Saturday , June 22 2024

धान के सीजन के दौरान किसानों को निर्विघ्न व निरंतर बिजली मुहैया करवाने के लिए सरकार वचनबद्ध : मान

कहा, किसानों को किसी तरह परेशानी से बचाने के लिए बिजली की सप्लाई के लिए उचित इंतज़ाम किये
खबर खास, चंडीगढ़ :
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आज कहा कि राज्य सरकार धान के सीजन के दौरान किसानों को निर्विघ्न एवं निरंतर बिजली सप्लाई मुहैया करवाने के लिए पूर्ण तौर पर वचनबद्ध है। राज्य के सीनियर अधिकारियों के साथ मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये मुख्यमंत्री ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि धान के सीजन के दौरान सरकार किसानों को कम से कम आठ घंटे बिजली स्पलाई करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने निरंतर बिजली सप्लाई के लिए उचित इंतज़ाम किये हैं जिससे धान के सीजन के दौरान किसानों को किसी किस्म की परेशानी का सामना न करना पड़े। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार ने इस सीजन के दौरान किसानों को बिजली सप्लाई यकीनी बनाने के लिए नये कीर्तिमान स्थापित करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुल्क को अनाज उत्पादन पक्ष से आत्म निर्भर बनाने के लिए राज्य के अनाज उत्पादकों ने हमेशा ही अग्रणी भूमिका अदा की है जिस कारण धान के सीजन के मौके किसानों को बिजली मुहैया करवाने के लिए दृढ़ वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि धान के सीजन के मद्देनज़र बिजली की माँग पूरी करने के लिए सरकार ने व्यापक बंदोबस्त किये हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब राज्य बिजली निगम द्वारा बिजली की अनुमानित माँग से अधिक प्रबंध किये गए हैं। भगवंत सिंह मान ने पी. एस. पी. सी. एल. और पी. एस. टी. सी. एल. को राज्य के सभी इलाकों में धान के सीजन के दौरान निरंतर और गर्मियों के दिनों में घरेलू खपतकारों को चारो पहर बिजली सप्लाई यकीनी बनाने के आदेश दिए गए हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों और अन्य उपभोक्ताओं की बिजली से सम्बन्धित शिकायतों के समय-बद्ध निपटारे के लिए उचित व्यवस्था मौजूद है। उन्होंने कहा कि शिकायतों का तत्काल निपटारा करने के लिए अतिरिक्त मुलाज़ीम तैनात किये गए हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि शिकायत केन्द्रों को मज़बूत बनाया गया है जिससे यह यकीनी बनाया जा सके कि किसी भी किसान को शिकायत के निपटारे में किसी किस्म की देरी का सामना न करना पड़े।
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि राज्य सरकार ने प्राईवेट कंपनी के स्वामित्व वाला जी. वी. के. थर्मल प्लांट 1080 करोड़ रुपए की कीमत के साथ खरीद कर बिजली क्षेत्र में बड़े सुधार किये हैं।

मान ने कहा कि पछवाड़ा कोयला खदान से पंजाब को अलाट हुआ कोयला सिर्फ़ सरकारी थर्मल प्लांटों के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है जिस कारण अब यह प्लांट खरीदने से कोयला इस प्लांट के लिए प्रयोग में लाया जा सकता है। उन्होंने आगे कहा कि यह हम सभी के लिए गौरव और संतोष की बात है कि राज्य सरकार के जन हितैषी फ़ैसले के कारण पंजाब में 90 प्रतिशत उपभोक्ताओं को ज़ीरो बिजली बिल आ रहा है।