Breaking News

इस भारतीय क्रिकेटर ने पलटी हारी हुई बाजी, मात्र 21 गेंद में उड़ा दिए 86 रन, जानिए नाम

दोस्तों आज हम आपकों उस भारतीय क्रिकेटर के बारें में बताने जा रहे है जिसने हारी हुई बाजी को मात्र चंद मिनटों में बदल कर रख दिया. क्रुणाल पंड्या के तूफानी शतक के बूते बड़ौदा (Baroda) ने त्रिपुरा को विजय हजारे ट्रॉफी 2021 में छह विकेट से शिकस्त दी. त्रिपुरा से मिले 303 रन के लक्ष्य को बड़ौदा ने कप्तान पंड्या के नाबाद 127 रनों के बूते 49वें ओवर में हासिल कर लिया.

पांचवें नंबर पर उतरे क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) ने 97 गेंद में 20 चौकों और एक छक्के के बूते यह पारी खेली. यह लिस्ट ए क्रिकेट में क्रुणाल का पहला ही शतक है. विष्णु सोलंकी ने उनका जोरदार साथ दिया. दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 168 रन की साझेदारी की. सोलंकी ने 108 गेंद में 11 चौकों और एक छक्के की मदद से 97 रन बनाए. बड़ौदा की दो मैचों में यह लगातार दूसरी जीत है.

टॉस हारकर पहले खेलते हुए त्रिपुरा के बल्लेबाजों ने तेजी से रन बटोरे. उदियन बोस (56) और बिक्रमकुमार दास (28) ने पहले विकेट के लिए 15 ओवर में 88 रन जोड़े. बोस ने अपनी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाए. लेकिन फिर त्रिपुरा की सलामी जोड़ी 12 रन के अंदर सिमट गई. लेकिन बिशाल घोष (50), कप्तान मणिशंकर मुरासिंह (42) और रजत डे (नाबाद 32) ने मिलकर टीम को 300 के पार पहुंचा दिया. मुरासिंह ने 23 गेंद में चार चौकों और तीन छक्कों के जरिए 42 रन बनाए. बड़ौदा की ओर से निनाद राठवा और कप्तान क्रुणाल पंड्या सबसे कामयाब गेंदबाज रहे. राठवा ने दो और पंड्या ने एक विकेट लिया. दोनों ने कंजूसी से रन खर्चे नहीं तो त्रिपुरा का स्कोर ज्यादा होता.

लगातार दूसरे शतक से चूके सोलंकी

303 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए बड़ौदा की शुरुआत खराब रही. सलामी जोड़ी केदार देवधर (5) और स्मित पटेल (5) 13 रन के कुल स्कोर तक पवेलियन लौट गए. ऐसे समय में विष्णु सोलंकी और अभिमन्युसिंह राजपूत (32) ने पारी को सहारा दिया. दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 53 रन की साझेदारी की. लेकिन 66 के कुल स्कोर पर राजपूत आउट हो गए. अब कप्तान क्रुणाल पंड्या और सोलंकी साथ थे. दोनों ने त्रिपुरा की जीत की उम्मीदों को तोड़ दिया. सोलंकी तीन रन से शतक से चूक गए. वे अभी जबरदस्त फॉर्म में हैं. गोवा के खिलाफ पिछले मुकाबले में उन्होंने शतक लगाया था. साथ ही सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी उनका बल्ला खूब गरजा था.

Loading...

सोलंकी का विकेट 234 रन के स्कोर पर गिरा. उन्हें प्रत्युष सिंह ने बोल्ड किया. उस समय बड़ौदा को जीत के लिए 52 गेंद में 69 रन की जरूरत थी. लेकिन क्रुणाल ने कार्तिक काकाड़े (नाबाद 24) के साथ जरूरी रन बनाए और टीम को जीत की दहलीज के पार पहुंचाया.

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/