Saturday , July 13 2024

पंजाब में भाजपा की जीरो सीट के लिए सुनील जाखड़ जिम्मेदार : नील गर्ग

खबर खास, चंडीगढ़:

आम आदमी पार्टी (आप) ने पंजाब भाजपा अध्यक्ष सुनील जाखड़ के भ्रामक बयानों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि शायद भाजपा और सुनील जाखड़ ने 4 जून के नतीजों से कुछ नहीं सीखा है। आप प्रवक्ता नील गर्ग, डॉ. सनी आहलूवालिया और बब्बी बादल ने शनिवार को पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने सुनील जाखड़ को घेरा और उन्हें याद दिलाया कि उन्होंने हमेशा पंजाब और यहां के लोगों के वास्तविक मुद्दों पर अपने स्वार्थी एजेंडे को प्राथमिकता दी है।

मीडिया को संबोधित करते हुए आप प्रवक्ता नील गर्ग ने कहा कि भाजपा को भारत के लोगों ने खारिज कर दिया है, विशेष रूप से पंजाब के लोगों ने। उन्हें पंजाब में एक भी सीट नहीं मिली। वे 400 से अधिक सीटों का दावा कर रहे थे, लेकिन केवल 240 ही मिलीं। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे ध्रुवीकरण और नफरत की राजनीति करते हैं। भाजपा कभी भी आम लोगों के मुद्दों महंगाई, रोजगार, भुखमरी आदि के बारे में बात नहीं करती है। गर्ग ने कहा कि सुनील जाखड़ पंजाब में भाजपा के वोट शेयर में वृद्धि के बारे में भ्रमित हैं। उन्होंने कहा कि पहले भाजपा पंजाब में केवल तीन सीटों पर चुनाव लड़ती थी क्योंकि उनका शिरोमणि अकाली दल के साथ गठबंधन था। इस बार वे सभी 13 सीटों पर चुनाव लड़ रहे थे, इसलिए वोट प्रतिशत में मामूली वृद्धि हुई।

आप प्रवक्ता ने कहा कि 2019 में भाजपा ने पंजाब में दो सीटें जीती थीं, इस बार उन्हें एक भी सीट नहीं मिली। इसके लिए स्पष्ट रूप से भाजपा के पंजाब अध्यक्ष के रूप में सुनील जाखड़ जिम्मेदार हैं। उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। गर्ग ने कहा कि सुनील जाखड़ ने हमेशा पंजाब के लोगों से ज्यादा अपने निजी हितों को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कांग्रेस इसलिए छोड़ी क्योंकि वह मुख्यमंत्री की कुर्सी की दौड़ में नहीं थे। यही कारण है कि सुनील जाखड़ को अबोहर के बाद अब पूरे पंजाब के लोगों ने नकार दिया है।

आप नेता ने कहा कि जाखड़ ने कभी पंजाब और यहां के लोगों के लिए आवाज नहीं उठाई। वे कभी किसानों के लिए खड़े नहीं हुए और न ही किसानों पर भाजपा के अत्याचारों के खिलाफ कुछ कहा। गर्ग ने कहा कि जाखड़ के बजाय रवनीत बिट्टू को मंत्री बनाना जाखड़ के लिए एक चेतावनी है कि भाजपा में भी उनके लिए कोई जगह नहीं है।

डॉ. सनी आहलूवालिया ने भी सुनील जाखड़ को घेरा और कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को तीन करोड़ पंजाबियों ने सबसे बड़े और ऐतिहासिक जनादेश के साथ चुना है, लेकिन सुनील जाखड़ को सिलेक्टेड और इलेक्टेड में फर्क नहीं पता। डॉ. आहलूवालिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी काम की राजनीति करती है। हम स्कूल, अस्पताल, रोजगार और विकास की बात करते हैं, जबकि सुनील जाखड़ जैसे नेता सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए काम करते हैं। आप नेता ने कहा कि जाखड़ को भाजपा ने भी नकार दिया है। उन्हें पहले ही अबोहर की जनता ने नकार दिया था और कांग्रेस में भी उन्हें लगातार नजरअंदाज किया जाता रहा। डॉ. आहलूवालिया ने कहा कि इतना कुछ होने के बाद भी सुनील जाखड़ सबक सीखने की बजाय पंजाब की जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

सीएम भगवंत मान द्वारा सीएम आवास छोड़ने की अफवाहों का खंडन करते हुए आप नेता एवं प्रवक्ता बब्बी बादल ने कहा कि यह सुनील जाखड़ जैसे लोगों की सोच का नतीजा है। सीएम भगवंत मान पंजाब और पंजाबियों के हर मुद्दे से वाकिफ हैं और उन्हें कहीं और रहने की जरूरत नहीं है, बल्कि जहां तीन करोड़ पंजाबियों ने उन्हें भेजा है, वहीं रहना है। बब्बी बादल ने कहा कि अगर कुछ खाली हो रहा है तो वह है पंजाब भाजपा कार्यालय क्योंकि पंजाब में भाजपा बुरी तरह से लोकसभा चुनाव हार चुकी है। इसलिए अब निश्चित रूप से भाजपा अपना पंजाब अध्यक्ष भी बदलेगी। बादल ने कहा कि ऐसा लगता है कि सुनील जाखड़ भाजपा की अहंकारी टीम में शामिल हो रहे हैं क्योंकि कुछ दिन पहले आरएसएस ने भी कहा था कि भाजपा नेता इतने अहंकारी हो गए हैं कि वे अब देश के लिए सही नहीं हैं।

The post पंजाब में भाजपा की जीरो सीट के लिए सुनील जाखड़ जिम्मेदार : नील गर्ग first appeared on Khabar Khaas.