Sukanya Samriddhi Yojana: 30 सितम्बर तक इस बैंक में खुलवाएं खाता, मिलेगा दो गुना फायदा

सुकन्या समृद्धि योजना केंद्र सरकार द्वारा बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी. अब खाताधारकों को इस योजना के तहत बैंकों से जमा किए गए धन पर आयकर में छूट दी जाती है. ऐसा ही एक ऑफर देश के प्रमुख सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की ओर से दिया गया है. पीएनबी की ओर से बताया गया है कि यह खाता कोई भी अपनी नजदीकी शाखा में खोल सकता है. जानिए, कैसे आप पीएनबी की इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

जमा करने होंगे इतने रूपये 

बेटियों के लिए इस योजना में खाता खुलवाने के बाद आप कम से कम 250 रुपये का निवेश कर सकते हैं. इसके अलावा आप इसमें हर साल 1,50,000 रुपये तक और निवेश कर सकते हैं. यह खाता 10 साल से कम उम्र की अधिकतम दो बेटियों के लिए खोला जा सकता है. इसमें निवेश करने पर आपको इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80C के तहत टैक्स छूट का भी लाभ मिलता है.

कितना मेगा  ब्याज?

वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना पर वार्षिक ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है. केंद्र सरकार हर तीन महीने में सभी छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर में संशोधन करती है. इसमें एसएसवाई भी शामिल है. बता दें, यह उन छोटी बचत योजनाओं में से एक है, जिन पर फिलहाल सबसे ज्यादा ब्याज मिल रहा है.

यह खाता आप पंजाब नेशनल बैंक की किसी भी शाखा में खोल सकते हैं. डाकघर या वाणिज्यिक बैंकों की हर शाखा में आपको SSY की सुविधा भी मिलती है.

Loading...

यदि कोई माता-पिता या अभिभावक अपनी बेटी के लिए प्रतिदिन 100 रुपये भी बचाते हैं, तो उन्हें इस योजना की परिपक्वता पर अच्छी राशि मिल सकती है. निवेश किए गए प्रत्येक 100 रुपये के लिए, इसका मतलब है कि वे हर महीने 3,000 रुपये यानि सालाना 36,000 रुपये बचाएंगे. इस प्रकार यदि 7.4 प्रतिशत की वर्तमान ब्याज दर पर देखा जाए तो 14 वर्ष बाद परिपक्वता पर यह राशि मूलधन सहित 15,22,221 रुपये होगी.

इन दस्तावेजों की होगी आवश्यकता

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत पीएनबी सहित किसी भी वाणिज्यिक बैंक की शाखा या डाकघर में खाता खोलने के लिए आपको एक फॉर्म के साथ-साथ अपनी बेटी का जन्म प्रमाण पत्र भी जमा करना होगा. इसके अलावा बच्चे के माता-पिता या अभिभावक का पहचान पत्र और स्थायी पता प्रमाण होना चाहिए.

पहचान पत्र पैन कार्ड, राशन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट आदि होना चाहिए. वहीं स्थायी पते के प्रमाण के रूप में बिजली बिल, टेलीफोन बिल, पानी का बिल, निवास प्रमाण पत्र आदि काम करेगा.

आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने के बाद हर साल कम से कम 250 रुपये जमा करना अनिवार्य है. ऐसा करने में विफलता के परिणामस्वरूप खाता बंद कर दिया जाएगा और उस वर्ष के लिए आवश्यक न्यूनतम राशि के साथ-साथ प्रति वर्ष 50 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा. तभी इस खाते को पुनर्जीवित किया जा सकता है.

बेटियों के लिए केंद्र सरकार की ओर से एक छोटी बचत योजना है ताकि आप उनके बेहतर भविष्य की नींव रख सकें. यह योजना खाता खोलने की तिथि से 21 वर्ष बाद परिपक्व होगी. इस योजना में निवेश करके आप टैक्स भी बचा सकते हैं. इस योजना से मिलने वाला पैसा टैक्स फ्री होता है. यानी जमा पर मिलने वाले ब्याज पर कोई टैक्स नहीं लगेगा.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button