Breaking News

फरवरी माह में लगातार पड़ रही धुंध, जनजीवन अस्त-व्यस्त

फरवरी माह के 21 दिन बीत चुके हैं और इन दिनों में लगातार धुंध पड़ रही है, जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है और धुंध के साथ हल्की बारिश की तरह फुव्वारे बन कर ओंस गिर रही है जिससे सुबह तक सडक़े व गलिया पूरी तरह गीली हो जाती है। दृश्य ऐसा लगता है जैसे रात को बारिश हुई हो। तापमान की बात करें तो दिन के समय 18 से 23 और रात के समय 9से 12 डिग्री सैल्सियस तक रहता है। जिस कारण ठंड कम हो गई है। क्योंकि इन दिनों एक-दो दिन को छोड़ कर प्रतिदिन तीखी धूप निकलती है और धूप के साथ दो किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ठंडी हवाएं चलती है, परंतु इन हवाओं का तापमान पर कोई असर नहीं पड़ता है। गत एक सप्ताह से धुंध सायं 7 बजे गिरनी शुरु होती है और आलम यह है कि सुबह 8 बजे तक विजीबिल्टी शून्य हो जाती है और कुछ दिन तो धुंध का असर दिन के समय दोपहर 1 बजे तक भी रहा।

Loading...

इस दौरान वाहन चालक पार्किंग लाईटें, इंडीकेटर व हैड लाइटें जला कर चलते ऐसा लगता है वाहन चालक सडक़ों पर दौड़ते नहीं है बल्कि रेंगते है स्पीड 10 से 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर रखते है ताकि दुर्घटना से बचा जा सके।  कृषि विज्ञान केंद्र के डिप्टी डायरैटर जुगराज सिंह मरोक का कहना है कि ऐसा मौसम इसलिए बना है कि पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार हुई बर्फबारी के चलते और दिन के समय तेज धूप निकलने के कारण धुंध के समीकरण बन रहे है। ऐसा कभी कभार ही होता है। फसलों की बात करें तो धुंध के साथ ओंस गिरने से जमीने पूरी तरह गीली हो जाती है। परंतु जब तेज धूप निकलती है तो वह गेहूं की फसल को तापमान अधिक दे देती है। जिस कारण फिलहाल किसी भी फसल पर धुंध कारण कोई भी नुकसान होने की संभावना नहीं है।

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/