Monday , March 4 2024

संयुक्त शमशनघाट बनाने वाले 29 गांवों को दिया जाएगा 5-5 लाख रुपए का अनुदान

ग्रामीण एवं पंचायत विकासमंत्री ने दी फाइल को मंजूरी

29 गांवों के लिए 1.45 करोड़ रुपए की राशि जल्द होगी जारी

पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान 39 गांवों को जारी किए 1.95 करोड़ रुपए

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब सरकार गांवों में साझा शमशानघाट बनाने वाले 29 गांवों को 5-5 लाख रुपए की ग्रांट जारी करेगी। इस संबंध में फाइल को ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री लालजीत सिंह भुल्लर ने मंज़ूरी दे दी है।

इस बारे में मंत्री भुल्लर ने बताया कि 1 करोड़ 45 लाख रुपए की अनुदान राशि जिला फतेहगढ़ साहिब के गांव शहीदगढ़, सैंपला, मुहम्मदीपुर, धतौंदा और धनौला, जिला पठानकोट के गांव घोह, जिला रोपड़ के गांव झल्लियां कलां, रामपुर और गोपालपुर, जिला संगरूर के गांव खाई, जिला पटियाला के गांव हरचन्दपुरा, गज्जूमाजरा, सनौलियां और सुक्खेवाल, तरन तारन के गांव किडिया, चंबल, डलीरी, माड़ी समरां और जवन्दपुर, ज़िला एसएएस नगर के गांव महरौली और ढकोरां कलां, अमृतसर के गांव छन्न घोगा व मुमन्द और लुधियाना के गांव रब्बों नीची, खानपुर मंड, जुलफगढ़, कीड़ी, नया सलेमपुरा और गाँव भाडेवाल को जल्द ही जारी की जाएगी।

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि राज्य में बहुत से गांव ऐसे हैं, जहां अलग-अलग धर्मों के लिए अलग-अलग शमशानघाट हैं और इनमें से कोई भी शमशानघाट मुकम्मल रूप में विकसित नहीं है। उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार की योजना के अनुसार एक से अधिक शमशानघाट वाले गांवों में से अगर किसी गांव की पंचायत एक शमशानघाट बनाने का फैसला करती है तो सरकार उस गांव को 5 लाख रुपए की विशेष ग्रांट देगी।

उन्होंने कहा कि पंचायत अनुदान राशि को सम्बन्धित शमशानघाट के विकास के लिए ख़र्च कर सकती है या पुराने शमशानघाट वाले स्थानों को अन्य मंतव्यों जैसे पार्कों आदि में तबदील करने के लिए इस्तेमाल कर सकती है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार के इस प्रयास से गांवों में आपसी-भाईचारे को भरपूर प्रोत्साहन मिलेगा।

बता दें कि मुख्यमंत्रीस. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान साझे शमशाघाट बनाने वाली 39 ग्राम पंचायतों को 1.95 करोड़ रुपए की राशि बांटी जा चुकी है।