Saturday , April 20 2024

पठानकोट को विशेष औद्योगिक और व्यापारिक पैकेज देने की संभावना तलाशेंगे: मुख्यमंत्री

सरहदी कस्बे में उड़ानें शुरू करने और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रयास करने का ऐलान
सनी देओल के संसद में न जाने और इलाके के लोगों की पीठ में छुरा घोंपने की निंदा
पंजाब में दूसरी सरकार-व्यापार मिलनी करवाई
समाज के हर वर्ग की भलाई सुनिश्चित बनाने का लिया प्रण
खबर खास, पठानकोट :
पठानकोट जिले के विकास को बढ़ावा देने का ऐलान करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार सरहदी कस्बे को विशेष औद्योगिक और व्यापारिक पैकेज देने की संभावना तलाशेगी।
मुख्यमंत्री ने दूसरी सरकार-व्यापार मिलनी के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह पठानकोट हवाई अड्डे से दिल्ली के लिए उड़ानें शुरू करने का मुद्दा निजी तौर पर भारत सरकार के समक्ष उठाएंगे। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए पहले ही बड़े स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं क्योंकि यह प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है और यह उद्योग को बढ़ावा दे सकता है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार इस क्षेत्र में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए विशेष पैकेज देने की संभावना भी तलाशेगी। भाजपा नेता और स्थानीय संसद मैंबर सनी देओल पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहाँ से चुने जाने के बावजूद वह पठानकोट की भौगोलिकता से अनजान है और वह शर्त लगा सकते हैं कि सनी देओल को यह पता नहीं होगा कि पठानकोट जिले में धार कलाँ या चमरौड़ कहाँ है। उन्होंने कहा कि पठानकोट के लोगों ने इस बॉलीवुड स्टार को चुनकर गलती की है, जिसका लोगों और इलाके से कोई सम्बन्ध नहीं है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इससे इलाके के विकास को ख़तरा पैदा हुआ है परन्तु राज्य सरकार इलाके के विकास को बढ़ावा देने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी।
मुख्यमंत्री ने गुरदासपुर से लोक सभा मैंबर सनी देओल को याद करवाया कि राजनीति कोई सुबह नौ से शाम पाँच बजे का काम नहीं है, बल्कि राजनीतिज्ञ को हमेशा लोगों के लिए उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने अफ़सोस जताया कि लोगों का चुना प्रतिनिधि सनी देओल न तो संसद में गया और न ही कभी अपने हलके का दौरा किया। भगवंत सिंह मान ने व्यंग्य कसते हुए कहा कि फिल्मी दुनिया का चमकता सितारा सरहदों से पार तक गया परन्तु उसने कभी भी इस सरहदी क्षेत्र के लोगों का हाल-चाल नहीं पूछा, जिन्होंने उसे चुना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बुद्धिमान लोगों को राज्य से बाहर से किसी बड़े नाम को चुनने की बजाय ऐसे व्यक्ति को वोट डालनी चाहिए, जो स्थानीय हो और लोगों के लिए हमेशा उपलब्ध हो। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य में बहुत से समर्पित नेता हैं, जो राज्य की सेवा पूरी लगन और निष्ठा से कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोग बाहर से आए पैराशूट नेताओं को चुनने की बजाय इन नेताओं को ही वोट डालें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार-व्यापार मिलनी का उद्देश्य राज्य में व्यापारी भाईचारे को दरपेश सभी मुद्दों को हल करना है। उन्होंने कहा कि व्यापारी राज्य की तरक्की में अहम भूमिका निभाते हैं, जिस कारण राज्य सरकार ने व्यापारियों को दरपेश समस्याओं के समाधान के लिए यह ऐतिहासिक पहल की है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इस नेक कार्य का मंतव्य व्यापारियों को बराबर का हिस्सेदार बनाकर क्षेत्र में व्यापार और उद्योग को बढ़ावा देना है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने एक और ऐतिहासिक पहल करते हुए ‘आप दी सरकार, आप दे दुआर’ योजना शुरू की है, जिसका उद्देश्य सरकार को लोगों के दरवाज़े पर पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि पहले सरकारें चंडीगढ़ से चलती थीं परन्तु अब गाँवों से चलाई जा रही हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि सरकारी दफ़्तरों में काम के लिए लोगों को एक से दूसरी जगह घुमाने के पुराने रुझान की बजाय अफ़सरों को फील्ड में भेजकर लोगों को सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अंतर्गत राज्य सरकार ने दिसंबर 2023 में नागरिकों को 43 महत्वपूर्ण सेवाएं मुहैया करने की शुरुआत करके बड़ी सरकारी सेवाएं घर-घर पहुँचाने के लिए फ्लैगशिप स्कीम शुरू की थी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इस स्कीम के अंतर्गत नागरिक 1076 नंबर पर कॉल करके लोग काम के लिए अपनी सुविधा के अनुसार सरकारी कर्मचारियों को बुला सकते हैं और आवेदन कर सकते हैं। इसके अंतर्गत नागरिकों को सम्बन्धित काम का सर्टिफिकेट भी घर पर मिलेगा। उन्होंने कहा कि अब इससे आगे जाकर राज्य सरकार ने एक और अहम पहल ‘आप दी सरकार, आप दे दुआर’ के अंतर्गत राज्य भर में कैंप लगाकर नागरिकों तक पहुँच की है और राज्य की हर तहसील में रोज़ाना के चार कैंप लगाए जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने लोगों को बड़ी राहत देते हुए समझौतों का उल्लंघन करने वाले टोल प्लाजों को बंद कर दिया है। उन्होंने कहा कि इससे लोगों को बड़ी सुविधा मिली है क्योंकि उनको इन टोल प्लाजों पर भारी पैसा देना पड़ता था। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इसका एकमात्र उद्देश्य यह सुनिश्चित बनाना है कि राज्य में आने-जाने के समय लोगों को किसी किस्म की दिक्कत का सामना न करना पड़े। मुख्यमंत्री ने दोहराया कि राज्य सरकार ने अलग-अलग रंगों वाले स्टैंप पेपरों की शुरुआत करके अनूठी पहल की है, जो राज्य में औद्योगिक क्रांति के नये युग की शुरुआत करने की ओर एक कदम है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब ऐसा पहला राज्य है, जिसने उद्यमियों को अपने यूनिट स्थापित करने के लिए हरे रंग के स्टैंप पेपर जारी किये हैं, जिससे राज्य के औद्योगिक विकास को अपेक्षित बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने इसको क्रांतिकारी कदम बताया, जिसका उद्देश्य राज्य में अपनी इकाईयाँ स्थापित करने के इच्छुक उद्यमियों के लिए कारोबार करने की सुविधा सुनिश्चित बनाना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापारी बड़ी संख्या में लोगों को नौकरियाँ मुहैया करते हैं, जिस कारण वह राज्य की तरक्की और खुशहाली में सक्रिय भूमिका निभाते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा व्यापारियों की सुविधा के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं, जिसके लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जा रही है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि व्यापारियों द्वारा राज्य को टैक्स के तौर पर दिए पैसों का लोगों की भलाई के लिए सही प्रयोग किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अपनी किस्म की इस पहली पहल का मंतव्य व्यापारी भाईचारो की भलाई सुनिश्चित बनाना है। उन्होंने कहा कि यह पंजाब के आर्थिक विकास को बढ़ावा देकर राज्य की पुरातन शान बहाल करने की ओर एक कदम है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि उद्योग और व्यापार हर राज्य की आर्थिकता की रीढ़ की हड्डी होते हैं, जिस कारण इसको ज़रूर बढ़ावा देना चाहिए। मुख्यमंत्री ने दोहराया कि रिवायती पार्टियाँ उनसे ईष्र्या करती हैं क्योंकि वह एक आम परिवार से सम्बन्धित हैं और लोगों की भलाई सुनिश्चित बनाने के लिए अथक मेहनत कर रहे हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन नेताओं को हमेशा यह विश्वास रहा कि उनके पास राज करने का दैवी अधिकार है, जिस कारण उनको यह बात हज़म नहीं हो रही कि एक आम आदमी राज्य को सफलता से चला रहा है। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने लम्बा समय लोगों को मूर्ख बनाया परन्तु अब लोग इनके गुमराह करने वाले प्रचार में नहीं आऐंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार राज्य के विकास को बढ़ावा देने और समाज के हर वर्ग की भलाई सुनिश्चित बनाने के लिए बड़े स्तर पर कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही गर्व की बात है कि राज्य के 90 प्रतिशत घरों को बिजली मुफ़्त मिल रही है, 40 हज़ार से अधिक नौजवानों को सरकारी नौकरियाँ मिली हैं, 664 आम आदमी क्लीनिकों में लोगों का मुफ़्त इलाज किया जा रहा है, विद्यार्थियों को मानक शिक्षा प्रदान करने के लिए स्कूल ऑफ ऐमिनेंस खोले जा रहे हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह सिलसिला आने वाले समय में भी जारी रखा जाएगा, जिससे राज्य के हरेक निवासी को इसका लाभ मिल सके।

The post पठानकोट को विशेष औद्योगिक और व्यापारिक पैकेज देने की संभावना तलाशेंगे: मुख्यमंत्री first appeared on Khabar Khaas.