Wednesday , April 24 2024

Breaking : शंभू बैरियर पर किसानों पर पुलिस कार्यवाही के विरोध में किसान यूनियन रोकेगी रेल

दिल्ली कूच को तैयार दिखे किसान, आंसू गैस से निपटने की कर रहे तैयारी
बीते रोज किसानों पर आंसू गैस छोड़ने की घटनाओं पर पंधेर ने जताई नाराजगी
राहुल गांधी ने फोन कर जाना घायल किसानों का हाल
खबर खास, चंडीगढ़:
शंभू बैरियर पर किसानों पर हुई पुलिस कार्यवाही के विरोध में किसानों द्वारा कल 14 फरवरी को रेल रोकने की घोषण की है। किसान यूनियन उग्रहां के अध्यक्ष जोगिंदर सिंह उग्रहां ने कहा पंजाब में कल 12 बजे से 4 बजे तक रेलें रोकी जाएंगी
प्ंजाब के किसानों का दिल्ली जाने का आज दूसरा दिन है। किसानों ने शंभू और खनौरी बार्डर से हरियाणा में घुसने की कोशिश लगातार जारी हैं। किसान नेता सरवण सिंह पंधेर ने साफ किया है कि किसान हर हाल में दिल्ली जाएंगे। वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीते रोज घायल हुए किसानों को फोन कर उनका हाल चाल जाना।
आज बीते रोज शंभू बार्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प को लेकर किसान चाक चैबंद हो गए हैं। बुधवार को किसान दिल्ली कूच के लिए तैयार दिखे। शंभू बार्डर पर किसानों ने आगे बढ़ने की फिर से कोशिश की। यहां किसान आंसू गैस के धुएं को हटाने के लिए बड़े-बड़े पंखे चला रहे हैं। किसान मजदूर मोर्चा के नेता सरवण सिंह पंधेर ने कहा कि हर हाल में किसान दिल्ली तक जाएंगे।
पंधेर ने किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़ने को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए यहां आयोजित पत्रकारवार्ता में कहा कि किसानों के बारे में गलत धारण बनाने की कोशिश हो रही है। पंधेर ने कहा कि किसान एमएसपी गारंटी कानून, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की वो मांग कर रहे हैं जिन्हें केंद्र पहले ही स्वीकार कर चुका है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बड़ा दिल दिखाएं। उन्होंने कहा कि केंद्र उनके आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में किसान शंभू बैरियर पर डटे हुए हैं और वह षांतिपूर्ण स्थिति बनाए हुए हैं लेकिन हम लोगों के खिलाफ ड्रोन के जरिए आंसू गैस का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारा विरोध तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार हमारी मांगें मान नहीं लेती।
पंधेर ने कहा कि सरकार उनकी मांग मानने की बजाए अपनी ताकत का इस्तेमाल किसानों पर कर रही है। उन्होंने कहा कि हमें रोकने के लिए सीमाओं पर बीएसएफ और आरपीएफ तैनात की है। इतना ही नहीं किसानों पर एसएलआर के फायर, प्लास्टिक व रबड़ की गोलियों के अलावा आंसू गैस के गोले फैंके जा रहे है। जिससे एक ही दिन में 60 के करीब किसान घायल हो गए हैं जिन्हें राजपुरा और पटियाला के अस्पतालों में दाखिल करवाया गया है। इसके अलावा कई किसानों को गिरफतार भी किया गया है जिनकी संख्या की पुख्ता जानकारी नहीं है।
किसानों के पक्ष में आए हरियाणा के किसान संगठन और खापें
पंजाब के किसानों के समर्थन में अब हरियाणा के किसान संगठन और खापें भी सामने आने लगी हैं। हिसार, हांसी, फतेहाबाद से किसान संगठन शंभू और दातासिंह वाला बार्डर पहुंचने लगे हैं। जबकि जींद की कंडेला खाप ने किसानों की मांग का समर्थन करते हुए सरकार को किसानों से बात करने की अपील की है।

 

The post Breaking : शंभू बैरियर पर किसानों पर पुलिस कार्यवाही के विरोध में किसान यूनियन रोकेगी रेल first appeared on Khabar Khaas.