Friday , July 19 2024

पुलिस विभाग में तबादलों से राजा वड़िंग को परेशानी क्यों? क्या उनके निजी आर्थिक हित है इसमें जुड़े?

वनिर्वाचित सांसद एवं ‘आप’ पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने उठाया सवाल
ये तबादले तो आम सरकारी प्रक्रिया है, फिर वड़िंग इस पर आपत्ति क्यों जता रहे हैं? – कंग
कहा – उनकी प्रतिक्रिया से ऐसा लगता है कि राजा वड़िंग भी किसी सांठगांठ के हिस्सा हैं
कांग्रेस का यह दावा करना कि उसे पता है कि किसने उसे वोट दिया और किसने नहीं, चिंता का विषय है क्योंकि घुबाया के बाद अब वड़िंग भी इस तरह के बयान दे रहे हैं
खबर खास, चंडीगढ़ :
आम आदमी पार्टी (आप) ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग द्वारा पंजाब पुलिस विभाग में तबादलों को लेकर जताई गई आपत्तियों पर सवाल उठाया है। आप ने कहा कि यह एक आम सरकारी प्रक्रिया है, लेकिन राजा वड़िंग की परेशानी से संकेत मिलता है कि इन तबादलों के कारण शायद उनके निजी हित को क्षति पहुंच रही है।
बुधवार को चंडीगढ़ पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के नवनिर्वाचित सांसद एवं ‘आप’ पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने कहा कि मान सरकार को आम लोगों से फीडबैक मिला था कि कुछ पुलिस कर्मी नशे के धंधे में शामिल हैं, इसलिए इस धंधे पर लगाम लगाने के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने भारी संख्या में तबादला करने का फैसला किया है।
कंग ने कांग्रेस नेता की प्रतिक्रिया पर सवाल उठाते हुए पूछा कि इन तबादलों से वह परेशान क्यों हैं? कंग ने कहा कि ऐसा लगता है कि पुलिस के साथ राजा वड़िंग की कुछ निजी सेटिंग है। कंग ने राजा वड़िंग के इस बयान की भी आलोचना की जिसमें उन्होंने कहा कि मान सरकार कांग्रेस को वोट देने वाले पुलिस कर्मियों का तबादला कर रही है। कंग ने पूछा कि पंजाब कांग्रेस के नेताओं को कैसे पता कि किसने किसको वोट दिया?
उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पहले कांग्रेस सांसद शेर सिंह घुबाया ने कहा था कि वह सिर्फ उन्हीं लोगों के लिए काम करेंगे जिन्होंने उन्हें वोट दिया है, अब वड़िंग भी ऐसा ही बयान दे रहे हैं। कंग ने कहा कि लोकतंत्र में यह जानने का कोई तरीका नहीं है कि किसने किसको वोट दिया। लेकिन कांग्रेस नेताओं की ओर से लगातार इस तरह के गैरजिम्मेदाराना बयान चिंताजनक हैं।
कंग ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा के नेता आम तौर पर पंजाब और यहां के लोगों के मुद्दों पर चुप रहते हैं। राजा वड़िंग और सुनील जाखड़ लॉरेंस बिश्नोई के गुजरात जेल से सामने आए वीडियो का मुद्दा नहीं उठा रहे हैं। लेकिन वे पुलिस विभाग की कुछ नियमित कार्यप्रणाली पर आपत्ति जता रहे हैं। कंग ने कहा कि इसमें कोई शक की बात नहीं है कि कांग्रेस और भाजपा के नेता हमेशा से भ्रष्ट और माफिया लोगों को सरकारी संरक्षण देते रहे हैं।

The post पुलिस विभाग में तबादलों से राजा वड़िंग को परेशानी क्यों? क्या उनके निजी आर्थिक हित है इसमें जुड़े? first appeared on Khabar Khaas.