Breaking News

पेट्रोल नहीं अब दूध भी बिकेगा 100 रुपए लीटर, किसान आंदोलन के पक्ष में खाप का फरमान

हिसार: कृषि कानूनों के विरोध और तीनों कानून वापस लिए जाने की मांग पर चल रहे किसान आंदोलन ने अब नया रुख अख्तियार कर लिया है. हरियाणा (Haryana) में हिसार की कई खापों ने किसान आंदोलन के समर्थन औऱ पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रही लगातार वृद्धि के चलते एक ऐसा फैसला किया है, जिससे न सिर्फ सरकार दबाव में आ सकती है, बल्कि हिसार और उसके आस-पास के इलाकों में दूध की भी जबर्दस्त किल्लत हो सकती है.

हिसार के नारनौंद में सतरोल की खाप ने एक अहम फैसला लेते हुए घोषणा की है कि 1 मार्च से सरकारी सहकारी समितियों समेत डेरी को 100 रुपए प्रति लीटर की दर से दूध बेचा जाएगा. इस फरमान को नहीं मानने वालों पर 11 हजार रुपए का जुर्माना लगाने की भी घोषणा की गई है. यही नहीं, खाप ने जननायक जनता पार्टी (JJP) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं के गांवों में घुसने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है.

11 हजार रुपए का जुर्माना 

Loading...

यह जानकारी देते हुए सतरोल खाप के प्रधान रामनिवास लोहान व प्रवक्ता फुल कुमार ने बताया कि किसानों के समर्थन में यह फैसला लिया गया है. कृषि कानूनों पर चल रहे किसान आंदोलन को तीन महीने हो गए हैं, लेकिन सरकार टस से मस नहीं हो रही. ऐसे में शनिवार को सतरोल खाप ने यह फैसला लिया है कि डेरी और दूध के केंद्रों को किसान 100 रुपए प्रति किलो दूध देंगे.

वही गरीब आदमी व आपस में दूध देने पर कोई भी पाबंदी नहीं लगाई गई है. इस फरमान को नहीं मानने वालों पर 11 हजार रुपए के जुर्माने का भी प्रावधान रखा गया है. सतरोल खाप एक बड़ी खाप है और किसानों के समर्थन में पहले भी कई फैसले ले चुकी है. अगर खाप का यह फैसला कामयाब होता है, तो आने वाले दिनों में हिसार के शहरी इलाके में दूध की दिक्कत हो सकती है.

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/