साढ़े 14 घंटे बैटिंग कर बवाल काटा, 19 साल चला वर्ल्ड कप में बनाया हुआ रिकॉर्ड फिर भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ओपनर गैरी कर्स्टन (Gary Kirsten) का आज बर्थडे है. वे अपने जमाने के बेस्ट ओपनर्स में से एक रहे. उनके लिए कहा जाता है कि बैटिंग के दौरान वे पूरी लगन से खेलते थे और बड़े रन बनाने की भूख रखते थे. इस वजह से उन्होंने काफी कामयाबी पाई. बाद में …
 
साढ़े 14 घंटे बैटिंग कर बवाल काटा, 19 साल चला वर्ल्ड कप में बनाया हुआ रिकॉर्ड फिर भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ओपनर गैरी कर्स्टन (Gary Kirsten) का आज बर्थडे है. वे अपने जमाने के बेस्ट ओपनर्स में से एक रहे. उनके लिए कहा जाता है कि बैटिंग के दौरान वे पूरी लगन से खेलते थे और बड़े रन बनाने की भूख रखते थे. इस वजह से उन्होंने काफी कामयाबी पाई. बाद में इसी लगन और अनुशासन के चलते वे सफल कोच भी बने. भारत ने उनके कोच रहते हुए ही अपना दूसरा वर्ल्ड कप जीता था. साथ ही टेस्ट टीम में नंबर वन का तमगा हासिल किया था. बाद में दक्षिण अफ्रीका के साथ ही कई फ्रेंचाइजी टीमों के कोच भी बने. तो कैसा रहा गैरी कर्स्टन का करियर आइए जानते हैं-

साढ़े 14 घंटे बैटिंग कर बवाल काटा, 19 साल चला वर्ल्ड कप में बनाया हुआ रिकॉर्ड फिर भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

गैरी कर्स्टन ने 1993-94 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था. फिर दूसरे ही टेस्ट में 67 और 41 रन की पारियां खेलते हुए दक्षिण अफ्रीका को पांच रन से सिडनी टेस्ट में जीत दिलाई. लेकिन पहले टेस्ट शतक के लिए गैरी कर्स्टन को दो साल और 17 टेस्ट का इंतजार करना पड़ा. मगर इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और कई बड़ी पारियां खेलीं. 1999-2000 में 275 रन की पारी खेलकर उन्होंने दक्षिण अफ्रीका की ओर से टेस्ट में सबसे बड़ी पारी के रिकॉर्ड की बराबरी की. इस पारी के दौरान उन्होंने साढ़े 14 घंटे बैटिंग की थी. यह खेलने के घंटों के हिसाब से आज भी दूसरी सबसे बड़ी पारी है. कर्स्टन ने 21 टेस्ट शतक लगाए और इनमें से आठ स्कोर 150 रन से ज्यादा के थे.

साढ़े 14 घंटे बैटिंग कर बवाल काटा, 19 साल चला वर्ल्ड कप में बनाया हुआ रिकॉर्ड फिर भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

गैरी कर्स्टन ने 101 टेस्ट और 185 वनडे मुकाबले खेले. वे ओपनर के रूप में ही खेला करते थे. जब वे खेला करते थे तब कहा जाता था कि कर्स्टन के जाने के बाद दक्षिण अफ्रीका उनके बिना कैसे खेलेगी. कर्स्टन ने अपना ऐसा रसूख बनाया था. वे पहले दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज थे जिन्होंने 5000 टेस्ट रन बनाए थे. उन्होंने 101 टेस्ट में 45.27 की औसत से 7289 रन बनाए. वहीं 185 वनडे मुकाबलों में 40.95 की औसत से 6798 रन उनके खाते में आए. एक समय दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट में सबसे ज्यादा रन और सबसे ज्यादा शतक का रिकॉर्ड उन्हीं के नाम था. साथ ही वे पहले टेस्ट बल्लेबाज हैं जिन्होंने टेस्ट खेलने वाले बाकी नौ देशों के खिलाफ शतक बनाए थे.

साढ़े 14 घंटे बैटिंग कर बवाल काटा, 19 साल चला वर्ल्ड कप में बनाया हुआ रिकॉर्ड फिर भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

वनडे क्रिकेट में भी गैरी कर्स्टन को अच्छी खासी सफलता मिली. 1996 के वर्ल्ड कप में उन्होंने नाबाद 188 रन की पारी यूएई के खिलाफ खेली थी. यह तब वर्ल्ड कप का सर्वोच्च स्कोर था. साल 2015 के वर्ल्ड कप में जाकर यह रिकॉर्ड टूटा था. यानी करीब 19 साल बाद. पहले क्रिस गेल ने 215 फिर मार्टिन गप्टिल ने नाबाद 237 रन बनाते हुए वर्ल्ड कप में सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड अपने नाम किया. लेकिन वनडे में दक्षिण अफ्रीका की ओर से सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड अभी भी गैरी कर्स्टन के ही नाम है.

साढ़े 14 घंटे बैटिंग कर बवाल काटा, 19 साल चला वर्ल्ड कप में बनाया हुआ रिकॉर्ड फिर भारत को बनाया वर्ल्ड चैंपियन

साल 2004 में गैरी कर्स्टन ने क्रिकेट खेलना छोड़ दिया. फिर वे कुछ समय के दक्षिण अफ्रीका की घरेलू टीम वॉरियर्स के कंसल्टेंट बैटिंग कोच बन गए. दिसंबर 2007 में वे भारत के कोच बने. यहां उन्होंने कोचिंग में भी काफी कामयाबी पाई. उनके रहते हुए भारत ने न केवल टेस्ट बल्कि वनडे में भी कामयाबी पाई. 2011 का वर्ल्ड कप भारत के नाम होना कर्स्टन के कोचिंग करियर की बड़ी उपलब्धि है. उन्हें भारत के सबसे कामयाब कोचेज में गिना जाता है. 2011 वर्ल्ड कप के बाद वे दक्षिण अफ्रीका के कोच बन गए और 2013 तक वहां रहे.

From Around the web

Latest News

You May Like