Thursday , February 22 2024

पंजाब समेत पूरे देश के लिए आज का दिन क्रांतिकारी :केजरीवाल

कहा, अब पंजाब में खुद सरकार और सरकारी दफतर आएंगे आपके घर

दिल्ली में जलाए दीये की लौ से हमने पंजाब में इन सुविधाओं को जलाया दीप : मान

खबर खास, लुधियाना :

‘पंजाब समेत पूरे देश के लिए आज का दिन क्रांतिकारी है।’ यह कहना है आम आदमी पार्टी के संस्थापक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का। आज, रविवार को लुधियाना में ‘भगवंत मान सरकार, आपके द्वार’ कार्यक्रम जिससे लोगों को घरद्वार 43 सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं, को पंजाब के लोगों को समर्पित करते हुए केजरीवाल ने यह बात कही।

यहां उपस्थित जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि पिछले 75 सालों के दौरान देश-भक्तों के यह सपने अधूरे रह गए क्योंकि किसी ने भी ‘भगवंत मान सरकार, आपके द्वार’ जैसा क्रांतिकारी कदम कभी भी शुरू नहीं किया। उन्होंने कहा कि यह नागरिक केंद्रित स्कीम आज़ादी से तुरंत बाद शुरू होनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि इस स्कीम के शुरू होने से राज्य सरकार की लगभग 99 प्रतिशत सेवाएं लोगों को उनके घर बैठे हासिल होंगी और अब लोगों को अपने दफ़्तरी कामकाज के लिए सरकारी दफ़्तरों में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं, जब लोगों को 100 प्रतिशत सरकारी सेवाएं उनके घर पर ही प्राप्त होंगी।

उन्होंने कहा कि यह स्कीम लोगों की सुविधा के लिए साल 2018 में दिल्ली में शुरू की गई थी, परन्तु पंजाब को छोडक़र देश की किसी भी सरकार ने इसको लागू नहीं किया। पंजाब को छोडक़र देश की कोई भी सरकार ऐसा नहीं करेगी क्योंकि पंजाब के पास ईमानदार सरकार है। उन्होंने कहा कि यह योजना राज्य में 4000 से अधिक नयी नौकरियाँ पैदा करेगी, जिससे नौजवानों के लिए रोजग़ार के नये अवसर खुलेंगे।

वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री मान ने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक दिन है, क्योंकि ईमानदार सरकार ने राज्य में असंभव लगने वाली बात को हकीकत में बदल दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य ने अरविन्द केजरीवाल की सोच से उपजे ‘दिल्ली माडल’ को अपनाया है, जिससे राज्य में जवाबदेही और पारदर्शी शासन के नये युग का आरंभ हुआ है। भगवंत सिंह मान ने उम्मीद अभिव्यक्त की कि यह नागरिक केंद्रित मॉडल समूचे देश में लागू होगा, जिससे देश निवासियों को बेहतर सेवाएं हासिल होंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भविष्य में यह पूछा जाएगा कि आम आदमी की सुविधा के लिए पंजाब के सरकारी दफ़्तरों में लोगों की परेशानियां कब ख़त्म हुई थीं, तो इसका जवाब यह होगा कि 10 दिसंबर, 2023 को पंजाब ने इस इंकलाब दौर का आधार बांधा था। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से आम आदमी का मान-सम्मान बहाल होगा, क्योंकि यह सुनिश्चित बनाया गया है कि लोग अपनी जि़ंदगी स्वाभिमान से व्यतीत कर सकें। उन्होंने कहा कि अब से आम व्यक्ति की सरकारी दफ़्तरों में परेशानी और ज़लालत सदा के लिए ख़त्म होगी। भगवंत सिंह मान ने उम्मीद अभिव्यक्त की कि टोल फ्री नंबर 1076 लोगों को उनके घर पर निर्धारित समय में सरकारी सेवाएं मुहैया करवाने में सहायक साबित होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के पिछले मुख्यमंत्रियों के विपरित वह आम लोगों की दुख-तकलीफ़ें सुनने के लिए ज़मीनी स्तर की स्थिति का जायज़ा लेने के लिए लगातार राज्य का दौरा कर रहे हैं। भगवंत सिंह मान ने बताया कि बीते गुरूवार उन्होंने बस्सी पठानां और श्री फतेहगढ़ साहिब में सांझ केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया था, जिसके उपरांत लोगों के मामूली मसले जो लंबे समय से लम्बित थे, को मिनटों में हल कर लिया गया। उन्होंने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि आज 43 सेवाओं की शुरुआत की गई है परन्तु राज्य सरकार की 80 से अधिक स्कीमें शुरू की जाएंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 25 सालों के दौरान पंजाब में केवल दो या तीन परिवारों ने ही राज किया है और अपने निजी हितों के लिए राज्य को बर्बाद कर दिया। उन्होंने कहा कि इन परिवारों ने राज्य के लोगों का शोषण करने के लिए अपनी मर्जी के साथ राज चलाया। भगवंत सिंह मान ने कहा कि अब इन नेताओं को लोगों द्वारा राजनीतिक गुमनामी की ओर धकेल दिया गया

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने योग्य नौजवानों को केवल मैरिट के आधार पर 38000 से अधिक सरकारी नौकरियाँ दीं। राज्य में 58000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश हुआ है और इससे निजी क्षेत्र में 2.98 लाख से अधिक नौकरियाँ पैदा होंगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पिछले 18 महीनों के दौरान टाटा स्टील और अन्य बड़ी कंपनियों ने राज्य में निवेश करना शुरू कर दिया है।