Friday , July 19 2024

मोहाली शहर में ट्रैफिक जाम का सबब बन रहे निजी अस्पताल!

फोर्टिस, इंड्स, मैक्स और आईवीवाई अस्पताल पर लगे नियमों की अवहेलना के आरोप
विधायक कुलवंत सिंह विधानसभा में उठा चुके हैं मुद्दा, पर अभी तक कार्यवाही मात्र कागजों तक है सीमित

खबर खास, मोहाली :

चंडीगढ़ से सटा मोहाली शहर इन दिनों ट्रैफिक जाम की की गंभीर समस्या से जूझ रहा है। मोहाली जिले का यह शहर मोहाली रोजगार और शिक्षा की धूरी माना जाता है परंतु यहां के बड़े-बड़े मल्टीस्पेशिलिस्ट अस्पतालों पर अनियमतताओं और सरकारी हिदायतों की सरेआम धज्जियां उड़ाने के आरोप लग रहे है।

शहर में मैक्स, आईवीवाई, फोर्टिस और इंडस सरीखे बड़े अस्पताल हैं जिन पर आरोप लग रहे हैं कि उनके अस्पतालों के बाहर बड़ी तादाद में खड़ी गाड़ियां शहर में ट्रैफिक जाम का सबब तो बन रही हैं साथ ही हादसों को भी न्यौता दे रही हैं। ऐसा नहीं है कि यह अस्पताल सरकारी नियमों को नहीं जानते, लेकिन यह आंखें मूंदकर बैठे हैं। दरअसल, इन असप्तालो को सरकार के नियमों और अन्य निर्देशों के अलावा पार्किंग के लिए विशेष तौर पर जगह की मंजूरी दी गई थी। जिसमें क्रमवार मैक्स अस्पताल को 216.88 वर्ग फुट, आईवीवाई को 17564.491 वर्ग फुट, फोर्टिस को 10455.28 वर्ग फुट और इंडस को 2348.71 वर्ग फुट पार्किंग की जगह जिसमें सतह के साथ-साथ बेसमैंट पार्किंग दोनों शामिल हैं।
लेकिन आरोप है कि यह अस्पताल पार्किंग की इस जगह को पार्किंग की बजाए निजी कामों के लिए प्रयोग में ला रहे हैं जिसके चलते यहां मरीजों के रिश्तेदारों, तीमारदारों समेत अन्य की गाड़ियां सड़कों पर खड़ी रहती हैं। शहर के जिन हिस्सों में यह अस्पताल हैं वहां तो ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई है। लोग जहां-तहां अपनी गाड़ियां पार्क करते हैं जिसके चलते पैदल चलने वाले और अन्य चालकों को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।
ऐसा नहीं है कि इस मामले में कोशिश नहीं हुई। यह मामला जब हलका विधायक कुलवंत सिंह के सामने आया तो उन्होंने इस संदर्भ तुरंत एक्शन लेते हुए लोगों की सहूलियत के लिए इसे हल करवाने का वादा किया। उन्होंने बकायदा पंजाब विधानसभा के वर्ष 2024-25 के 16वीं विधानसभा के छठे सत्र यानि बजट सत्र के दौरान इस संदर्भ में सवाल पूछा तो सरकार तुरंत हरकत में आई।
सरकार ने इसका जवाब देते हुए कहा कि गमाडा की ओर से अस्प्तालों के बिल्डिंग प्लान पास करते समय वाहनों की पार्किंग के लिए जगह निर्धारित की गई थी। पर जांच में पाया गया कि इन अस्पतालों में बेसमेंट पार्किंग को निर्धारित उद्देश्य के लिए प्रयोग में नहीं लाया जा रहा। इसके लिए पंजाब रीजनल टाउन प्लैनिंग एंड डिवेल्पमैंट एक्ट 1995 की धारा 45(3) के तहत अस्टेट अधिकारी की ओर से इन अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस जारी किए लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।
इस संबंध में संबंधित विभाग के अधिकारियों से बातचीत की कोशिश की गई पर उन्होंने फोन नहीं उठाया।

शहर के लोगों की समस्या का हल मेरा फर्ज, बोले विधायक कुलवंत सिंहवहीं, विधायक कुलवंत सिंह ने कहा कि मोहाली के लोगों ने उन्हें भारी बहुमत से जितवा कर विधानसभा भेजा है तो उनका फर्ज बनता है कि वह शहर वासियों की हर मुश्किल का हल करवाएं। उन्होंने कहा कि मोहाली के जो अस्पताल नियमों की अवहेलना कर रहे हैं, उनपर कानून के मुताबिक कार्यवाही के साथ-साथ पार्किंग का मसला बहुत जल्द हल करवाएंगे।

 

 

 

 

The post मोहाली शहर में ट्रैफिक जाम का सबब बन रहे निजी अस्पताल! first appeared on Khabar Khaas.