Monday , May 20 2024

बठिंडा में भगवंत मान ने बादलों और कैप्टन पर साधा निशाना, लोगों से की खुड्डियां को वोट देने की अपील

सरदूलगढ़ में मान ने हरसिमरत बादल पर बोला हमला, कहा – वह किसान विरोधी बिलों को मंजूरी देने वाली कैबिनेट का हिस्सा थीं, किसान आंदोलन की ताकत देखने के बाद लिया था यू-टर्न

भगवंत मान ने कहा, नहरें रजवाहे पहले इस लिए चालू नहीं करवाए, क्योंकि नहरें उनके खेतों में जाकर खत्म होती थीं

भगवंत ने बठिंडा के लोगों से कहा, आप ने यहां पहले भी दिग्गजों को हराया है, अब समय आ गया है हरसिमरत बादल को हार वाला हार पहनाने का

खबर खास, चंडीगढ़/बठिंडा :

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोमवार को अपनी सरकार के दौरान पंजाब को लूटने और पंजाब विरोधी फैसले लेने के लिए हरसिमरत बादल, सुखबीर बादल, कैप्टन अमरिंदर सिंह, मनप्रीत बादल और अन्य विपक्षी नेताओं की आलोचना की। भगवंत मान सरदूलगढ़ में आप उम्मीदवार गुरमीत सिंह खुड्डियां के लिए प्रचार कर रहे थे, जहां उन्होंने एक विशाल जनसभा को संबोधित किया और पंजाबियों के खिलाफ अत्याचार का आरोप लगाते हुए बादल परिवार पर हमला बोला।

मान ने लोगों से अपील की कि आपने यहां प्रकाश सिंह बादल जैसे दिग्गजों को हराया है, अब हरसिमरत बादल को भी संसद से बाहर फेंकने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि वह मोदी सरकार की उस कैबिनेट का हिस्सा थीं जिसने किसान विरोधी बिलों को मंजूरी दी थी, प्रकाश सिंह बादल समेत पूरे बादल परिवार ने इन बिलों का बचाव किया था, बाद में जब उन्होंने किसान आंदोलन की ताकत देखी तो उन्होंने यू-टर्न ले लिया। इन चुनावों से पहले भी ये अकाली नेता दिल्ली जाकर बीजेपी से गठबंधन की गुहार लगाते थे।

उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र वंशवादी नेताओं का गढ़ हुआ करता था लेकिन अब समय बदल गया है। आपने उन सभी को हराया और आम लोगों को चुना। अब मैं आज उन लोगों के साथ मंच साझा कर रहा हूं जिन्हें आपने चुना है। वे आपके जैसे लोग हैं। उन्होंने कहा कि वे (पारंपरिक राजनेता) इस बात से अनजान थे कि आम आदमी की आंधी में उन्हें मौका नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस बार हरसिमरत बादल को हराना सुनिश्चित करें, ताकि बादल और मजीठिया परिवार एक-दूसरे की हार का मजाक न उड़ा सकें।

मान ने बीजेपी पर भी हमला बोला और कहा कि लोग उनके नेताओं को पंजाब के गांवों में भी नहीं जाने दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह न्याय है क्योंकि किसानों के विरोध के दौरान दिल्ली के शासकों ने हमारे किसानों को दिल्ली में घुसने नहीं दिया। उन्होंने कहा कि उन्होंने अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया। उन्हें लगता है कि वे आम आदमी पार्टी को खत्म कर देंगे, लेकिन अरविंद केजरीवाल सिर्फ एक व्यक्ति नहीं, वह एक विचार हैं, एक सोच हैं, वे (भाजपा) अरविंद केजरीवाल की सोच को नहीं रोक पाएंगे। मान ने कहा कि आम आदमी पार्टी काम की राजनीति करती है। हम धर्म, नफरत या बंटवारे की राजनीति नहीं करते। उन्होंने कहा कि बीजेपी को 400 सीटों के बारे में भूल जाना चाहिए, उनका जहाज डूब रहा है।

मान ने सुखबीर बादल पर हमला बोलते हुए कहा कि वह ‘परिवार बचाओ यात्रा’ निकाल रहे हैं, लेकिन वह गर्मी में बाहर भी नहीं जा सकते, उन्होंने अपनी जीप के ऊपर छत डाल रखी है। उन्होंने कहा कि उनकी एकमात्र रुचि सत्ता और धन-संपत्ति जमा करने में है। उन्होंने कहा कि सुखबीर बादल ने सुख विलास को सात सितारा होटल बनाया। इसका निर्माण पंजाबियों के खून से हुआ है। उन्होंने पंजाब को लूटा और चिट्टे से हमारे परिवारों और नौजवान पीढ़ियों को बर्बाद कर दिया और अपने लिए पहाड़ों में सुख विलास बसाया। मान ने कहा कि सुख विलास के प्रत्येक कमरे के साथ एक निजी पूल है। मान ने कहा कि वह उस जमीन को बादल परिवार से मुक्त कराएंगे और उसे स्कूल में बदल देंगे। यह प्रत्येक कक्षा में एक पूल वाला पहला स्कूल होगा। उन्होंने कहा कि उन्हें इन लोगों के कुकर्मों से भरी फाइलें दिखाई देती हैं, जहां उन्होंने हमारे खजाने को लूटा और अपने महल बनाए।

उन्होंने आगे कहा कि उनकी सरकार बनने के बाद से कई जलमार्ग फिर से खुले हैं। उन लोगों को कभी भी हमारे किसानों को पानी देने की परवाह नहीं थी। उन्हें तो कुछ पता ही नहीं, उनके अपने खेतों तक नहरें पहुंच रही थी तो उन्हें किसी और की क्या परवाह होगी। उन्होंने कहा कि उन्हें यह भी नहीं पता कि ‘कस्सी’ क्या होती है। मान ने कहा कि उन्होंने बादलों, मजीठिया, बाजवा, कैप्टन आदि को चुनौती दी है। पंजाबी टेस्ट पास करने के लिए कहा और कहा कि वह लिखकर दे सकते हैं कि पासिंग मार्क्स 20 होने पर भी वे फेल होंगे। उन्होंने कहा कि हरसिमरत बादल को लाल और हरी मिर्च का अंतर भी नहीं पता। उन्होंने कहा कि मनप्रीत बादल पंजाबी अखबार भी नहीं पढ़ सकते।

उन्होंने कहा कि हर पांच साल में वे आते हैं और एक और मौका मांगते हैं(हमारा पैसा और राज्य लूटने का एक मौका)। उन्होंने कहा कि सभी पारंपरिक नेता हाथ में हाथ डाले हुए हैं, उन्होंने बारी-बारी से हमारे संसाधनों और हमारे खजाने को लूटा। मान ने कहा कि वह 43 हजार सरकारी नौकरियां देकर वोट मांगने वालों में से हैं क्योंकि हम काम की राजनीति करते हैं।

उन्होंने कहा कि हाल ही में जब मैं चुनाव प्रचार के लिए गुजरात जा रहा था तो चंडीगढ़ से दिल्ली की फ्लाइट में मेरी मुलाकात एक लड़की से हुई। उसने मुझे धन्यवाद देते हुए कहा कि मैं कुछ दिन पहले ही पटवारी के पद पर भर्ती हुई हूं। अभी मेरा प्रशिक्षण काल चल रहा है लेकिन आपकी सरकार ने निर्णय लिया है कि कर्मचारियों को प्रशिक्षण के दौरान भी वेतन मिलेगा। मैंने अपने परिवार वालों से वादा किया था कि जब मुझे सरकारी नौकरी मिलेगी तो पहली सैलरी के पैसे से मैं अपनी दादी समेत परिवार के सभी सदस्यों को फ्लाइट से दिल्ली ले जाऊंगी। आज आपकी वजह से मेरा यह सपना पूरा हो गया है। उन्होंने कहा कि उस लड़की से मुलाकात ने उन्हें एक ही समय में खुश, गौरवान्वित और भावुक कर दिया।

मान ने कहा कि दिल्ली में पत्रकारों ने उनसे पूछा कि भ्रष्टाचार से हमारे देश को कितना नुकसान हुआ है? मैंने उनसे कहा कि भ्रष्टाचार बंद होने के बाद हम हिसाब लगाएंगे, क्योंकि भ्रष्टाचार अभी भी जारी है, शीर्ष पर लुटेरे हैं जो इस देश के संसाधनों और संस्थानों को पूंजिपतियों के हाथों बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस दिन केन्द्र में अरविंद केजरीवाल की सरकार बनेगी और अरविंद केजरीवाल प्रधानमंत्री बनेंगे उस दिन देश से भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा।

मान ने कहा कि पंजाब के किसानों का विकास हमारी पहली प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री बनने के बाद मैंने अधिकारियों की बैठक बुलाई और कहा कि किसानों को बिना कटौती के दिन में 11 घंटे बिजली दी जाए, ताकि उनका समय और ऊर्जा बर्बाद न हो। उन्होंने कहा कि इससे बिजली की भी बचत होती है और पंजाब ने उस बची हुई बिजली को 90 करोड़ में बड़े शहरों को बेचा। उन्होंने कहा कि वह एक ईमानदार नेता हैं, उन्होंने जनता का एक पैसा भी नहीं खाया क्योंकि वह लोगों का भरोसा कभी नहीं तोड़ना चाहते।

मान ने कहा कि आज सुखबीर बादल कह रहे हैं कि वह किसान हैं। अगर वह किसान हैं तो ट्रांसपोर्ट का मालिक कौन है? उनके सात सितारा होटलों का मालिक कौन है? मान ने कहा कि कांग्रेस, अकाली और भाजपा नेताओं से हाथ मिलाने के बाद लोग उंगलियां गिनते हैं। वहीं दूसरी ओर उन्हें इतना प्यार और समर्थन मिल रहा है कि वह इस प्यार का कर्ज सात जन्मों में भी नहीं चुका सकते। उन्होंने लोगों से कहा कि आप किसी बात की चिंता मत कीजिए, हमारी सरकार आपके लिए काम करती रहेगी, बस संसद में 13 सांसद देकर हमें मजबूत कर दीजिए।