंद्रित सेवाएं निर्विघ्न मुहैया करवाने के लिए जांच की। उन्होंने यहां कॉम्पलैक्स के मुआइने के साथ-साथ अलग-अलग कार्यालयों की जांच भी की और वहां मौजूद लोगों से बातचीत की।

इस दौरान सीएम ने कहा कि राज्य सरकार पंजाब के सर्वांगीण विकास और यहाँ के लोगों की खुशहाली के लिए वचनबद्ध है। स्थिति का जायजा लेने के लिए मुख्यमंत्री के ख़ुद लोगों में आने के कारण लोगों ने उनका खुलकर स्वागत किया। अपनी सुरक्षा की परवाह किये बिना मान ने भी लोगों के साथ जोश के साथ मुलाकात की और उनका हाल-चाल पूछा। तहसील कॉम्पलैक्स में मौजूद लोगों ने उनकी तारीफ करते हुए उनके काम को सराहा। है।

निरीक्षण के दौरान उपस्थित लोगों ने मुख्यमंत्री के साथ सैल्फी भी ली और लोक कल्याण के लिए किये जा रहे शानदार कार्यों के लिए उनका धन्यवाद किया। इस दौरान मान ने कहा कि पंजाब सरकार समाज के हर वर्ग के सर्वांगीण विकास के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य में इस नेक कार्य के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी और लोगों को इसका भरपूर लाभ मिलेगा।

उन्होंने कार्यालयों में स्टाफ के साथ बातचीत के दौरान उनको मिशनरी भावना के साथ लोगों की सेवा करने का आह्वान किया। भगवंत सिंह मान ने उनको समाज के जरूरतमंद और पिछड़े वर्गों की मदद के लिए अपनी कलम का प्रयोग करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि परमात्मा ने उनको शक्ति दी है और वह जनता की अधिक से अधिक भलाई सुनिश्चित बनाएं, जिससे समाज के हर वर्ग को इसका लाभ मिल सके, उन्होंने डीसी और एसएसपी को कहा कि वह लोगों के मसले हल करने के लिए तहसील कॉम्पलैक्स में अपने कैंप दफ़्तर स्थापित करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब ने हमेशा ही हर क्षेत्र में देश का नेतृत्व किया है और इस बात से कोई भी अंजान नहीं कि देश के लिए अपनी जानें कुर्बान करने वाले 90 फीसदी से अधिक महान देश भक्त पंजाबी थे। उन्होंने कहा कि जब भी भारत को आंतरिक या बाहरी हमलों की चुनौती का सामना करना पड़ा तो पंजाबियों ने आगे होकर देश का नेतृत्व किया। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इस तथ्य से हर कोई अवगत है कि राज्य के मेहनती किसानों ने देश को अनाज उत्पादन में आत्म-निर्भर बनाने में अहम भूमिका निभाई है।

आरडीएफ, एनएचएम और दूसरे फंडों में राज्य के हिस्से रोकने की निंदा

इस दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने आर.डी.एफ., एन.एच.एम. और अन्य फंडों में राज्य के बनते हिस्से को रोकने के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कि केंद्र द्वारा राज्य के साथ सौतेली माँ वाला बर्ताव किया जा रहा है, जोकि पूरी तरह से गलत है। मान ने कहा कि केंद्र सरकार को बड़ी गलतफहमी है क्योंकि वह समझती है कि वह फंडों को रोक कर राज्य के विकास को रोक सकती है।

एसवाइएल पर दृढ़ता से रखेंगे राज्य का पक्ष

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह एस.वाई.एल. मुद्दे पर केंद्रीय जल संसाधन मंत्री द्वारा बुलाई गई मीटिंग में ज़रूर शामिल होंगे। सीएम मान ने कहा कि वह मीटिंग में राज्य का मामला दृढ़ता से केंद्र सरकार के समक्ष रखेंगे। उन्होंने आगे कहा कि पंजाब के पास किसी अन्य राज्य को देने के लिए कोई अतिरिक्त पानी नहीं है और मीटिंग में यह मुद्दा ठोस रूप से पेश किया जायेगा। मान ने कहा कि न तो उन्होंने एस.वाई.एल. के बारे में सर्वे की माँग की थी और न ही वह इस नहर के चांदी की कस्सी के साथ नींव पत्थर रखने सम्बन्धी समारोह में शामिल थे। इसलिए वह राज्य के हितों की पुरज़ोर वकालत करेंगे। उन्होंने कहा कि जिन्होंने यह पाप किये हैं, वह 1 नवंबर को बहस से भाग गए थे क्योंकि वह राज्य को चोट पहुँचाने वाली घिनौनी हरकतों का हिस्सा थे।

सुखबीर बादल पर साधा निशाना

शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सभा सदस्य द्वारा राजनीतिक तौर पर माफी मांगने का कोई फ़ायदा नहीं है क्योंकि गलतियां माफ हो सकतीं हैं परन्तु अपराध नहीं। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोग बादल परिवार को राज्य और इसके लोगों के विरुद्ध किए गए बड़े गुनाहों के लिए कभी भी माफ नहीं करेंगे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि बादल परिवार ने अपने निजी हितों की पूर्ति के लिए सत्ता का दुरुपयोग करते हुए राज्य को बर्बादी की तरफ धकेला है।