Friday , July 19 2024

मान सरकार ने किसानों के सपनों को सींच, सूखी जमीनों तक पहुंचाया नहरी पानी : जौड़ामाजरा

कहा, नए क्षितिज और जल प्रबंधन पहल में पानी के सुचारू प्रवाह और वितरण के लिए खस्ता नहरों, रजबाहों और माइनरों का पुनरुद्धार करना शामिल

18 वर्षों के सूखे दौर के बाद कंडी नहर में पानी का प्रवाह शुरू,  इस वर्ष लगभग 1,573 खाल किए बहाल

खबर खास, चंडीगढ़ :

पंजाब में खेतों तक पानी पहुंचाने की पहल को लेकर जल संसाधन मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने कहा कि प्रदेश में हर खेत तक सिंचाई के लिए नहरी पानी सुनिश्चित कराने की प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में पंजाब सरकार ने ठोस कदम उठाया है। पंजाब सरकार ने हर खेत तक पानी के सुचारू प्रवाह और वितरण के लिए खस्ता नहरों, रजबाहों और माइनरों को पुनर्जीवित करने के साथ-साथ अन्य जल प्रबंध कर नई ऊंचाईयों को छुआ है।
उन्होंने बताया कि विभाग के ठोस प्रयासों के चलते पिछले वर्ष पहली बार लगभग 900 स्थानों पर पानी पहुंचाया गया, जिनमें से कुछ स्थान 35-40 वर्षों से सूखे थे। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि “स्थायी जल प्रबंधन संबंधी सरकार के अपने मिशन को जारी रखते हुए, हमने इस वर्ष 114 स्थानों पर खालों को बहाल कर दिया है। इनमें से 13 क्षेत्रों को 40 वर्षों के बाद, दो क्षेत्रों को 35 वर्षों के बाद, पांच क्षेत्रों को 25 वर्षों के बाद और लगभग 50 स्थानों को 18 वर्षों के बाद पानी मिला है। यह क्षेत्र जालंधर, एस.बी.एस नगर, फतेहगढ़ साहिब, लुधियाना, पटियाला, अमृतसर, एस.ए.एस नगर, होशियारपुर, मोगा, गुरदासपुर, रोपड़, संगरूर और मलेरकोटला ज़िलों में हैं। इसके अलावा खालों की बहाली के लिए पिछले वर्ष के अभियान को जारी रखते हुए जल संसाधन विभाग को ओर से इस वर्ष भी लगभग 1,573 खालों को बहाल किया गया है।

सिंचाई के बुनियादी ढांचे में महत्वपूर्ण उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए जौड़ामाजरा ने कहा कि हालांकि कंडी नहर परियोजना दो दशक पहले शुरू हुई थी लेकिन किसानों तक पानी नहीं पहुंच सका। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जल संसाधन विभाग ने कंडी नहर नेटवर्क को बहाल करने के लिए एक व्यापक पुनर्निर्माण अभियान चलाया, जिसके परिणामस्वरूप 18 साल के सूखे के बाद आखिरकार कंडी नहर में पानी बहने लगा है।

गौरतलब है कि जहां पिछले वर्ष बहाल किए नहरी खाले सरकारी ज़मीन पर थे, वहीं इस वर्ष किसानों की सहमति से निजी ज़मीन पर बहते खालों को भी बहाल किया गया है। उन्होंने कहा कि पहले इस कार्य को विभाग द्वारा असंभव माना जाता था और इस संबंध में कोई प्रयास नहीं किया गया।

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि सिंचाई नेटवर्क को पुनर्जीवित करने का काम सीएम मान के नेतृत्व वाली सरकार के जल संसाधन प्रबंधन और पानी के समान वितरण के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है जिससे पूरे क्षेत्र में कृषि उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा।

The post मान सरकार ने किसानों के सपनों को सींच, सूखी जमीनों तक पहुंचाया नहरी पानी : जौड़ामाजरा first appeared on Khabar Khaas.