Wednesday , February 21 2024

मिल्क प्लांट का मैनेजर 50,000 रुपए रिश्वत लेता विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू

चंडीगढ़, 5 दिसंबरः पंजाब विजीलैंस ब्यूरो द्वारा राज्य में भ्रष्टाचार के विरुद्ध जारी मुहिम के दौरान आज मंगलवार को मिल्क प्लांट मोहाली में तैनात मैनेजर(दूध खरीद) मनोज कुमार श्रीवास्तव को 50,000 रुपए की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू किया है।

 

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि उक्त कर्मचारी के विरुद्ध यह केस सुखबीर सिंह की शिकायत पर दर्ज किया गया है, जोकि उक्त मिल्क प्लांट में एक निजी फर्म द्वारा दूध इकट्ठा करने वाले टैंकरों की देख-रेख करता है।

 

विवरण देते हुये उन्होंने बताया कि शिकायतकर्ता ने विजीलैंस ब्यूरो के पास पहुँच करके दोष लगाया है कि अलग-अलग स्थानों से दूध इकट्ठा करने के लिए जाते उसके टैंकरों को बढ़िया रूट अलाट करने के बदले राज्य के सहकारिता विभाग का उक्त मुलाज़ीम उससे 50,000 रुपए की रिश्वत माँग रहा है। शिकायतकर्ता ने यह भी दोष लगाया कि उक्त मैनेजर इस सम्बन्धी पहले ही 50,000 रुपए ले चुका है।

 

प्रवक्ता ने आगे बताया कि विजीलैंस ब्यूरो की फ्लायंग स्क्वाड यूनिट मोहाली ने शिकायत में लगाए गए दोषों की जांच करते एक जाल बिछाया जिसके अंतर्गत उक्त दोषी मैनेजर को दो सरकारी गवाहों की हाज़िरी में शिकायतकर्ता से 50,000 रुपए की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों काबू कर लिया।

 

इस सम्बन्धी उपरोक्त कर्मचारी के विरुद्ध विजीलैंस ब्यूरो के थाना फ्लायंग स्क्वाड-1 पंजाब, मोहाली में भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है। उसे कल स्थानीय अदालत में पेश किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस मामले की आगे जांच जारी है।