Breaking News

इतिहास के पन्नो पर इन लोगों की वजह से जाना जाता है 14 मार्च, जानिए आज का इतिहास

अल्बर्ट आइंस्टीनः सापेक्षता का सिद्धांत और द्रव्यमान व उर्जा का संबंध बताने वाले महान सैद्धांतिक भौतिकविद् वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म 14 मार्च 1879 को जर्मनी में हुआ। प्रकाश विद्युत उत्सर्जन की खोज के लिए उन्हें 1921 में नोबल पुरस्कार प्राप्त हुआ। विशेष सापेक्षिकता और सामान्य आपेक्षिकता के सिद्धांत सहित विज्ञान की दुनिया को आइंस्टीन के कई दूसरे अहम योगदान भी हैं। 1999 में टाइम मैगजीन ने उन्हें शताब्दी पुरुष घोषित किया। उन्हें सार्वकालिक महानतम वैज्ञानिक माना गया।
स्टीफन हॉकिंगः महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का 14 मार्च 2018 में निधन। शारीरिक अक्षमताओं से पार जाकर उन्होंने दुनिया के लिए एक मानक स्थापित किया। व्हीलचेयर पर ही स्टीफन हॉकिंग ने क्वांटम ग्रेविटी और ब्रह्माण्ड विज्ञान का अध्ययन किया और अल्बर्ट आइंस्टीन के बाद दुनिया के सबसे महान सैद्धांतिक भौतिकविद् बने। 21 साल की उम्र में उन्हें मोटर न्यूरॉन नामक बीमारी हुई जिसमें मनुष्य का नर्वस सिस्टम धीरे-धीरे खत्म हो जाता है और शरीर के मूवमेंट और कम्युनिकेशन क्षमता समाप्त हो जाती है। डॉक्टरों ने दो वर्ष के भीतर उनके निधन का दावा किया था लेकिन हॉकिंग ने 76 साल की उम्र में आज के दिन ही दुनिया को अलविदा कहा। ब्लैकहोल का सिद्धांत सहित कई अन्य खोज के लिए दुनिया उन्हें याद करती है।
कार्ल मार्क्सः महान अर्थशास्त्री व विचारक कार्ल मार्क्स का निधन 1883 में आज के दिन हुआ। सर्वहारा समाज के हितों के लिए दुनिया को एक नयी दृष्टि देने वाले कार्ल मार्क्स के विचारों ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया।
1905ः फ्रांसीसी समाजशास्त्री व दार्शनिक रेमंड आरों का जन्म।
1931ः पहली बोलती भारतीय फिल्म `आलमआरा’ प्रदर्शित हुई।
1986ः फिल्म अभिनेता आमिर खान का जन्म।
2020ः देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 84 पहुंची।
error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/