Breaking News

‘किसान संगठनों ने हमारा भरोसा तोड़ा, तय रूट का नहीं किया पालन’, 26 जनवरी हिंसा पर बोले दिल्ली पुलिस कमिश्नर

दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के दौरान जो हिंसा हुई उसपर दिल्ली पुलिस कमिश्नर का बयान आया है. पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि इंटेलिजेंस फेलियर जैसा कुछ हुआ था. उन्हें पहले से ऐसी हिंसा की आशंका थी. उन्होंने यह भी कहा कि किसानों ने उनके भरोसे को तोड़ा.

इंटेलिजेंस फेलियर की संभावना पर दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव से सवाल किया गया तो वह बोले, ‘इसमें इंटेलिजेंस फेलियर जैसी कोई बात नहीं है, हमेशा से ये अंदेशा था, इसलिए ही बैरिकेड लगाए गए थे कि उनको रोका जा सके.’ 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा में 400 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए थे.

किसानों ने हमारा भरोसा तोड़ा – दिल्ली पुलिस

दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने आगे कहा, ‘हमने उनको (किसानों) ट्रैक्टर मार्च निकालने के लिए रूट दिया था, ये घोर विश्वासघात है कि वो उन शर्तों को नहीं माने और हिंसा पर उतर आए.’ श्रीवास्तव ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने अपना काम बखूबी किया.

Loading...

 

पुलिस ने पहले भी बताया था कि हथियार लेकर नहीं चलना, निर्धारित मार्ग का पालन करना और ट्रॉलियों के बिना ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली में प्रवेश करना… वे कुछ शर्तें थीं जिस पर सहमति किसान नेताओं और पुलिस के बीच बनी थी. लेकिन 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड में शामिल कई प्रदर्शनकारियों द्वारा इनका उल्लंघन किया गया था.

26 जनवरी हिंसा में शामिल दंगाइयों की तस्वीर जारी

दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान जो कुछ हुआ, उसके बाद से दिल्ली पुलिस की दंगाईयों के खिलाफ कार्रवाई लगातार जारी है. अब पुलिस ने 26 जनवरी की हिंसा में शामिल दंगाइयों की तस्वीर जारी की है. पुलिस ने जो तस्वीरें जारी की हैं उसमें तीन लड़कियां भी शामिल हैं. दो दिन पहले ही गणतंत्र दिवस पर लाल किला हिंसा (Red Fort Violence) मामले में मोस्ट वांटेड व्यक्ति को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. व्यक्ति की पहचान 30 साल के मनिंदर सिंह (Maninder Singh) उर्फ मोनी के तौर पर हुई, जो की पेशे से कार मैकेनिक है. इससे पहले दीप सिद्धू को भी अरेस्ट किया जा चुका है.

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/