Sunday , July 21 2024

‘पंथ और परिवार में से हमेशा पंथ चुनूंगा’, मां के बयान पर अमृतपाल सिंह ने किया ट्वीट

मां ने कहा था कि बेटा खालिस्तानी नहीं
खबर खास, चंडीगढ़ :
पंजाब के खडूर साहिब से सांसद अमृतपाल सिंह ने अपनी मां बलविंदर के बयान को नकारते हुए जवाब दिया है कि ‘पंथ और परिवार में से हमेश पंथ को चुनुंगा।’

इस पर अमृतपाल सिंह ने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर पोस्ट की। जो कुछ इस तरह से है। “गुरु रूपी गुरु प्यारी संगत जी, वाहेगुरु जी का खालसा वाहेगुरु जी की फतेह। कल माता जी की ओर से दिए बयान के बारे में मुझे आज पता लगा तो मेरा मन बहुत दुखी हुआ। बेशक मुझे यह यकीन है कि माता जी की ओर से यह बयान अनजाने में दिया गया, पर फिर भी ऐसा बयान मेरे परिवार या किसी भी उस शख्स की ओर से जो मेरी हिमायत करता है, की ओर से नहीं आना चाहिए। खालसा राज का सपना देखना कोई गुनाह नहीं। बलिक यह गर्व की बात है। जिस सपने की प्राप्ति के लिए लाखों सिखों ने शहीदी दी हो, उस मार्ग से पीछे हट जाने के बारे में हम सपने में भी नहीं सोच सकते। मैंने बहुत बार स्टेजों से बोलते हुए यह बात कही है कि यदि मुझे पंथ या परिवार में से किसी को चुनना पड़ता तो मैं हमेशा ही पंथ का चुनाव करूंगा। इस बात पर इतिहास का वह वाकया बिलकुल उपयुक्त बैठता है जहां बंदा सिंह बहादर के साथ के सिखों को शहीद किया जा रहा था तो एक 14 वर्ष के नौजवान की मां ने उसे बचाने के लिए यह बात कह दी कि यह नौजवान सिख नहीं। इस पर उस नौजवान ने आगे यह बात कही कि जो यह औरत कहती है कि मैं गुरु का सिख नहीं तो मैं यह बात बयान करता हूं कि वह मेरी मां नहीं। बेशक यह उद्हारण इस घटना के लिए बेहद सख्त है पर सिद्धांतिक पक्ष से यह बात समझने वाली है। मैं अपने परिवार की चेतावनी देता हूं कि कभी भी सिख राज पर समझौता करने के बारे में सोचना भी गवारा नहीं है तो कहना तो दूर की बात है और आगे से संगती रूप में शामिल होकर बोलते वक्त ऐसी कोताही नहीं होनी चाहिए।”
दरअसल अमृतपाल सिंह की माता की तरफ से उसके सांसद पथ की शपथ लेने के बाद बयान दिया था गया कि अमृतपाल सिंह खालिस्तान समर्थक नहीं है। पंजाब के हकों की बात करना और नौजवानों की आवाज उठाने वाला खालिस्तान समर्थक नहीं हो जाता है। उन्होंने संविधान के दायरे में रहकर चुनाव लड़ा है। संविधान की शपथ उठाई है। अब इस तरह की बात नहीं करनी चाहिए। हालांकि बाद में माता ने कहा था कि मीडिया ने तोड़ मरोड़ कर बयान पेश किया। उन्होंने कहा कि वह क्रिमिनल नहीं है। वहीं, अमृतपाल सिंह के पिता तरसेम सिंह ने कहा कि उन्होंने सोशल मीडिया अकाउंट पर आई पोस्ट देखी है। जिसे देखकर लगता है कि वह अमृतपाल सिंह का ही हो सकती है। उसमें लिखी गई भाषा से उन्हें लग रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब के कई मुद्दे हैं। जिनकी तरफ सोचना चाहिए।

The post ‘पंथ और परिवार में से हमेशा पंथ चुनूंगा’, मां के बयान पर अमृतपाल सिंह ने किया ट्वीट first appeared on Khabar Khaas.