Breaking News

लाल किला हिंसा: सुखदेव सिंह ने पूछताछ में कबूला ये बड़ा सच, किए और भी कई चौंकाने वाले खुलासे

गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किला उपद्रव मामले में दिल्ली पुलिस ने 50 हजार रुपए के इनामी आरोपी सुखदेव सिंह  को बीते रविवार चंडीगढ़ से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पुछताछ में सुखदेव ने कई चौंका देने वाले खुलासे किए हैं। सुखदेव ने बताया कि उसने ही जुगराज को लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने के लिए कहा था। सुखदेव ने कहा कि उसने ही लोगों को धार्मिक नारों से भड़काया।

सुखदेव सिंह ने खोले कई राज
दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने सुखदेव सिंह को सोमवार सुबह कोर्ट के समक्ष पेश कर दो दिन की रिमांड पर लिया। शुरूआती पुछताछ में सुखदेव ने बताया कि ट्रैक्टर परेड में आए कुछ लोग लगातार प्रदर्शनकारियों को उस्ताहित कर रहे थे कि वह लाल किला पर चढ़ाई करें, जबकि उन्हें धार्मिक नारों के जरिए हिंसा के लिए उकसाया गया। जिसके कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे।

 

सुखदेव सिंह के मोबाइल में मिले भड़काऊ वीडियो
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सुखदेव सिंह के पास से एक मोबाइल फोन जब्त किया गया है, जिसमें कई ऐसे वीडियो मिले हैं, जिन्हें देख कार साफ पता चल रहा है कि प्रदर्शनकारियों को सरकार के खिलाफ लगातार भड़काने और सड़क जाम करने की बात कही जा रही है। वीडियो में दिखने वाले उपद्रवियों की पहचान करनी शुरू कर दी गई है। सुखदेव ने बताया  कि वह उनमें से किसी को नहीं जानता। स्पेशल सेल के अलावा अन्य एजेंसियों ने भी सुखदेव सिंह से पूछताछ की।

Loading...

 

उधर, क्राइम ब्राइंच की टीम पीलीभीत और शाहजहांपुर में छापेमारी कर रही हैं। सूत्रों की मानें तो वीडियो फूटेज के आधार पर पुलिस ने पीलीभीत के पूरनपुर के घुंघचाई क्षेत्र के एक ट्रैक्टर को ट्रेस किया है। इस नंबर के ट्रैक्टर का इस्तेमाल दिल्ली में हिंसा के दौरान हुआ था। यह ट्रैक्टर एक ग्रांथी नाम से रजिस्टर्ड है।

 

पुलिस शहबाजपुर गुरुद्वारे में ग्रंथी की गैर मौजूदगी में वहां के एक सेवादार को ग्रंथी के नाम पर नोटिस सौंपा है। पुलिस ने ग्रंथी के जांच में शामिल होने के लिे कहा है। हालांकि पुलिस ने शहजहांपुर में भी तीन जगह घरों पर नोटिस चस्पा किए हैं। ट्रैक्टर पर बैठे हुए नजर आ रहे आधा दर्जन से अधिक अज्ञात लोगों को भी शिनाख्त की जा रही है। चमराबोझी गांव में पुलिस टीम ने अर्शप्रीत सिंह के आवास पर जाकर परिजनों से पूछताछ की। लक्ष्मीपुर में परमजीत सिंग के घर और रामपुरकलां में जसविंदर सिंह के घर में पूछताछ की, जिसके बाद इनके यहां नोटिस चस्पाए गए। इन्हें जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है।

error: Content is protected !!
http://newsindialive.in/ Digital marketting agency/