Wednesday , February 21 2024

‘केंद्र का बस चले तो राष्ट्रगान से पंजाब हटाकर, उसकी जगह यूपी का नाम जोड़ दें’

बठिंडा की मौड़ मंडी में मुख्यमंत्री भगवंत मान का केंद्र पर बड़ा आरोप

बठिंडा के लोगों को दी 1125 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात, केजरीवाल भी रहे मौजूद

खबर खास, बठिंडा :

‘केंद्र का बस चले तो राष्ट्रगान से पंजाब का नाम हटाकर, उसकी जगह यूपी का नाम जोड़ दे।’ यह कहना है पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का। शनिवार को आम आदमी पार्टी की बठिंडा के मौड़ मंडी में आयोजित विकास क्रांति रैली में मुख्यमंत्री मान केंद्र पर जमकर बरसे। इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद रहे। उन्होंने बठिंडा के लोगों को 1125 करोड़ रुपये की लागत की परियोजनाओं को सौगात दी।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार आम आदमी क्लीनिक खोल रही है लेकिन केंद्र सरकार को मिर्ची लग गई और उसने पैसा देना बंद कर दिया साथ ही साढ़े पांच हजार करोड़ रुपए ग्रामीण विकास फंड का रोक लिया। मान ने कहा कि सरकार ने तीर्थ यात्रा शुरू की और पैसे देकर ट्रेन बुक करने को कहा लेकिन रेलवे ने यह कहकर इंकार कर दिया कि उसके पास इंजन नहीं है।

मान ने कहा कि इनका बस चले तो यह राष्ट्रगान से पंजाब का नाम निकाल दें। इनका क्या है एक बिल ही लेकर आना है, पंजाब काटकर यूपी लिख देंगे। मान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर जगह कहते हैं कि डबल इंजन की सरकार चाहिए मगर रेलवे कहता है कि उनके पास इंजन नहीं है। पहले रेलवे को इंजन तो दे दो। उन्होंने कहा कि दो दिन रूक जाओ, दो दिन में मैं जवाब दे दूंगा। उन्होंने कहा कि हमें ध्रर्म के नाम पर तोड़ने की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि इतनी कोशिश कर ली पर पंजाब में दंगे नहीं हो रहे लेकिन भाजपा वाले सुन लें कि यहां पर नफरत का बीज बोने नहीं देंगे।

भगवंत मान ने कहा कि पाकिस्तान दुश्मन देश है और वह लूटेगा और हमला करेगा मगर पंजाब के लोग चार-पांच लोगों से डर गए। इनमें से दो कांग्रेस में हैं और दो लोग शिरोमणि अकाली दल में है। एक भाजपा में है। उन्होंने कहा कि बादल का पूरा परिवार हार गया है। बस एक हार बची है और इस बार वह भी बठिंडा में मिल जाएगी। उनका इशारा दिवंगत प्रकाश सिंह बादल की बहू हरसिमरत कौर बादल से था।

मान सरकार रख् रही शहीदों के परिवार का ख्याल: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने कहा कि पहले की सरकारों ने कभी शहीदों की सुध नहीं ली लेकिन अब पंजाब की भगवंत मान सरकार शहीदों के घर जाकर एक करोड़ रुपए का चैक देती है। पहली बार कोई सरकार आई है जो शहीदों का सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने अग्निवीर अमृतपाल का कोई ख्याल नहीं रखा, कोई सम्मान नहीं दिया लेकिन भगवंत मान सरकार ने उनके परिवर को एक करोड़ रूपए का चैक सौंपा।

उन्होंने कहा कि बीते 75 साल में किसी सरकार ने बठिंडा को एक साथ 1125 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात नहीं दी। लेकिन आप की सरकार ने बठिंडा को यह सौगात दी। बठिंडा में सात नए स्कूल बनाए जाएंगे और यह स्कूल देश के बड़े-बड़े  निजी स्कूलों को भी पीछे छोड़ देंगे। बठिंडा में नया बस स्टैंड और सीवरेज का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भगवंत मान सरकार ने सबसे बड़ा काम बिजली मुफ्त करके किया है।

दिल्ली में भी की गई थी कई काम रोकने की कोशिश

केजरीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान लोगों को पटना साहिब व नांदेड़ स्थित हजूर साहिब लेकर जाना चाहते थे, लेकिन केंद्र ने यात्रा को रोक दिया। इंजन का बहाना बना ट्रेनें देने से मना कर दिया। दिल्ली में भी केंद्र ने ऐसा किया और कई काम रोके गए लेकिन उन कामों को हमने करवाया।

 

The post ‘केंद्र का बस चले तो राष्ट्रगान से पंजाब हटाकर, उसकी जगह यूपी का नाम जोड़ दें’ first appeared on .