Thursday , February 22 2024

पंजाब में बेअदबी की घटनाओं के लिए सुखबीर बादल ने मांगी माफी

कहा, स्वर्गीय बादल को अपने कार्यकाल में हुई इन घटनाओं का पूरी जिंदगी रहा मलाल
शिरोमणि अकाली दल के 103वें स्थापना दिवस पर श्री अकाल तख्त साहिब पर बोले पार्टी अध्यक्ष
खबर खास, अमृतसर :
‘आज प्रधान,  मुख्य सेवादार होने के नाते और गुरु महाराज की मौजूदगी में मैं श्री अकाल तख्त साहिब के समक्ष माफी मांगता हूं कि हमारी सरकार के दौरान यदि किसी का भी, सरकार या सरकार के बिना दुख या दिल दुखाया हो तो मैं माफी मांगता हूं।’ यह बात कही है शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने। आज, गुरुवार को शिरोमणि अकाली दल के 103वें स्थापना दिवस पर उन्होंने श्री अकाल तख्त साहिब से उनकी सरकार के कार्यकाल में हुई बेअदबियों के लिए माफी मांगी है।
उन्होंने कहा कि स्वर्गीय प्रकाश सिंह बादल को पूरी जिंदगी इसी बात का मलाल रहा कि यह बेअदबियां उनके मुख्यमंत्री रहते हुईं और ऐसे हालात बने कि यह मामला उन्हें सीबीआई को देना पड़ा और वह दोषियों को खुद पकड़ नहीं पाए। सुखबीर ने कहा कि स्वर्गीय बादल को दुख था कि ऐसी ताकतें इकटठा हुई और सियासत हुई। सभी ने इकट्‌ठे होकर कौम की भावनाओं को भड़काया। इस तरह का प्रेशर डाला गया कि मामला सीबीआइ को देना पड़ा और अकाली दल इसकी जांच नहीं कर सका।
सुखबीर ने यह भी कहा कि दूसरी सरकार के समय स्वर्ण मंदिर, श्री आनंदपुर साहिब और पटियाला में भी बेअदबी की घटनाएं हुईं पर किसी ने आवाज नहीं उठाई। उन्होंने आरोप लगाया कि अकाली दल को कमजोर किया गया ताकि कौम पर हमले हो सकें। उन्होंने कहा कि पंजाबियों को कौम का दुश्मन पहचान में आना चाहिए।
बातों ही बातों में कांग्रेस पर साधा निशाना
उन्होंने कहा कि 1984 में स्वर्ण मंदिर पर हमले हुए और हजारों का कत्लेआम किया गया।लेकिन उस पार्टी को हमने बार-बार सरकार बनाने का मौका दिया और उसने हमपर हमेशा वार किया। उन्होने कहा कि यह जानने की जरूरत है कि हमें कौन कमजोर कर रहा है।
उठाया पानी का मुद्दा
सुखबीर बादल ने इस मौके पर पानी के मुद्दे को उठाते हुए कहा कि पंजाब में अकाली दल ने कभी सियासत नहीं की, वह हमेशा पंजाब के लिए लड़ते आए हैं। पहले के राजनीतिज्ञों ने पंजाब का 50 फीसद पानी बिना सोचे राजस्थान को दे दिया और जब हरियाणा बना तो बचे पानी में  से 25 फीसद राजस्थान को दे दिया। पंजाब अब सिर्फ अपने पानी का 25 फीसद ही इस्तेमाल कर पा रहा है। उन्होंने कहा कि जब बाढ़ आती है तो ये राज्य पानी लेने से मना कर देते हैं और कम पानी पहाड़ों से आए तो भी ये अपना पूरा पानी ले जाते हैं। पंजाब में कोई खान या भंडार नहीं है। पंजाब इसी पानी से खेती कर पूरे देश को अन्न दे रहा है।
​​​​​​​

The post पंजाब में बेअदबी की घटनाओं के लिए सुखबीर बादल ने मांगी माफी first appeared on .