जज की मां बन गयी दूसरी महिला और बेच दी करोड़ो की जमीन, मामला दर्ज

कानपुर-DVNA। कानपुर कचहरी में सक्रिय फर्जी रजिस्ट्री कराकर जमीनों को हड़पने के गैंग ने जज के मां की जमीन को फर्जीवाड़ा कर अपने नाम करा दी। मामले की जानकारी होने पर जज की मां ने घाटमपुर थाने में बार एसोसिएशन के पूर्व पदाधिकारी समेत छह लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। जज के हस्तक्षेप के बाद गैंग के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो सकी।
कानपुर में सिविल कोर्ट के जज मूल रूप से जहांगीराबाद के रहने वाले हैं, लेकिन एफ-ब्लॉक किदवई नगर में परिवार के साथ रहते हैं। जज की मां विभा त्रिपाठी के मुताबिक घाटमपुर के पतारा गांव में गाटा संख्या- 3891 में करीब सवा चार बीघा जमीन का बैनामा सन-2005 में कराया था। इस जमीन का दाखिल खारिज भी विभा त्रिपाठी के नाम है लेकिन 15 सितंबर को वह घाटमपुर तहसील गईं तो उन्हें जानकारी हुई कि उनका फर्जी फोटो लगाकर दूसरी महिला ने विभा त्रिपाठी बनने के साथ ही उनका फर्जी आधार कार्ड, फर्जी हस्ताक्षर और फर्जी पैन कार्ड लगाकर एक फर्जी बैनामा बार एसोसिएशन के पूर्व पदाधिकारी पारसनाथ शर्मा,अधिवक्ता अनुराग सिंह चंदेल,संदीप कुमार के नाम कर दिया। फर्जी बैनामा में गवाही राजकरन,मानवेंद्र सिंह और घाटमपुर तहसील के दस्तावेज लेखक ने दी है। इसके चलते विभा त्रिपाठी ने इन सभी छह आरोपियों के खिलाफ घाटमपुर थाने में धोखाधड़ी,कूटरचित दस्तावेजों का इस्तेमाल समेत अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई है।
थाना प्रभारी धनेश प्रसाद ने बताया कि प्राथमिक जांच में लगाए गए सभी आरोप सही पाए गए हैं। सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

Loading...

Auto Fetched by DVNA Services

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button