पश्चिमी यूपी में किसानों के वोट साधने में जुटी बीजेपी, 22 सितम्बर को CM योगी करेंगे ये काम

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों को साधने के लिए नया रास्ता अख्तियार कर लिया है. अलीगढ़ में जाट राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के नाम पर विश्वविद्यालय का शिलान्यास कर जहां जाट वोट बैंक को अपने पाले में लाने की कोशिश हुई, अब वहीं गुर्जरों को साधने की कोशिश है. दरअसल, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के नोएडा …
 
पश्चिमी यूपी में किसानों के वोट साधने में जुटी बीजेपी, 22 सितम्बर को CM योगी करेंगे ये काम

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों को साधने के लिए नया रास्ता अख्तियार कर लिया है. अलीगढ़ में जाट राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के नाम पर विश्वविद्यालय का शिलान्यास कर जहां जाट वोट बैंक को अपने पाले में लाने की कोशिश हुई, अब वहीं गुर्जरों को साधने की कोशिश है. दरअसल, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के नोएडा के दादरी मे गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के 12 फुट की प्रतिमा का अनावरण सीएम योगी आदित्यनाथ से कराने की तैयारी है.यह प्रतिमा सम्राट मिहिर भोज के नाम पर बने पीजी कॉलेज में लगी है. दो साल पहले ये प्रतिमा तैयार की गयी थी पर कोरोना की वजह से अनावरण नहीं हो पाया था.

पश्चिमी यूपी में किसानों के वोट साधने में जुटी बीजेपी, 22 सितम्बर को CM योगी करेंगे ये काम

वरिष्ठ पत्रकार अनिल भारद्वाज कहते हैं कि ये  बीजेपी  का नया दांव है. सीएम योगी आदित्यनाथ जब खुद मूर्ति का अनावरण करेंगे तो गुर्जर समाज में एक संदेश जाएगा जो कि बड़ा वोक बैंक है. और बीजेपी संदेशों की राजनीति में माहिर हैं. गौरतलब है कि राजा मिहिर भोज को धर्मरक्षक राजा के तौर पर देखा जाता है और गुर्जर उनको अपना पूर्वज मानते हैं.

22 सितंबर को CM  योगी  कर सकते हैं मूर्ति का अनावरण 

दरअसल, किसान आंदोलन के बाद से पश्चिमी यूपी का सियासी समीकरण गड़बड़ा गया है, जिसको दुरुस्त करने के लिए बीजेपी के दिग्गज रात दिन एक किए हुए हैं. इसी के तहत ये भी तैयारी की गई है. कहा जा रहा है कि 22 सितंबर को सीएम मिहिर भोज की मूर्ति का अनावरण कर सकते हैं. विपक्षियों का मानना है कि मूर्ति का अनावरण गलत नहीं है, लेकिन सवाल बीजेपी के समय को लेकर जरुर उठता है.

From Around the web

Latest News

You May Like