अब यूरोप की तरह दिखेगी दिल्ली की सड़कें, 16 स्ट्रैच पर चल रहा है काम

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार का कहना है कि दिल्ली की सड़कों को यूरोपीय शहरों की तरह खूबसूरत बनाने के लिए काम किया जा रहा है। दिल्ली सरकार के मुताबिक दिल्ली की 500 किमी. से ज्यादा लंबी सड़कों को यूरोपियन स्टैंडर्ड के हिसाब से डिजाइन किया जा रहा है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि …
 
अब यूरोप की तरह दिखेगी दिल्ली की सड़कें, 16 स्ट्रैच पर चल रहा है काम

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार का कहना है कि दिल्ली की सड़कों को यूरोपीय शहरों की तरह खूबसूरत बनाने के लिए काम किया जा रहा है। दिल्ली सरकार के मुताबिक दिल्ली की 500 किमी. से ज्यादा लंबी सड़कों को यूरोपियन स्टैंडर्ड के हिसाब से डिजाइन किया जा रहा है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली में पायलट प्रोजेक्ट के तहत 16 स्ट्रैच पर काम चल रहा है। सितंबर से अक्टूबर तक सारे पायलट प्रोजेक्ट पूरे हो जाएंगे। पायलट प्रोजेक्ट के बाद जो मॉडल अच्छा होगा, उसे हम यूरोपियन स्टैंडर्ड की बनाई जाने वाली दिल्ली की 500 किलोमीटर लंबी सड़कों में लागू करेंगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को पायलट प्रोजेक्ट के तहत खूबसूरत बनाई जा रही पीतमपुरा स्थित ब्रिटानिया चौक से आउटर रिंग रोड तक की सड़क का दौरा कर जायजा भी लिया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में सड़कें बहुत चौड़ी हैं, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्टैंडर्ड की नहीं है। ब्रिटानिया चौक से आउटर रिंग रोड तक की सड़क का मैंने खुद जायजा लिया। इसमें अभी कुछ और सुधार की गुंजाइश है। जल्द उन्हें ठीक कर दिल्ली की सड़कों को और खूबसूरत बनाएंगे।

सीएम अरविंद ने सड़क के किनारे और सेंट्रल वर्ज के उपर लगाए गए पौधों को क्वालिटी का नहीं पाए जाने पर नाराजगी जाहिर की। सेंट्रल वर्ज पर लगाए गए पौधों के बीच में कई जगहों पर काफी दूरी हैं और पौधे काफी छोटे भी हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल कहा कि यूरोपीय देशों की सड़कों के किनारे और सेंट्रल वर्ज पर जैसे घने पौधे लगाए जाते हैं, उसी तरह से पौधे लगाए जाएं।

सीएम ने बताया कि अभी हमने यूरोपीय तर्ज पर री-डिजाइन कर विकसित की जा रही सड़क के एक स्ट्रैच का जायजा लिया। दिल्ली के अंदर हम सड़कों को बेहद खूबसूरत बनाने की कोशिश कर रहे हैं। दिल्ली देश की राजधानी है। हम लंदन, टोक्यो, न्यूयार्क, वाशिंगटन, यूरोप के शहरों समेत दुनिया भर में जाते हैं, तो कितनी खूबसूरत सड़कें होती हैं। हमारी सड़कें बहुत चौड़ी हैं। लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्टैंडर्ड पर देखा जाए, तो उस स्टैंडर्ड की नहीं है। हमारा मकसद है कि दिल्ली की सड़कों को बेहद खूबसूरत बनाया जाए। उसी प्रयास के तहत पहले चरण में लोक निर्माण विभाग की 500 किलोमीटर लंबी सड़कों को खूबसूरत बनाने का हमारा मकसद है। 500 किलोमीटर की सड़कों का सुंदरीकरण करने से पहले हम लोग पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत छोटा स्ट्रैच करके देख रहे हैं।

यूरोपीय शहरों की तर्ज पर विकसित की जा रही दिल्ली की सड़कों के किनारे भगत सिंह और रानी लक्ष्मी बाई जैसे स्वतंत्रता सेनानियों की मूर्तियां लगाई जाएंगी। इसके अलावा, फब्बारे, एफओबी पर कलाकृतियां, सैंड स्टोन बेंच, बुद्ध प्रतिमा, स्टेट ऑफ आर्ट इंफो बोर्ड, इस्पात तत्व, सैंड स्टोन आर्ट का कार्य किया जाएगा। सड़क के एक तरफ साइकल ट्रैक भी बनाया जाएगा।

सीएम अरविंद केजरीवाल के नवंबर 2019 में पीडब्ल्यूडी के अधिकार क्षेत्र में आने वाली कुछ सड़कों को री-डिजाइन करने की मंजूरी दी थी। इसके तहत दिल्ली सरकार ने 100 फीट, चौड़ी 540 किलोमीटर लंबी सड़कों को यूरोपियन शहरों की तरह री-डिजाइन कर खूबसूरत बनाने का निर्णय किया है।

सड़कों के री-डीजाइन करने से बाटलनेक खत्म होंगे। अभी कोई सड़क चार लेन से तीन लेन की हो जाती है या छह लेन से चार लेन की हो जाती है। इससे अचानक सड़क पर एक जगह वाहनों का दबाव बढ़ जाता है और जाम की स्थिति पैदा हो जाती है। सड़कों के री-डिजाइन के बाद यह समस्या खत्म हो जाएगी और सड़क एक समान चौड़ी दिखेगी। इससे जाम की समस्या खत्म हो जाएगी। सड़क किनारे या आस-पास की सड़कों का स्पेस खत्म करके उस जगह का अच्छे से इस्तेमाल किया जाएगा। फुटपाथ, नान मोटर व्हीकल के लिए जगह बनाई जाएगी। कम से कम 5 फुट के फुटपाथ को बढ़ाकर अधिकतम 10 फुट का किया जाएगा।

From Around the web

Latest News

You May Like