Breaking News

कोरोना ने दुनिया भर में खुदकुशी के कारकों को बढ़ाया, 100 में से 1 मौत आत्महत्या के कारण

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोविड महामारी ने दुनिया भर में खुदकुशी के कारकों को बढ़ा दिया है। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि विश्व स्तर पर 100 मौतों में से एक मौत को सीधे आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।

 

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जारी एक बयान में कहा कि 2019 में, 700,000 से अधिक लोगों की मौत आत्महत्या से हुई। इसका मतलब ये है कि 100 मौतों में से एक मौत इसकी वजह से हुई, जो एचआईवी, मलेरिया, युद्ध या हत्या से होनी वाली मौतों से भी ज्यादा थी।

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि वैश्विक महामारी से पहले, अमेरिका के क्षेत्र को छोड़कर, जिसमें 17 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है, उसी वर्ष, वैश्विक आत्महत्या दर हर जगह घट रही थी। 15 से 29 आयु वर्ग के युवाओं में, सड़क पर चोट, तपेदिक और पारस्परिक हिंसा के बाद मौत का चौथा प्रमुख कारण आत्महत्या है।

Loading...

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, महिलाओं की तुलना में दोगुने से अधिक पुरुष आत्महत्या के कारण मरते हैं (12.6 प्रति 100 000 पुरुषों की तुलना में 5.4 प्रति 100 000 महिलाओं की तुलना में)।
पुरुषों में आत्महत्या की दर आमतौर पर उच्च आय वाले देशों (प्रति 100 000 में 16.5) में अधिक होती है। महिलाओं के लिए, उच्चतम आत्महत्या दर निम्न मध्यम आय वाले देशों (7.1 प्रति 100 000) में पाई जाती है।

डब्ल्यूएचओ के सुसाइड आंकड़ो के अनुसार अफ्रीकी (11.2 प्रति 100 000), यूरोपीय (10.5 प्रति 100 000) और दक्षिण पूर्व एशिया (10.2 प्रति 100 000) क्षेत्रों में आत्महत्या की दर 2019 में वैश्विक औसत (9.0 प्रति 100 000) से अधिक थी। सबसे कम आत्महत्या दर पूर्वी भूमध्यसागरीय क्षेत्र (6.4 प्रति 100 000) में है।

डब्ल्यूएचओ ने आत्महत्या की रोकथाम में सुधार के लिए ‘लाइव लाइफ’ नाम से मार्गदर्शन के लिए सीरीज की घोषणा की है।

डब्ल्यूएचओ द्वारा मीडिया की उस भूमिका पर जोर दिया गया है जिसमें बताया गया है कि आत्महत्या की कई रिपोर्टें, खासकर अगर वे मशहूर हस्तियों पर इस्तेमाल या केंद्रित तरीकों का वर्णन करती हैं, वो कथित तौर पर ‘कॉपीकैट आत्महत्या’ के जोखिम को बढ़ा सकती हैं।

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस ने कहा, “हम आत्महत्या को नजरअंदाज नहीं कर सकते और न ही करना चाहिए। ये भी एक त्रासदी की तरह है।”

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/