Monday , May 20 2024

नेचर हाइट्स इंफ्रा घोटाला में नौ सालों से फरार आरोपी नीरज अरोड़ा चढ़ा पुलिस के हत्थे

उत्तराखंड से किया पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार, पुलिस टीम ने उसके पास से बीएमडब्ल्यू कार, मोबाइल फोन और दस्तावेज किए बरामद

लगभग 92 मामलों में पीओ घोषित आरोपी नीरज अरोड़ा गिरफ़्तारी से बचने के लिए नकली पहचान पत्रों का कर रहा था प्रयोग
खबर खास, चंडीगढ़/फाजिल्का :
करोड़ों रुपए के नेचर हाइट्स इंफ्रा स्कैम में बड़ी सफलता हासिल करते हुए फरीदकोट और फाजिल्का पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर पिछले आठ-नौ सालों से फरार चल रहे मुख्य आरोपी नीरज थठाई उर्फ नीरज अरोड़ा को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पुलिस ने उसे उत्तराखंड के पौड़ी जिले से गिरफ्तार किया है। आरोप है कि वह लोगों को रिहायशी/व्यापारिक प्लॉट देने का झांसा देकर बड़ी रकम ठगता था। इससे पहले इस मामले में पुलिस फाजिल्का के अमनदीप कंबोज उर्फ अमन सकोडा को गिरफ्तार कर चुकी है। अमनदीप आठ मामलों में पीओ था और 18 मामलों में बेल जंपर था। उसे 15 मार्च को फाजिल्का पुलिस के पीओ स्टाफ ने वाराणसी से गिरफ्तार किया था।इस संदर्भ में फरीदकोट रेंज के आईजीपी गुरशरन सिंह संधू और फिरोजपुर रेंज के डीआईजी रणजीत सिंह ढिल्लों ने मंगलवार को संयुक्त तौर पर पत्रकारवर्ता आयोजित की। उन्होंने बताया कि एसपी इन्वेस्टिगेशन फाजिल्का प्रदीप सिंह संधू और डीएसपी नार्कोटिक्स फरीदकोट इकबाल सिंह संधू के नेतृत्व में दोनों जिलों की पुलिस टीमों ने मोस्ट वांटेड अपराधी नीरज अरोड़ा को श्री नगर गढ़वाल जि़ला पौड़ी, उत्तराखंड से गिरफ्तार किया है। पुलिस टीमों ने आरोपी नीरज अरोड़ा के कब्ज़े से एक लग्जरी बीएमडब्ल्यू कार, कुछ मोबाइल फोन और जाली दस्तावेज भी बरामद किये हैं।

आईजीपी संधू ने बताया कि आरोपी राज्य में लोगों को पैसे या प्लाट देने का झांसा देकर धोखाधड़ी कर रहा था। उसके खिलाफ 21 जिलों में 108 मामले दर्ज हैं। इनमें से 47 मामले फाजिल्का, फिरोजपुर में 8, पटियाला व फतेहगढ़ साहिब में 6-6, रूपनगर-एसएएस नगर मोहाली में 5-5, फरीदकोट-श्री मुक्तसर साहिब और जालंधर कमिश्नरेट में 4-4 मामले दर्ज हैं।गौर रहे कि फाजिल्का पुलिस की ओर से 2016 में गिरफ्तार किए आरोपी नीरज अरोड़ा ने जमानत बेल जम्प कर दी थी और फरवरी 2017 में उसे पीओ घोषित कर दिया गया था। इन्फोर्समैंट डायरैक्टोरेट ने नीरज थठायी के खि़लाफ केस दर्ज किये और जायदाद ज़ब्त की हैं, जबकि पीडि़तों द्वारा दायर की गई कई रिट पटीशन पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट, चंडीगढ़ में लंबित हैं।

डीआईजी ढिल्लों ने बताया कि आरोपी अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए नकली पहचानपत्र का प्रयोग कर रहा था। आरोपी के पास पंजाब और मध्यप्रदेश में 1200 एकड़ से अधिक जमीन और 200 रिहायशी फ्लैट हैं, जिनकी कीमत 1000 करोड़ रुपए से अधिक बताई जा रही है।

फरीदकोट और फाजिल्का पुलिस ने 2024 में 211 भगौड़े किए गिरफ्तार

भगौड़ा अपराधियों (पी.ओ.) को गिरफ़्तार करने के लिए चल रही विशेष मुहिम के अंतर्गत फाजिल्का पुलिस और फरीदकोट पुलिस ने इस साल अब तक 211 पी.ओ. को गिरफ़्तार किया है। फाजिल्का पुलिस ने 150 पी.ओज़ को गिरफ़्तार किया है, जबकि फरीदकोट पुलिस ने 61 पी.ओ. गिरफ्तार किये हैं।